अल्टीमेट खो खो : गुजरात जायंट्स का विजय रथ रुका, तेलुगु योद्धाज ने राजस्थान वॉरियर्स को हराया

गुजरात जायंट्स ने हारा अपना पहला मैच (Photo: Ultimate Kho Kho)
गुजरात जायंट्स ने हारा अपना पहला मैच (Photo: Ultimate Kho Kho)

महालुंगे स्थित श्री शिव छत्रपति स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में जारी अल्टीमेट खो खो के पहले सीजन में रविवार को जहां ओडिशा जगरनॉट्स ने टेबल टॉपर गुजरात जायंट्स को सीजन की पहली हार को मजबूर किया वहीं तेलुगू योद्धाज ने राजस्थान वॉरियर्स को लगातार चौथी हार झेलने पर विवश कर दिया।

ओडिशा जगरनॉट्स ने गुजरात जायंट्स को 50-47 से हराया जबकि तेलुगु योद्धाज ने राजस्थान को 83-45 के भारी भरकम अंतर से हराया। इस जीत के साथ योद्धाज बेहतर स्कोर डिफरेंस के साथ छह टीमों की अंक तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंच गए हैं। ओडिशा जगरनॉट्स को तीसरे स्थान पर खिसकना पड़ा है।

राजस्थान वॉरियर्स ने तेलुगू योद्धाज के खिलाफ टॉस जीतकर डिफेंड करने का फैसला किया। पावरप्ले में खेल रही योद्धाज ने 5 मिनट 21 सेकेंड में राजस्थान को तीन बैच को आउट कर 25-0 की लीड ले ली। चौथा बैच सिर्फ 45 सेकेंड टिक सका और इस तरह इस टर्न की समाप्ति तक योद्धाज ने 38-0 की बेहतरीन लीड ले ली।

योद्धाज का पहला बैच 2 मिनट 35 सेकेंड मैट पर रहा। अवधूत पाटिल ने अपनी टीम को बोनस भी दिलाया। स्कोर 40-9 था और अब राजस्थान पावरप्ले खेल रहा था और उसने योद्धाज के दूसरे बैच को एक मिनट 6 सेकेंड में चलता कर स्कोर 17-40 कर दिया। तीसरे बैच में शामिल अरुण गुनकी ने अपनी टीम को चार बैच बोनस अंक दिलए। वह 3 मिनट 15 सेकेंड तक मैट पर रहे। पहले हाफ की समाप्ति तक स्कोर 44-24 से योद्धाज के पक्ष में था।

योद्धाज ने दूसरी पारी के तीसरे टर्न में राजस्थान के शुरुआती चार बैच को 64 मिनट 14 सेकेंड में आउट कर अपनी लीड 79-24 कर ली। चौथे बैच में शामिल अक्षय गनपुले 2 मिनट 10 मिनट तक मैट पर रहे। पांचवें बैच से हालांकि उसे अंक नहीं मिले लेकिन वह काफी मजबूत स्थित में था।

जवाब में राजस्थान की टीम तमाम प्रयासों के बाद अंतिम टर्न में 21 अंक ही जोड़ सकी। तीसरे बैच में आए अवधूत ने एक बार फिर टीम के लिए दो बार बोनस हासिल किया। इस तरह वह तथा अरुण गुनकी तेलुगु योद्धाज की जीत के हीरो के रूप में उभरे। अरुण ने बोनस के साथ 11 अंक लिए जबकि पाटिल ने तीन खिलाड़ियों को भी आउट किया। वजीर सचिन भारगो ने भी 11 अंक जुटाए। राजस्थान के लिए कप्तान मजहर जमादार ने एक बार फिर चमकदार खेल दिखाते हुए 13 अंक बनाए लेकिन वह अपनी टीम को हार से नहीं बचा सके।

ओडिशा के लिए सुभाशीष सांत्रा ने चार खिलाड़ियों को आउट करते हुए सबसे अधिक 10 अंक जुटाए जबकि मिलिंद चावरेकर ने सात अंक बनाए। सूरज लांडे ओर गौतम एमके के नाम पांच-पांच अंक रहे। इस मैच में अंतर पैदा करने वाला प्रदर्शन दिलीप और विशाल ने किया।

दिलीप ने मैट पर 3 मिनट 32 सेकेंड और विशाल ने तीन मिनट 2 सेकंड बिताया। इन दोनों ने टीम को कुल पांच बोनस दिलाए। गुजरात के लिए अनिकेत पोटे ने 9, सुयश गरगटे ने 8 और अभिनंदन पाटिल ने 6 अंक जुटाए।

ओडिशा जगरनॉट्स ने टास जीतकर पहले डिफेंस करने का फैसला किया। दूसरे बैच में शामिल रहे विशाल ने हालांकि ओडिशा को चार बहुमूल्य बोनस अंक दिलाए। विशाल 3 मिनट 4 सेकेंड मैट पर रहे। पहले टर्न की समाप्ति तक गुजरात को 22-4 की लीड मिल चुकी थी।

जवाब में ओडिशा ने गुजरात के पहले बैच को 1 मिनट 23 सेकेंड में आउट कर स्कोर 12-22 कर दिया। फिर सुभाशीष सांत्रा ने सागर लंगारे को आउट कर स्कोर 15-22 किया लेकिन सागर पोटदार गुजरात के लिए बोनस लेने में सफल रहे। पहली पारी की समाप्ति तक स्कोर 28-24 से ओडिशा के पक्ष में था।

दूसरी पारी के पहले टर्न में गुजरात ने 2 मिनट 22 सेकेंड में ओडिशा के पहले बैच को आउट कर 32-28 की लीड ले ली। दूसरे बैच में शामिल दिलीप कांधावी ने जोर लगाया और अपनी टीम को इस टर्न का तीसरा और मैच का पांचवां बोनस दिलाया। गुजरात ने हालांकि तीसरे बैच को आउट कर 43-34 की लीड ले ली।

जवाब में गुजरात के पहले बैच ने अंतिम टर्न में दो बार बोनस लेने में सफलता हासिल की। 43-47 के स्कोर के साथ मैच काफी रोमांचक हो चुका था। इसी बीच ओडिशा ने दूसरे बैच को आउट कर 48-47 की लीड ले ली। यह बैच एक मिनट 50 सेकेंड मैट पर रह सका।

अब ओडिशा पावरप्ले में थे। गुजरात के पास बोनस का चांस नहीं था, लिहाजा उसके डिफेंडरों को बचकर रहना था लेकिन निलेश पाटिल को आउट कर ओडिशा ने 50-47 की लीड लेते हुए मैच अपने नाम कर लिया।

सोमवार को कोई मैच नहीं है। मंगलवार को दिन के पहले मुकाबले में तेलुगू योद्धाज का सामना मुंबई खिलाड़ीज से होगा जबकि दूसरे मुकाबले में गुजरात जायंट्स की भिड़ंत चेन्नई क्विक गन्स से होगी।

चेन्नई क्विक गन्स, गुजरात जायंट्स, मुंबई खिलाड़ीज, ओडिशा जगरनॉट्स, राजस्थान वॉरियर्स और तेलुगु योद्धा के रूप में छह फ्रेंचाइजी टीमें अल्टीमेट खो खो में हिस्सा ले रही हैं। भारत की पहली फ्रेंचाइजी-आधारित खो-खो लीग का फाइनल 4 सितंबर को होगा।

Quick Links

Edited by Narender