Create

अल्टीमेट खो खो - गुजरात जायंट्स पर चेन्नई क्विक गन्स की रोमांचक जीत, मुंबई खिलाड़ीज को हराकर टेबल टॉपर बने तेलुगू योद्धाज

Photo - Ultimate Kho Kho Twitter
Photo - Ultimate Kho Kho Twitter

पुणे, 23 अगस्त, 2022: चेन्नई क्विक गन्स ने मंगलवार को महालुंगे स्थित श्री शिव छत्रपति स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में जारी अल्टीमेट खो खो के पहले सीजन के अपने पांचवें मुकाबले में गुजरात जायंट्स को 2 अंक के अंतर से हरा दिया। यह चेन्नई क्विक गन्स की पांच मैचों में तीसरी जीत है जबकि गुजरात को पांच मैचों में दूसरी हार मिली है। दिन के पहले मैच में तेलुगू योद्धाज ने मुंबई खिलाड़ीज को 12 अंक से हराकर अंक तालिका में शीर्ष स्थान हासिल कर लिया।

रोमांच से भरपूर मुकाबले में हार औऱ जीत का फैसला अंतिम सेकेंड में हुआ। चेन्नई की जीत के हीरो रामजी कश्यप रहे, जिन्होंने सात खिलाड़ियों को आउट करते हुए 20 अंक अपने नाम किए। उनके अलावा वजीर मदन ने 11 अंक अपने नाम किए। इस टीम की जीत में अमिल पाटिल, विजयभाई बेगाड़ और बुचानेगाई राजू का खास योगदान रहा क्योंकि इन तीनों ने अहम मुकाम पर टीम को बहुमूल्य बोनस अंक दिलाए। राजू तीन मिनट 56 सेकेंड मैट पर रहे। गुजरात की ओर से अनिकेत पोटे ने सबसे अधिक 10 अंक बनाए।

गुजरात ने चेन्नई के खिलाफ टॉस जीतकर डिफेंड करते हुए बेहतरीन शुरुआत की। डिफेंडरों ने न सिर्फ चेन्नई को पहले टर्न में 21 अंक लेने दिया बल्कि बैच बोनस भी लिया। पहले बैच में शामिल सागर पोटदार एक सेकेंड से बोनस से चूके लेकिन पावरप्ले के बावजूद दूसरे बैच में शामिल सुयष गरगाटे 2 मिनट 40 सेकेंड मैट पर रहते हुए बोनस लेने में सफल रहे।

जवाब में गुजरात ने दूसरे टर्न में चेन्नई क्विक गन्स के शुरुआती दो बैच को 3 मिनट 42 सेकेंड में आउट कर स्कोर 17-21 कर लिया। पावरप्ले के दौरान गुजरात ने 22-21 की लीड ले ली लेकिन चेन्नई के तीसरे बैच में शामिल अमित पाटिल ने चार बैच बोनस ले लिए। अमित तीन मिनट पांच सेकेंड मैट पर रहे। पहले हाफ तक गुजरात 27-25 से आगे था।

इस बढ़त को बनाए रखने के लिए गुजरात के डिफेंडरों को अधिक से अधिक समय मैट पर बिताना था। यही करते हुए सागर, शिवा रेड्डी और मारेप्पा की तिकड़ी ने मैट पर भरपूर समय बिताया। मारेप्पा ने दो टीम को चार बहुमूल्य बोनस अंक दिलाए। वह तीन मिनट 3 सेकेंड मैट पर रहे। गुजरात का दूसरा बैच एक मिनट 51 सेकेंड मैट पर रहा। इस टर्न के समाप्त होने में अभी दो मिनट 6 सकेंड बचे थे और चेन्नई को 42-31 की लीड मिली हुई थी।

तीसरे बैच के दौरान चेन्नई ने लगातार कई फाउल किए औऱ इसी का फायदा उठाकर गुजरात का तीसरा बैच 2 मिनट 6 सेकंड मैट पर बिताने में सफल रहा। तीसरे टर्न की समाप्ति तक चेन्नई को 47-31 की लीड मिली हुई थी।

अंतिम टर्न में चेन्नई के पहले बैच ने बेहतरीन डिफेंस का परिचय देते हुए बैच बोनस लिया। विजयभाई बेगाड़ और बुचानेगाई राजू यही नहीं रुके और दूसरा बोनस भी ले लिया। विजयभाई तो आउट हो गए लेकिन राजू ने तीसरे बैच बोनस के साथ टीम को 53-36 से आगे कर दिया। राजू तीन मिनट 56 सेकेंड मैट पर रहे।

दूसरे बैच को 1 मिनट 06 सेकेंड में आउट कर गुजरात ने स्कोर 46-53 कर दिया। उसकी जीत और हार के बीच 1 मिनट 44 सेकेंड थे। सुय़ष गरगाटे ने रोम मोहन को आउट कर स्कोर 48-53 किया। अनिकेत पोटे ने अंतिम सेकेंड में वी. काबिलान को आउट किया लेकिन प्रीतम चोलुंगे नाबाद रहे औऱ यही गुजरात की हार का कारण बना। और इस तरह चेन्नई ने यह मैच 2 अंक के अंतर से जीत लिया।

इससे पहले, तेलुगू योद्धाज ने अपने पांचवें मैच में वजीर सचिन भारगो औऱ प्राज्वल केएच के बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर मुंबई खिलाड़ीज को 55-43 से हरा दिया।नसचिन ने इस मैच में न सिर्फ चार खिलाड़ियों को आउट करते हुए 10 अंक बटोरे बल्कि अपनी टीम की पांचवीं जीत में योगदान देने के लिए बोनस के तौर पर भी अंक बटोरे। सचिन के अलावा रोहन सिंघाड़े ने 11, आदर्श मोहित ने 8 और अवधूत पाटिल ने बोनस के अलावा 6 अंक अपने नाम किए। मुंबई की ओर से अवीक सिंघा ने सबसे अधिक 8 अंक बनाए।

मुंबई ने टॉस जीतकर डिफेंड करने क फैसला किया और वह पहले टर्न में अच्छा खेली। मुंबई की टीम ने दूसरे टर्न में भी अच्छा डिफेंस किया लेकिन अटैक की सुस्ती उसे भारी पड़ी। डिफेंस के दौरान उसके चार बैचों ने योद्धाज को पहले टर्न में 26 अंक ही लेने दिया।

अटैक में हालांकि यह टीम सिर्फ 20 अंक ही हासिल कर सकी। उसने अटैक के दौरान बोनस भी दिए और इस तरह पहली पारी की समाप्ति तक मुंबई की टीम 20-28 से पीछे थी।

अपनी बढ़त को मजबूत करने के इरादे से योद्धाज ने तीसरे टर्न की शुरुआत पावरप्ले से की और मुंबई के पहले बैच को 2 मिनट 23 सेकेंड में आउट कर 37-20 की लीड ले ली। डिफेंस के दौरान दुर्वेश सालुंके ने मुंबई को चार बोनस अंक दिलाए। बावजूद इसके इस टर्न की समाप्ति तक योद्धाज को 51-24 की लीड मिल चुकी थी।

मुंबई को अब अटैक में बेहतर करने की जरूरत थी। कप्तान हजारे ने धनुष केसी को पोल डाइव पर आउट कर इसकी शुरुआत की लेकिन बावजूद इसके प्राज्वल योद्धाज के लिए बैच बोनस लेने में सफल रहे। योद्धाज का पहला बैच तीन मिनट 01 सेकेंड मैट पर रहा। स्कोर 32-53 से योद्धाज के पक्ष में था।

योद्धाज के दूसरे बैच ने मुंबई को निराश किया और एक बार फिर बोनस हासिल किया। तीसरा बैच दो मिनट 52 सेकेंड में आउट हुआ और अब स्कोर 55-40 था। मैच मुंबई के हाथ से फिसल चुका था क्योंकि उसके पास सिर्फ एक मिनट 7 सेकेंड का वक्त बचा था। उसने पावरप्ले लिया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ और इस तरह मुंबई को सीजन की चौथी हार झेलनी पड़ी।

बुधवार को पहले और दूसरे मैच में ओडिशा जगरनॉट्स और मुंबई खिलाड़ीज क्रमश: चेन्नई क्विक गन्स और राजस्थान वॉरियर्स से भिड़ेंगे।

छह फ्रेंचाइजी टीमें -चेन्नई क्विक गन्स, गुजरात जायंट्स, मुंबई खिलाड़ीज, ओडिशा जगरनॉट्स, राजस्थान वॉरियर्स और तेलुगु योद्धाज सीजन 1 में प्रतिस्पर्धा कर रही हैं। अल्टीमेट खो खो को अमित बर्मन ने खो खो फेडरेशन ऑफ इंडिया के सहयोग से प्रमोट किया है।

भारत की पहली फ्रेंचाइजी-आधारित खो-खो लीग का फाइनल 4 सितंबर को होगा।

Press Release

Quick Links

Edited by Prashant
Be the first one to comment