Create

असम पुलिस में डीएसपी बनीं टोक्यो ओलंपिक मेडलिस्ट लोवोलीना बोर्गोहिन

टोक्यो ओलंपिक में मुक्केबाजी का कांस्य जीतने वाली लोवोलीना अब असम पुलिस में डीएसपी हैं।
टोक्यो ओलंपिक में मुक्केबाजी का कांस्य जीतने वाली लोवोलीना अब असम पुलिस में डीएसपी हैं।

टोक्यो ओलंपिक खेलों में मुक्केबाजी का कांस्य पदक जीतने वाली बॉक्सर लोवोलीना बोर्गोहिन को असम सरकार ने डीएसपी यानि पुलिस उपाधीक्षक पद पर तैनात किया है। लोवोलीना ने खुद ट्वीटर पर अपनी खुशी जाहिर की और खाकी वर्दी में अपनी तस्वीरें भी शेयर कीं। 24 साल की लोवोलीना वेल्टरवेट कैटेगरी में कांस्य पदक जीतकर देश के लिए ओलंपिक मेडल लाने वाली तीसरी मुक्केबाज बनीं थीं।

I am elated at being given this opportunity to serve my people in the role of Deputy Superintendent of Police. I am thankful to Hon'ble CM @himantabiswa sir.But my main focus will be to work hard in sports and bring gold medal for our country in the Paris Olympics 2024. https://t.co/inh9cbG4V3

खुद असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने एक विशेष समारोह में लोवोलीना को नियुक्ति संबंधी पत्र दिया। लोवोलीना को सामान्य रूप से डीएसपी के रूप में मिलने वाली सरकारी तन्ख्वाह के अलावा हर महीने 1 लाख रुपए उनकी बॉक्सिंग प्रैक्टिस के लिए भी दिए जाएंगे। फिलहाल लोवोलीना पंजाब के पटियाला में अपनी मुक्केबाजी की कोचिंग करती हैं। ऐसे में सीएम ने ये ऐलान भी किया कि अगर लोवोलीना को किसी तरह की दिक्कत आती है तो असम की सरकार उनके लिए एक अंतर्राष्ट्रीय कोच का भी प्रबंध करेगी। इतना ही नहीं सरकार जल्द ही असम राज्य में एक सड़क का नाम भी लोवोलीना के नाम पर रखेगी। लोवोलीना के नाम पर पहले ही राज्य में एक स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स बनाया जा रहा है।

भावुक हुई लोवोलीना

असम सरकार की ओर से दी गई सुविधा और सम्मान ने लोवोलीना को भावुक कर दिया। अपने परिवार के साथ कार्यक्रम में आईं लोवोलीना ने कहा कि अब वो पेरिस ओलंपिक में गोल्ड लाने की कोशिश करेंगी। लोवोलीना फिलहाल प्रशिक्षु यानि ट्रेनी डीएसपी के रूप में ट्रेनिंग प्राप्त करेंगी।

विजेंद्र सिंह और मेरीकॉम के बाद लोवोलीना ने मुक्केबाजी में देश को तीसरा ओलंपिक मेडल दिलाया है।
विजेंद्र सिंह और मेरीकॉम के बाद लोवोलीना ने मुक्केबाजी में देश को तीसरा ओलंपिक मेडल दिलाया है।

खेलों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी दिए जाने का चलन काफी पुराना है। टोक्यो ओलंपिक में ही देश को वेटलिफ्टिंग का सिल्वर दिलाने वाली मीराबाई चानू को मणिपुर सरकार ने एडिशनल एसपी बनाने का ऐलान किया। यही नहीं, असम सरकार इससे पहले धींग एक्सप्रेस के नाम से मशहूर धाविका हिमा दास को भी डीएसपी के रूप में तैनात कर चुकी है।

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment