Create

लॉकडाउन ने बढ़ाई शतरंज की लोकप्रियता: विश्‍वनाथन आनंद

विश्‍वनाथन आनंद
विश्‍वनाथन आनंद
Vivek Goel

कोरोना वायरस महामारी के कारण बड़ी संख्या में लोगों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा, लेकिन पांच बार के विश्व चैंपियन विश्वनाथ आनंद ने कहा कि चेस पर इसका सकारात्मक असर पड़ा क्योंकि इससे खेल को ऑनलाइन तरीके से विस्तार करने का मौका मिला। विश्‍वनाथन आनंद ने उम्मीद जताई की इससे पारंपरिक तरीके से इसके खेले जाने पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। विश्‍वनाथन आनंद ने पीटीआई-भाषा को दिए इंटरव्‍यु में अपने जीवन पर बन रही फिल्म (बायोपिक) और शतरंज पर आधारित 'नेटफ्लिक्स' की सीरीज 'द क्वीन्स गैंबिट' के बारे में बातचीत की।

51 साल के ग्रैंडमास्टर विश्‍वनाथन आनंद ने कहा, 'यह सही है कि लॉकडाउन के कारण शतरंज को फायदा हुआ। यह सुनने में थोड़ा अजीब लग सकता है। हम इसे जारी रखकर खेल को और बड़ा बनाने में मदद कर सकते है।'

जब कोरोना वायरस महामारी के कारण ज्‍यादातर खेल गतिविधियां ठप्‍प पड़ी थीं, तब शतरंज के कई टूर्नामेंटों के ऑनलाइन आयोजन से उसे नई पहचान मिली। आनंद से पूछा गया कि क्या ऐसी संभावना है कि खेल पूरी तरह से ऑनलाइन हो जाएगा तो उन्होंने कहा, 'मैं उम्मीद करुंगा कि ऐसा नहीं हो, लेकिन मुझे कुछ नहीं पता। हम देखेंगे क्या हो सकता है। शतरंज का ऑनलाइन तरीके से बढ़ना अच्छा है, लेकिन दूसरे तरीके को खत्म करना अच्छा नहीं होगा।'

शतरंज के विस्‍तार के कई तरीके: विश्‍वनाथन आनंद

इस दौरान नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई वेब सीरीज 'द क्वीन्स गैंबिट' ने भी इस खेल को बढ़ने में मदद की। शतरंज की जानी माने वेबसाइट 'चेस डॉट कॉम' ने भी बताया कि इस सीरीज के रिलीज होने के बाद उनके ग्राहकों की संख्या बढ़ी है। उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि यह बहुत अच्छा है। यह शतरंज के खिलाड़ी का एक अनुभव है। मुझे लगता है कि इसमें खेल के बहुत से दृश्य सटीक हैं। टूर्नामेंट हॉल और खिलाड़ियों का चित्रण बहुत कुछ अच्छे से किया गया है।'

विश्‍वनाथन आनंद ने आगे कहा, 'शतरंज की लोकप्रियता पहले से बढ़ने लगी थी, लेकिन इससे चीजें और बड़ी होगी।' विश्‍वनाथन आनंद ने कहा कि वह सामान्य तरीके से शतरंज खेलने की कमी को महसूस कर रहे है। उन्होंने कहा, 'मैं निश्चित तौर पर उसकी कमी को महसूस कर रहा हूं। सामान्य तौर पर टूर्नामेंट से पहले की चीजों आपको गंभीर बनाती है, आपका ध्यान उस पर होता है। आप हॉल में दूसरे खिलाड़ियों को देखते है, होटल में उनसे मिलते हैं।'

जाने माने फिल्मकार आनंद एल राय द्वारा उनकी जिंदगी और खेल पर बन रही बायोपिक के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इससे लोगों को उनकी जिंदगी के अनछुए पहलुओं को जानने में मदद मिलेगी।

विश्‍वनाथन आनंद ने कहा, 'वे अब भी इस पर काम कर रहे है। मैं इस बारे में ज्यादा बात नहीं कर सकता हू। कुछ ऐसा होगा तो हम इसकी घोषणा करेंगे। जब फिल्म तैयार होगी तो मैं उसे देखने जाउंगा। उम्मीद है कि यह रोमांचक रहेगा। मेरे जीवन में कुछ ऐसा है जिसके बारे में सब को पता है लेकिन ऐसा भी है जिसके बारे में सब को पता नहीं है।'


Edited by Vivek Goel

Comments

Fetching more content...