Create
Notifications

2 भारतीय बल्लेबाज जिन्होंने टेस्ट मैचों में टीम की हार में सबसे ज्यादा शतक लगाए

विराट कोहली
विराट कोहली
सावन गुप्ता

टेस्ट क्रिकेट को असली क्रिकेट कहा जाता है। इसमें बल्लेबाजों के धैर्य की असली परीक्षा होती है। टेस्ट क्रिकेट में वही बल्लेबाज सफल होता है जो धैर्य रखता है। अभी तक के टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में कई दिग्गज बल्लेबाज हुए हैं और इन बल्लेबाजों ने शतक भी खूब लगाए हैं।

टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड पूर्व भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के नाम है। हर बल्लेबाज टेस्ट क्रिकेट में शतक लगाना चाहता है और अपनी टीम को मैच जिताना चाहता है। हालांकि उस बल्लेबाज को दुख तब होता है जब उसके शतक के बावजूद टीम को हार का सामना करना पड़ता है।

अभी तक के टेस्ट क्रिकेट इतिहास में कई ऐसे मौके आए हैं जब एक बल्लेबाज ने जबरदस्त पारी खेली हो लेकिन उसके बावजूद उसकी टीम को हार का सामना करना पड़ा है। हम आपको इस आर्टिकल में उन 2 भारतीय बल्लेबाजों के बारे में बताएंगे जिन्होंने टीम की हार में सबसे ज्यादा टेस्ट शतक लगाए। ये दोनों ही खिलाड़ी दुनिया के नंबर एक बल्लेबाज हैं और क्रिकेट के कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। तो आइए जानते हैं कि वो 2 भारतीय बल्लेबाज कौन-कौन से हैं।

टीम की हार में सबसे ज्यादा टेस्ट शतक बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज

2. विराट कोहली (7 शतक)

सचिन तेंदुलकर
सचिन तेंदुलकर

विराट कोहली को इस सूची में देख कर भले ही आप हैरत में पड़ गए होंगे, लेकिन यह विदेशी दौरों पर टीम इंडिया के बाकी बल्लेबाज़ों के लचर प्रदर्शन को बयां करता है। कोहली को बाकी बल्लेबाजों से अच्छा साथ नहीं मिला है और इसकी वजह से उनके अच्छे से अच्छे शतक बेकार गए हैं। विराट कोहली ने भारत की हार में कुल 7 टेस्ट शतक लगाए हैं। विराट कोहली के ये सातों शतक विदेशी मैदानों पर आए हैं इससे पता चलता है कि उन मैचों में कोहली ने अकेले संघर्ष किया।

2014 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर एडिलेड टेस्ट में विराट कोहली ने दोनों पारियों में शानदार शतक लगाया था लेकिन उनके दोनों शतक टीम को हार से नहीं बचा सके थे। ओवरऑल विराट कोहली अभी तक कुल 27 टेस्ट शतक लगा चुके हैं और इनमें से कई मैचों में भारतीय टीम को जीत दिलाई है।

1. सचिन तेंदुलकर (11 शतक)

सचिन तेंदुलकर ने कई शतक अपने करियर में लगाए
सचिन तेंदुलकर ने कई शतक अपने करियर में लगाए

सचिन तेंदुलकर एक समय अकेले भारतीय बल्लेबाजी की धुरी हुआ करते थे और उन्हीं के दम पर टीम ज्यादातर मैच जीतती थी। बैटिंग में एकमात्र उम्मीद वही हुआ करते थे लेकिन कई ऐसे मुकाबले थे जब उनकी बेहतरीन बैटिंग के बावजूद टीम को हार का सामना करना पड़ा। राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण के आने से पहले वो भारत के विदेशी दौरों पर एकमात्र भरोसेमंद बल्लेबाज हुआ करते थे।

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने भारत की तरफ से 200 टेस्ट मैचों में 51 शतक लगाए हैं। उनके टेस्ट करियर में भारत को टेस्ट मैचों में 56 बार हार का सामना करना पड़ा। इन मैचों में सचिन ने 11 शतक लगाए।

Edited by सावन गुप्ता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...