वनडे और टी20 के 2 दिग्गज भारतीय क्रिकेटर जो टेस्ट क्रिकेट में सफल नहीं हो पाए

England v India - 2nd Vitality International T20
England v India - 2nd Vitality International T20

क्रिकेट के तीनों ही फॉर्मेट में लगातार रन बनाना किसी भी क्रिकेटर के लिए आसान नहीं होता है। अक्सर देखा गया है कि जो बल्लेबाज टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा रन बनाता है वो वनडे में उतना सफल नहीं हो पाता और जो बल्लेबाज टी20 और वनडे में बढ़िया खेलता है उससे टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा रन नहीं बनते हैं।

क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट के मुताबिक खुद को ढालना और उसमें रन बनाना एक बहुत बड़ा आर्ट होता है। वीरेंदर सहवाग, सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ जैसे क्रिकेटरों ने वनडे और टेस्ट दोनों ही प्रारूपों में काफी रन बनाए लेकिन कुछ भारतीय क्रिकेटर ऐसे भी रहे जो केवल सीमित ओवरों की क्रिकेट में ही रन बना पाए और टेस्ट क्रिकेट में असफल रहे।

इन क्रिकेटरों के नाम वनडे और टी20 के कई बड़े रिकॉर्ड दर्ज हैं और इन्होंने कई मैच अपने दम पर भारतीय टीम को जिताए हैं। हालांकि बात जब टेस्ट क्रिकेट की आती है तो इनका रिकॉर्ड इस प्रारूप में कुछ खास नहीं है।

आइए जानते हैं कि वो वनडे और टी20 में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले 2 दिग्गज भारतीय क्रिकेटर कौन-कौन से हैं जो टेस्ट क्रिकेट में सफल नहीं हो पाए।

2 दिग्गज भारतीय क्रिकेटर जो टेस्ट क्रिकेट में असफल रहे

2.सुरेश रैना

सुरेश रैना
सुरेश रैना

इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर बाएं हाथ के जबरदस्त बल्लेबाज सुरेश रैना हैं। सुरेश रैना ने भारत के लिए वनडे और टी20 में जबरदस्त प्रदर्शन किया है। वो 2007 और 2011 में वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे।

सुरेश रैना ने वनडे में 226 मुकाबले खेले और 35.31 की शानदार औसत से 5615 रन बनाए। सुरेश रैना ने वनडे में 5 शतक लगाए। मिडिल ऑर्डर में खेलते हुए उन्होंने कई बार अहम मौकों पर अपनी पारियों से टीम को जीत दिलाई है।

वहीं उनके टी20 इंटरनेशनल करियर की अगर बात करें तो 78 मैचों में उन्होंने 1604 रन बनाए। उनके नाम एक टी20 शतक भी है। लेकिन जब बात टेस्ट क्रिकेट की आती है तो यहां पर सुरेश रैना का प्रदर्शन कुछ खास नहीं है। रैना ने 18 टेस्ट मुकाबले ही भारत के लिए खेले जिसमें 26.48 की साधारण औसत से सिर्फ 768 रन बनाए। मात्र 1 शतक उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में लगाया।

1. युवराज सिंह

युवराज सिंह
युवराज सिंह

भारत की दो विश्व कप विजेता टीम में शामिल युवराज सिंह को अपने समय के सबसे बेहतरीन हिटर में से एक माना जाता था। गेंद को अगर बेहतरीन तरीके से टाइम करने की बात आये तो युवराज का नाम निश्चित तौर पर काफी ऊपर आएगा। 2007 वर्ल्ड टी20 और 2011 के वनडे विश्व कप जीत में युवराज का योगदान काफी अहम था।

2000 में भारत के लिए डेब्यू करने वाले युवराज ने अपने करियर में 304 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और 58 टी20 अंतरराष्ट्रीय खेले। एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय में उनके नाम 36.55 की औसत से 8701 रन हैं और उन्होंने 111 विकेट भी लिए। टी20 अंतर्राष्ट्रीय में उन्होंने 1177 रन बनाने के अलावा 28 विकेट भी लिए हैं। टी20 अंतरराष्ट्रीय में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 6 गेंदों में 6 छक्के लगाने का रिकॉर्ड भी बनाया था।

लेकिन अगर बात टेस्ट क्रिकेट की हो तो यहां युवराज कोई खास प्रदर्शन नहीं कर सके। हालांकि भारत के लिए उन्होंने 40 टेस्ट खेले हैं लेकिन उनका रिकॉर्ड इसमें अच्छा नहीं रहा। लगभग 34 की औसत और 3 शतक की मदद से उन्होंने सिर्फ 1900 रन बनाये और गेंदबाजी में 9 विकेट हासिल किये।

Quick Links

App download animated image Get the free App now