3 बड़ी गलतियां जो सिडनी टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने बैटिंग के दौरान की

अश्विन रन आउट का शिकार होते हुए
अश्विन रन आउट का शिकार होते हुए

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी टेस्ट मैच की पहली पारी में 244 रन ही बना पाई। ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी में 338 रन बनाए थे लेकिन जवाब में भारत सिर्फ 244 रन पर ही सिमट गया। इस तरह से मेजबान टीम ने 94 रनों की एक बड़ी बढ़त हासिल कर ली जो इस मैच के लिहाज से काफी बड़ी लीड है।

भारतीय पारी की शुरुआत तो काफी अच्छी तरह से हुई थी लेकिन 200 रन पहुंचते-पहुंचते अचानक पूरी तरह से पारी लड़खड़ा गई। पहले विकेट के लिए रोहित शर्मा और शुभमन गिल की जोड़ी ने 70 रन जोड़े थे लेकिन 195 रन तक 6 विकेट गिर गए और आखिरी 4 विकेट भी ज्यादा कुछ नहीं कर सके। रविंद्र जडेजा ने जरुर नाबाद 28 रन बनाए।

ये भी पढ़ें: मैंने तेज गेंदबाजों से वीरेंदर सहवाग को डराने की कोशिश की थी लेकिन उन्होंने जबरदस्त जवाब दिया

भारतीय बल्लेबाजों ने पहली पारी के दौरान काफी गलतियां कीं, जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा। सबसे बड़ी बात तो ये कि भारत के तीन खिलाड़ी सिर्फ रन आउट हो गए। टेस्ट मैच में इस तरह के रन आउट नहीं होने चाहिए। हम आपको बताते हैं कि वो कौन-कौन सी 3 गलतियां हैं जो बैटिंग की दौरान भारतीय टीम ने की।

3 बड़ी गलतियां जो सिडनी टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने बैटिंग के दौरान की

1.रोहित शर्मा और शुभमन गिल अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा पाए

जोश हेजलवुड रोहित शर्मा का कैच लेने के बाद
जोश हेजलवुड रोहित शर्मा का कैच लेने के बाद

भारतीय टीम जब बैटिंग करने उतरी तो रोहित शर्मा और शुभमन गिल की जोड़ी ने 70 रनों की साझेदारी कर जबरदस्त शुरुआत दी। इस सीरीज में पहली बार भारतीय सलामी बल्लेबाजों ने 50 से ज्यादा रनों की साझेदारी की थी। इसके बाद दोनों ही बल्लेबाज सिर्फ 15 रन के अंतराल में आउट हो गए।

रोहित शर्मा 26 रन बनाकर 70 के स्कोर पर आउट हुए और शुभमन गिल 50 रन बनाकर 85 के स्कोर पर पवेलियन लौट गए। अगर इन दोनों में से कोई एक भी प्लेयर बड़ी पारी खेलता तो भारतीय टीम की स्थिति कुछ और हो सकती थी। रोहित शर्मा और शुभमन गिल दोनों को ही एक बेहतरीन शुरुआत मिल चुकी थी लेकिन कोई भी इसका फायदा नहीं उठा पाया।

2.मिडिल ऑर्डर में कप्तान अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा की धीमी बल्लेबाजी

चेतेश्वर पुजारा
चेतेश्वर पुजारा

रोहित शर्मा और शुभमन गिल का विकेट गंवाने के बाद भारतीय बल्लेबाज काफी दबाव में आ गए और मिडिल ऑर्डर में उन्होंने बेहद धीमी बैटिंग की। चेतेश्वर पुजारा और कप्तान अजिंक्य रहाणे ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों पर अटैक करके दबाव नहीं बनाया और इसकी वजह से भारतीय टीम उस गति से रन नहीं बना पाई।

अजिंक्य रहाणे ने 70 गेंद पर 22 रन बनाए और चेतेश्वर पुजारा ने 176 गेंद पर 50 रनों की पारी खेली। कह सकते हैं कि अगर ये दोनों बल्लेबाज आक्रामक रुख अपनाते तो ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज भी दबाव में आकर गलती कर देते।

3.तीन खिलाड़ियों का रन आउट होना

रविचंद्रन अश्विन रन आउट होते हुए
रविचंद्रन अश्विन रन आउट होते हुए

आमतौर पर टेस्ट क्रिकेट में ऐसा काफी कम ही देखने को मिलता है लेकिन भारत के 3 बल्लेबाज रन आउट होकर पवेलियन लौट गए। सबसे पहले अजिंक्य रहाणे खुद ही कॉल करके क्रीज में नहीं पहुंच पाए। उसके बाद रविचंद्रन अश्विन भी विकेटों के बीच अपनी धीमे दौड़ने की वजह से रन आउट हो गए और आखिर में जसप्रीत बुमराह रन चुराने के चक्कर में रन आउट हो गए। भारत को ये तीन रन आउट भी काफी महंगे पड़े।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता