3 बड़े कारण जिनके आधार पर शुभमन गिल की जगह संजू सैमसन को जिम्बाब्वे दौरे के लिए टीम इंडिया का कप्तान बनाया जाना चाहिए था

शुभमन गिल और संजू सैमसन (Photo Credit: Getty Images)
शुभमन गिल और संजू सैमसन (Photo Credit: Getty Images)

India tour of Zimbabwe: भारतीय क्रिकेट टीम अगले महीने जिम्बाब्वे के दौरे पर जा रही है। 6 जुलाई से खेली जाने वाली 5 मैच की टी20 इंटरनेशनल सीरीज के लिए सोमवार को टीम इंडिया का चयन किया गया। जिम्बाब्वे के खिलाफ होने वाली इस सीरीज के लिए टीम इंडिया की कप्तानी शुभमन गिल को सौंपी गई है, वहीं कई सीनियर खिलाड़ियों को आराम भी दिया गया है।

टीम इंडिया के 15 सदस्यीय स्क्वाड में शुभमन गिल के साथ ही संजू सैमसन को भी चुना गया है। ऐसे में गिल से पहले सैमसन को कप्तानी देने के बारे में विचार किया जा सकता था, क्योंकि संजू की दावेदारी ज्यादा मजबूत थी। इस आर्टिकल में हम ऐसे ही 3 कारण आपको बताने जा रहे हैं, जो यह साबित करने के लिए काफी हैं कि शुभमन गिल की तुलना में संजू सैमसन को कप्तान नियुक्त करना बेहतर फैसला होता।

3. शुभमन गिल को कप्तानी देने में कर दी जल्दबाजी

IPL 2023: Qualifier 2 - Gujarat Titans v Mumbai Indians
IPL 2023: Qualifier 2 - Gujarat Titans v Mumbai Indians

भारतीय क्रिकेट टीम में शुभमन गिल को भविष्य का सितारा माना जाता है। उन्होंने अपनी काबिलियत से टीम इंडिया में बहुत ही खास जगह बना ली है। लेकिन कप्तानी के मामले में वो पूरी तरह से नए हैं। अगर आईपीएल में कप्तानी की बात करें तो उन्होंने आईपीएल 2024 से पहले ऐसा नहीं किया था।

आईपीएल के 17वें सीजन में गुजरात टाइटंस की कप्तानी करते हुए शुभमन गिल में साफ देखा गया कि वो परिस्थिति को देखकर फंस जाते हैं और सही फैसला नहीं ले पाते हैं। इसके पीछे अहम वजह अनुभव की कमी है। अब एक आईपीएल सीजन की कप्तानी के आधार पर उन्हें नेशनल टीम की जिम्मेदारी सौंप दी गई। ऐसे में कहीं ना कहीं उन्हें टीम का नेतृत्व देने में बीसीसीआई ने जल्दबाजी कर दी।

2. टी20 इंटरनेशनल में शुभमन गिल का स्थान पक्का नहीं है

शुभमन गिल पिछले कुछ समय में टीम इंडिया के नियमित खिलाड़ी बन चुके हैं लेकिन सबसे छोटे फॉर्मेट में अभी भी उनकी जगह पक्की नहीं है।। शुभमन गिल ने अपना पहला टी20 इंटरनेशनल मैच जनवरी 2023 में खेला, लेकिन इसके बाद से वो अब तक सिर्फ 14 मैच ही खेल पाए हैं। वहीं, उन्हें युवा खिलाड़ी ऋतुराज गायकवड़, यशस्वी जायसवाल और अभिषेक शर्मा से कड़ी चुनौती मिल रही है। ऐसे में जब उनकी टी20 इंटरनेशनल फॉर्मेट में जगह ही नहीं फिक्स नहीं हो पा रही है तो उन्हें कप्तान नियुक्त करना थोड़ा हैरानी भरा फैसला है।

1. कप्तान के तौर पर संजू सैमसन ने किया है साबित

संजू सैमसन ने अपने आपको बतौर कप्तान साबित किया है। सैमसन की बात करें तो वो पिछले कुछ सीजन से आईपीएल में लगातार राजस्थान रॉयल्स की कप्तानी कर रहे हैं और इस दौरान कई बार अपनी टीम को प्लेऑफ में भी पहुंचाया है। इसके अलावा उन्हें घरेलू क्रिकेट में भी कप्तानी का अनुभव है। संजू ने बतौर लीडर दिखाया है कि वो स्मार्ट तरीके से टीम के लिए सटीक फैसले ले सकते हैं और दबाव में जल्दी हार नहीं मानते। ऐसे में सैमसन के मौजूद रहते किसी अन्य युवा खिलाड़ी को कप्तान बनानाा सही फैसला नहीं कहा जा सकता।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now