Create

आईपीएल 2019: भारत के 3 दिग्गज आईपीएल खिलाड़ी जो वनडे में नाकाम रहे हैं

Enter caption

भारत के ऐसे कई युवा खिलाड़ी हैं जो हर साल आईपीएल टूर्नामेंट की वजह से सुर्खियों में आ जाते हैं। आईपीएल दुनिया की सबसे बड़ी टी-20 लीग है, यहां पर अच्छा प्रदर्शन करने पर काफ़ी शोहरत हासिल होती है। कई खिलाड़ियों को आईपीएल में अपने खेल की बदौलत अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए वनडे और टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का मौका मिलता है। लेकिन कुछ ही ऐसे ख़ुशनसीब खिलाड़ी होते हैं जो टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की कर पाते हैं।

कई बार ऐसा देखा गया है कि आईपीएल के नामी गिरामी खिलाड़ी भी अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए कुछ ख़ास नहीं कर पाते हैं, भले ही उन्होंने चयनकर्ताओं और फ़ैंस के जेहन में कितनी भी उम्मीदें बढ़ाईं हों। इस आर्टिकल में हम ऐसे 3 भारतीय खिलाड़ियों के बारे में चर्चा कर रहे हैं जिन्होंने आईपीएल टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया है लेकिन वो टीम इंडिया के लिए वनडे खेलते हुए नाकाम साबित हुए हैं। इन खिलाड़ियों की मांग आईपीएल मे आज भी है।__________________________________________________________________________

#1 रॉबिन उथप्पा

Enter caption

रॉबिन उथप्पा आईपीएल के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक हैं, उन्होंने इस टूर्नामेंट के 165 मैच में शिरकत की है। वो अलग-अलग टीम के लिए अपनी सेवाएं दे चुके हैं। एक वैकल्पिक विकेटकीपर-बल्लेबाज़ के तौर पर उन्हें टीम इंडिया में कई बार मौका मिल चुका है।

33 साल के इस खिलाड़ी ने 46 वनडे मैच खेला है और 25.94 की औसत से महज़ 934 रन बनाए हैं। उथप्पा ने साल 2006 में अपने वनडे करियर का आग़ाज़ किया था। साल 2015 में उन्होंने ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ आख़िरी वनडे मैच खेला था।

कर्नाटक के रॉबिन उथप्पा ने आईपीएल के सभी सीज़न में बल्लेबाज़ी की है और अभी भी वो एक अहम खिलाड़ी हैं। पिछले 5 सालों से वो कोलकाता नाइटराइडर्स टीम में बने हुए हैं।

इस टूर्नामेंट में उन्होंने 28.67 की औसत से 4129 रन बनाए हैं। वो आईपीएल में रन बनाने के मामले में 5वें स्थान पर हैं। उथप्पा को कोलकाता टीम ने 6.4 करोड़ रुपये में रिटेन किया है। उनकी विस्फोटक बल्लेबाज़ी ही उन्हें दूसरों से अलग बनाती है।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाईलाइटस और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

#2 ऋद्धिमान साहा

Enter caption

34 साल के ऋद्धिमान साहा अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के अंतिम पड़ाव पर हैं। उन्हें भारतीय वनडे टीम में ज़्यादा मौके इसलिए नहीं मिले क्योंकि महेंद्र सिंह धोनी के मौजूदगी में उनकी कोई जगह नहीं बन रही थी। धोनी के विक्लप के रूप में अब टीम इंडिया में ऋषभ पंत की एंट्री हो चुकी है, ऐसे में साहा की वापसी की संभावनाएं शून्य के बराबर है।

ऋद्धिमान साहा ने 28 नवंबर 2010 को न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ वनडे में डेब्यू किया था। उन्होंने अपना आख़िरी वनडे मैच 9 नवंबर 2014 को श्रीलंका के ख़िलाफ़ खेला था। साहा ने टीम इंडिया के लिए अब तक महज़ 9 वनडे मैच खेले हैं। इस दौरान उनकी बल्लेबाज़ी का औसत 13.67 और स्ट्राइक रेट 73.21 का रहा है।

दूसरी तरफ़ साहा इंडियन प्रीमियर लीग के एक अहम खिलाड़ी रहे हैं, उन्होंने 115 आईपीएल मैच में शिरकत की है। इस दौरान उन्होंने 24.33 की औसत और 129.85 की स्ट्राइक रेट से 1679 रन बनाए हैं। बतौर विकेटकीपर वो टेस्ट क्रिकेट के एक ही मैच में 10 विकेट लेने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज़ हैं।

दाएं हाथ के बल्लेबाज़ साहा ने कोलकाता नाइटराइडर्स, चेन्नई सुपरकिंग्स और किंग्स इलेवन पंजाब की जर्सी पहनी है। आईपीएल 2019 में वो सनराइज़र्स हैदराबाद के लिए खेलते हुए नज़र आएंगे। हैदराबाद टीम ने साहा को 1.20 करोड़ रुपये में ख़रीदा है। अब देखना होगा कि वो इस टीम के लिए कितना कमाल दिखाते हैं।

#3 मोहित शर्मा

Enter caption

मोहित शर्मा आईपीएल के नामी खिलाड़ियों में शुमार किए जाते हैं, हालाँकि हरियाणा के ये खिलाड़ी टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की करने में नाकाम रहे। उनके हुनर का फ़ायदा उन्हें आईपीएल में बख़ूबी मिला है। वो जिस टीम के लिए भी गेंदबाज़ी करते हैं उस टीम के लिए फ़ाय़देमंद साबित होते हैं।

बल्लभगढ़ में जन्मे इस गेंदबाज़ की लाइन और लेंथ कमाल की है। मैच के दौरान वो काफ़ी अनुशासित नज़र आते हैं। भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, युजवेंद्र चहल, मोहम्मद शमी, उमेश यादव और ईशांत शर्मा के रहते हुए भारतीय क्रिकेट टीम में उनकी जगह बननी मुश्किल है। हांलाकि आईपीएल में उनका करियर अच्छा रहा है।

दाएं हाथ के बल्लेबाज़ साहा ने कोलकाता नाइटराइडर्स, चेन्नई सुपरकिंग्स और किंग्स इलेवन पंजाब की जर्सी पहनी है। आईपीएल 2019 में वो सनराइज़र्स हैदराबाद के लिए खेलते हुए नज़र आएंगे। हैदराबाद टीम ने साहा को 1.20 करोड़ रुपये में ख़रीदा है। अब देखना होगा कि वो इस टीम के लिए कितना कमाल दिखाते हैं।

लेखक- अभिषेक अरोड़ा

अनुवादक- शारिक़ुल होदा

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment