Create
Notifications

3 भारतीय खिलाड़ी जो IPL में खराब प्रदर्शन के कारण राष्ट्रीय टीम में वापसी का मौका गंवा रहे हैं 

मनीष पांडे इस सीजन में अपनी खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं
मनीष पांडे इस सीजन में अपनी खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं
reaction-emoji
Neeraj

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) भले ही भारत की टी20 लीग है लेकिन इसमें दुनिया भर के खिलाड़ी खेलना पसंद करते हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) हर साल इस लीग का आयोजन करता है। इस लीग के जरिए भारत के साथ बाकी देशों के युवाओं को भी अपनी प्रतिभा दुनिया को दिखाने का अवसर मिलता है। इसी वजह से आईपीएल को दुनियाभर में इतना पंसद किया जाता है।

कई बार ऐसा देखा गया है कि आईपीएल में बढ़िया प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को उनके देश की राष्ट्रीय टीम में चुन लिया जाता है। तो वहीं जो खिलाड़ी खराब प्रदर्शन के चलते टीम से से बाहर कर दिए जाते हैं। वो इस लीग में शानदार प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रीय टीम में वापसी करने में सफल हो जाते हैं। मौजूदा समय में भारत में आईपीएल का 15वां सीजन खेला जा रहा है।

हर बार की तरह इस वर्ष भी कुछ खिलाड़ियों के पास मौका है कि इस लीग के दौरान अपनी टीम की ओर से खेलते हुए अच्छा प्रदर्शन करें ताकि भविष्य में उनको फिर से राष्ट्रीय टीम में जगह मिल सके। हालाँकि इस आर्टिकल में हम ऐसे 3 खिलाड़ियों का जिक्र करने जा रहे हैं जो टूर्नामेंट में खराब प्रदर्शन कर वापसी का रास्ता मुश्किल बना रहे हैं।

3 भारतीय खिलाड़ी जो IPL में खराब प्रदर्शन के कारण राष्ट्रीय टीम में वापसी का मौका गंवा रहे हैं

#1 विजय शंकर (गुजरात टाइटंस)

विजय शंकर को नंबर 4 के बल्लेबाज के रूप में टीम में जगह मिली थी
विजय शंकर को नंबर 4 के बल्लेबाज के रूप में टीम में जगह मिली थी

विजय शंकर ने निदाहास ट्रॉफी में श्रीलंका के खिलाफ 6 मार्च 2018 को अपना अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया था। जबकि इन्होंने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच जून 2019 में खेला था। शंकर को भारतीय टीम से बाहर हुए लगभग 3 वर्ष का समय पूरा होने को है। आईपीएल के इस सत्र में अच्छा प्रदर्शन करके ही विजय फिर से राष्ट्रीय टीम में खेलने का मौका पा सकते हैं।

गुजरात टाइटंस फ्रेंचाइजी द्वारा उनको इस सीजन में खरीदा गया है और फ्रेंचाइजी ने 3 मुकाबलों में उन्हें नंबर 3 पर बल्लेबाजी का मौका दिया। लेकिन इनका खराब फॉर्म यहाँ भी जारी है। सीजन में खेले तीन मैचों में शंकर 6.33 की औसत से सिर्फ 19 रन बना पाए हैं। इस साल आईपीएल में मिले मौकों का अगर शंकर फ़ायदा उठाने में नाकाम रहते हैं तो उनके लिए टीम इंडिया में वापसी कर पाना मुश्किल हो जाएगा।

#2 अजिंक्य रहाणे (कोलकाता नाइटराइडर्स)

अजिंक्य रहाणे
अजिंक्य रहाणे

टीम इंडिया की टेस्ट टीम के पूर्व उप-कप्तान और बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे खराब फॉर्म के चलते इस समय टीम से बाहर चल रहे हैं। आईपीएल के पिछले सत्र में रहाणे दिल्ली कैपिटल्स के खेमे का हिस्सा थे। लेकिन इस साल मेगा ऑक्शन में केकेआर ने रहाणे को एक करोड़ में खरीदा और टीम में शामिल किया। ऐसा कई बार देखा गया कि खिलाड़ियों द्वारा आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद राष्ट्रीय टीम में उनके लिए वापसी के दरवाजे खुल जाते हैं।

33 वर्षीय रहाणे के लिए यह सीजन भी कुछ ऐसा ही मौका है। जिसका फ़ायदा उठाकर ये एक बार फिर राष्ट्रीय टीम में चुने जा सकते हैं। लेकिन अभी तक खेले पांच मैचों में रहाणे का प्रदर्शन औसत से भी कम रहा है। पांच मैचों में रहाणे 16 की औसत से 80 रन बना पाए हैं। इतने औसत प्रदर्शन के दम पर उनकी वापसी नामुमकिन है।

#3 मनीष पांडे (लखनऊ सुपर जायंट्स)

पांडे ने इस आईपीएल सत्र में 4 मैचों के दौरान 60 रन बनाए हैं
पांडे ने इस आईपीएल सत्र में 4 मैचों के दौरान 60 रन बनाए हैं

32 वर्षीय बल्लेबाज मनीष पांडे अब तक भारत के लिए 68 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेल चुके हैं। भारत के लिए अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच पांडे ने जुलाई 2021 में खेला था। तब से इनकी राष्ट्रीय टीम में वापसी नहीं हुई है। आईपीएल 2022 इनके लिए एक मौका बन कर आया है टीम इंडिया में फिर से अपनी जगह बनाने का।

इस आईपीएल सीजन में मनीष लखनऊ फ्रेंचाइजी के लिए खेल रहे हैं। लेकिन पहले तीन मैचों में खराब प्रदर्शन के चलते इनको टीम से बाहर कर दिया गया है। इनकी जगह कृष्णप्पा गौतम को अगले दो मैचों में चुना गया था। मनीष को एक बार फिर मुंबई इंडियंस के खिलाफ मौका मिला लेकिन वह 38 रन ही बना पाए। ऐसे में उनके लिए राष्ट्रीय टीम में वापसी की राह कठिन होती जा रही है।


Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...