Create

3 बेहतरीन पारियां जो एंड्रयू साइमंड्स ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान खेली थी 

Neeraj
साइमंड्स की गिनती दुनिया के दिग्गज खिलाड़ियों में होती थी
साइमंड्स की गिनती दुनिया के दिग्गज खिलाड़ियों में होती थी

ऑस्ट्रेलिया टीम (Austrelia Cricket Team) के पूर्व ऑलराउंडर एंड्रयू साइमंड्स (Andrew Symonds) का शनिवार रात एक कार दुर्घटना में निधन हो गया था। जिससे ऑस्ट्रेलिया के साथ दुनियाभर के उनके फैंस को काफी बड़ा धक्का लगा। साइमंड्स 46 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह कर चले गए। 46 वर्षीय ये खिलाड़ी एक खतरनाक बल्लेबाज होने के साथ एक बेहतरीन गेंदबाज भी था। उन्होंने कई मौकों पर ऑस्ट्रेलिया के लिए शानदार पारियां खेलते हुए अकेले अपने दम पर जीत दिलाई थी।

अपने 11 सालों के अंतरराष्ट्रीय करियर में साइमंड्स ने 198 एकदिवसीय, 26 टेस्ट, जबकि 14 टी20 मुकाबले खेले थे। इसके साथ 2003 और 2007 में ऑस्ट्रेलिया टीम जब विश्व कप जीतने में सफल रही थी उस समय भी ये खिलाड़ी इस टीम का अहम हिस्सा रहा था। इस ऑलराउंडर ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच मई 2009 में खेला था और 2012 में इन्होंने क्रिकेट से संन्यास लेते हुए क्रिकेट को अलविदा कह दिया। इस आर्टिकल में हम साइमंड्स द्वारा अंतरराष्ट्रीय करियर में खेली गई उनकी तीन यादगार पारियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

3 बेहतरीन पारियां जो एंड्रयू साइमंड्स ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान खेली थी

#3 162* रन बनाम भारत, सिडनी (2008)

इस मैच में साइमंड्स ने भारतीय गेंदबाजों की काफी धुनाई की थी
इस मैच में साइमंड्स ने भारतीय गेंदबाजों की काफी धुनाई की थी

2008 में जब टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर गई थी उस समय दोनों टीमों के बीच खेली गई चार टेस्ट मैचों की सीरीज के दौरान काफी विवाद हुआ था। ऑस्ट्रेलिया ने मेलबर्न टेस्ट जीत कर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली थी और सीरीज का दूसरा मुकाबला सिडनी में खेला गया था। इस मैच में ऑस्टेलिया ने पहली पारी में एंड्रयू साइमंड्स के नाबाद 162 रनों की बदौलत 463 रन बनाये थे।

भारत ने मैच में वापसी करते हुए अपनी पहली पारी में 532 रन बनाये थे और टीम इंडिया को 69 रनों की बढ़त हासिल हुई थी। मैच की तीसरी पारी में कंगारुओं ने 401/7 के स्कोर पर पारी घोषित कर दी जिसके जवाब में टीम इंडिया दूसरी पारी में 210 रनों पर ढेर हो गई। ऑस्ट्रेलिया ने ये मुकाबला 122 रनों से जीता था। इस मैच में साइमंड्स ने कुल 223 रन बनाये थे। वहीं गेंदबाजी में तीन विकेट भी हासिल किये थे। उनको मैन ऑफ़ द मैच चुना गया था।

#2 156 रन बनाम इंग्लैंड, मेलबर्न (2006)

साइमंड्स मैच के दौरान शॉट खेलते हुए
साइमंड्स मैच के दौरान शॉट खेलते हुए

दिसंबर 2006 में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच मेलबर्न में एशेज सीरीज का चौथा मैच खेला गया था। इस मैच में ऑस्टेलिया ने इंग्लिश टीम को एक पारी और 99 रनों से मात देते हुए मैच अपने नाम किया था। इस मैच में साइमंड्स ने एक बार फिर अपनी उपयोगिता साबित करते हुए मैच की दूसरी पारी में शतकीय पारी खेली। उन्होंने 220 गेंदों में 156 रनों की अहम पारी खेली। इस पारी के दौरान साइमंड्स ने 15 चौके और एक छक्का भी लगाया था।

इस मैच में इंग्लैंड की पूरी टीम पहली पारी में 159 रनों पर ढेर हो गई थी, जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने हेडन और साइमंड्स की शतकीय पारियों की मदद से 419 रन बनाये थे। इसके बाद इंग्लैंड की टीम इस मैच में वापसी नहीं कर पाई और दूसरी पारी के दौरान पूरी टीम 161 रन बना पाई।

#1 143* रन बनाम पाकिस्तान, जोहानसबर्ग (2003)

पाकिस्तान के विरुद्ध खेली गई उनकी ये पारी सबसे शानदार पारियों में से एक है
पाकिस्तान के विरुद्ध खेली गई उनकी ये पारी सबसे शानदार पारियों में से एक है

क्रिकेट विश्व कप 2003 दक्षिण अफ्रीका में खेला गया था और इस टूर्नामेंट का चौथा मुकाबला ऑस्ट्रेलिया बनाम पाकिस्तान खेला गया था। मैच में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 86 रनों पर अपने चार दिग्गज बल्लेबाजों के विकेट खो दिए थे। उसके बाद एंड्रयू साइमंड्स बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर उतरे जो पहले से ही खराब फॉर्म से जूझ रहे थे। साइमंड्स ने अपनी पिछली सात पारियों के दौरान सिर्फ 69 रन बनाये थे।

इसके बावजूद उनको ऑस्ट्रेलिया की प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका मिला था, कप्तान पोंटिंग द्वारा दिखाए इस भरोसे पर साइमंड्स एकदम खरे उतरे। 16वें ओवर में बल्लेबाजी करने आये साइमंड्स ने पूरे 50 ओवरों तक बल्लेबाजी की और 18 चौकों और दो छक्कों की मदद से नाबाद 143 रनों की पारी खेली। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज के 143 रनों की मदद से ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को जीत के लिए 311 रनों का लक्ष्य दिया था जिसके जवाब में पाकिस्तान 228 रनों पर सिमट गई और ऑस्ट्रेलिया ने 82 रनों से इस मुकाबले को जीत लिया।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment