Create
Notifications

3 यादगार टी20 मैच जो भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए हैं 

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेली जाने वाली पांच मैचों की टी20 सीरीज का आगाज 9 जून से होगा
भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेली जाने वाली पांच मैचों की टी20 सीरीज का आगाज 9 जून से होगा
reaction-emoji
Neeraj

भारत (Team India) और दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के बीच खेली जाने वाली पांच मैचों की टी20 सीरीज का पहला मैच 9 जून को दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में खेला जायेगा। दोनों टीमों के बीच खेली जाने वाली इस द्विपक्षीय सीरीज का आगाज 9 जून से होगा जबकि आखिरी मुकाबला 19 जून को बैंगलोर में खेला जाना है। टीम इंडिया की ओर से इस सीरीज में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की जगह केएल राहुल (KL Rahul) कप्तानी करते नजर आएंगे।

इंग्लैंड दौरे को देखते हुए टीम के सीनियर खिलाड़ियों को आराम दिया गया है। जिसमें विराट कोहली, रोहित शर्मा, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी जैसे दिग्गज खिलाड़ियों के नाम शामिल हैं। जबकि विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक और हार्दिक पांड्या भारतीय टीम में इस सीरीज से वापसी करेंगे। आपको बता दें, इन दोनों टीमों के बीच अभी तक कुल 15 टी20 मुकाबले खेले गए हैं, जिसमें से नौ मैचों में भारतीय टीम ने बाजी मारी है जबकि छह मैचों में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को पटखनी दी है।

3 यादगार टी20 मैच जो भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए हैं

#3 जोहान्सबर्ग (दिसंबर, 2006)

दिनेश कार्तिक शॉट खेलते हुए
दिनेश कार्तिक शॉट खेलते हुए

भारतीय टीम ने अपना पहला टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध ही खेला था। दोनों टीमों के बीच ये मैच 2006 में जोहान्सबर्ग में खेला गया था। इस मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने निर्धारित 20 ओवरों में 126/9 का स्कोर खड़ा किया था। भारत की और से ज़हीर खान और अजीत अगरकर ने किफायती गेंदबाजी करते हुए दो-दो विकेट झटके थे।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही, टीम के ओपनर बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर सिर्फ 10 रन बनाकर आउट हो गए। सचिन का विकेट गिरने के बाद वीरेंदर सहवाग (34) और दिनेश मोंगिया (38) ने पारी को संभाला, और शानदार पारियां खेलीं। मैच के आखिर में दिनेश कार्तिक ने फिनिशर की भूमिका निभाते हुए 28 गेंद पर नाबाद 31 रन बनाये। जिसके चलते टीम इंडिया ने इस मैच को छह विकेट से अपने नाम कर लिया।

#2 केप टाउन (फरवरी, 2018)

इस मैच में रैना ने गेंद और बल्ले दोनों से अहम योगदान दिया था
इस मैच में रैना ने गेंद और बल्ले दोनों से अहम योगदान दिया था

2018 में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज खेली गई थी। तीन मैचों की सीरीज का ये तीसरा मैच दोनों ही टीमों के लिए काफी अहम था क्योंकि सीरीज में दोनों ही टीमें एक-एक मैच जीतकर बराबरी पर थीं। इस महत्वपूर्ण मैच में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शिखर धवन (47) और सुरेश रैना (43) की पारियों की बदौलत सात विकेट के नुकसान पर 172 रन बनाये थे।

173 रनों के टारगेट का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम 20 ओवरों में 6 विकेट खोकर 165 रन ही बना सकी और टीम इंडिया ने इस मैच को सात रनों से जीत लिया। रैना को उनके शानदार ऑलराउंडर प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ़ द मैच चुना गया था।

#1 कोलंबो (अक्टूबर - 2012, टी20 विश्व कप)

इस मुकाबले को जीतने के बावजूद भारत सेमीफाइनल में कम रन रेट के चलते जगह नहीं बना पाया था।
इस मुकाबले को जीतने के बावजूद भारत सेमीफाइनल में कम रन रेट के चलते जगह नहीं बना पाया था।

टी20 विश्व कप 2012 का 24वां मैच दक्षिण अफ्रीका बनाम भारत खेला गया था। कोलंबो में हुए इस रोमांचक मुकाबले में कप्तान एबी डीविलियर्स ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी का निमंत्रण दिया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में 152/6 का स्कोर खड़ा किया था। भारत की ओर से इस मुकाबले में सबसे ज्यादा रन सुरेश रैना के बल्ले से निकले थे। रैना ने अपनी इस पारी में 34 गेंद का सामना करते हुए पांच चौकों की मदद से 45 रन बनाये थे।

लक्ष्य का पीछा करते हुए दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत अच्छी नहीं रही टीम के सलामी बल्लेबाज हाशिम अमला को ज़हीर खान ने खाता भी नहीं खोलने दिया। दूसरे ओपनर बल्लेबाज जैक कैलिस को इरफ़ान पठान ने छह रनों के निजी स्कोर पर चलता किया। युवराज सिंह ने एबी डीविलियर्स (13) और फाफ डू प्लेसी (65) के विकेट चटकाते हुए पवेलियन भेजा। नियमित अंतराल पर विकेट निकालने की वजह से टीम इंडिया का पलड़ा पूरे मैच के दौरान भारी रहा।

आखिरी ओवर में दक्षिण अफ्रीका के हाथों में दो विकेट बचे थे और उन्हें 14 रन जीत के लिए चाहिए थे। भारत की ओर से पारी का 20वां ओवर तेज गेंदबाज लक्ष्मीपति बालाजी डालने आये। एल्बी मोर्कल ने बालाजी की पहली ही गेंद पर छक्का जड़ा, लेकिन बालाजी ने अपनी दूसरी गेंद पर मॉर्कल की बोल्ड करते हुए मैच को रोमांचक मोड़ पर ला कर खड़ा कर दिया। मोर्कल के आउट होने के बाद मोर्ने मोर्कल बल्लेबाजी करने उतरे और दाएं हाथ के इस गेंदबाज ने अपनी चौथी गेंद लेंथ गेंद फेंकी जिस पर मोर्ने मोर्कल ने स्क्वायर लेग के ऊपर से 78 मीटर लम्बा छक्का मारते हुए छह रन बटोरे। बालाजी ने पांचवी गेंद यॉर्कर डाली जिस पर मोर्कल बोल्ड हुए और भारत ने एक रन के अंतर से इस मुकाबले में जीत हासिल की।


Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...