Create

3 मौके जब भारतीय बल्लेबाजों ने काउंटी क्रिकेट में दोहरा शतक बनाया

Neeraj
चेतेश्वर पुजारा ने बड़ी पारी खेलकर फॉर्म में वापसी के संकेत दिए हैं
चेतेश्वर पुजारा ने बड़ी पारी खेलकर फॉर्म में वापसी के संकेत दिए हैं

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के बल्लेबाजों ने हमेशा से ही अपनी बल्लेबाजी के जरिए क्रिकेट जगत के कई बड़े-बड़े रिकॉर्ड्स अपने नाम किए हुए हैं। भारत से कई ऐसे महान बल्लेबाज हुए हैं जिन्होंने पूरी दुनिया में अपनी बल्लेबाजी का लोहा मनवाया है। लेकिन ये सफलता किसी भी खिलाड़ी को इतनी आसानी से नहीं मिलती है। इस मुकाम तक पहुंचने के लिए एक खिलाड़ी को काफी मेहनत करनी पड़ती है तब जाकर वो क्रिकेट की दुनिया में अपनी पहचान बना पाता है।

अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत से पहले फर्स्ट क्लास क्रिकेट की खिलाड़ी के करियर में अहम भूमिका होती है। इसके जरिये खिलाड़ियों को काफी कुछ सीखने को मिलता है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलते हुए भी खिलाड़ियों को निरंतर फर्स्ट क्लास क्रिकेट मैचों में शिरकत करते देखा जाता है। आपको बता दें अभी तक कुछ चुनिंदा भारतीय दिग्गजों को इंग्लैंड की काउंटी क्रिकेट में खेलने का मौका मिला है, जिनमें कपिल देव, मोहम्मद अजहरुद्दीन, सचिन तेंदुलकर जैसे महान खिलाड़ियों के नाम शामिल हैं। काउंटी क्रिकेट में खेलते हुए इनमें से कुछ खिलाड़ियों ने दोहरे शतक भी जमाए हैं। इस आर्टिकल में हम ऐसे ही भारतीय बल्लेबाजों का जिक्र करने जा रहे हैं, जिनके नाम काउंटी क्रिकेट में दोहरा शतक दर्ज है।

3 मौके जब भारतीय बल्लेबाजों ने काउंटी क्रिकेट में दोहरा शतक बनाया

#1 मोहम्मद अजहरुद्दीन- 212 बनाम लीसेस्टरशायर (1991)

अजहरुद्दीन शॉट खेलते हुए
अजहरुद्दीन शॉट खेलते हुए

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन काउंटी क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं। आपको बता दें, अजहरुद्दीन के नाम काउंटी क्रिकेट में दो दोहरे शतक हैं। इनका ये पहला दोहरा शतक साल 1991 में डर्बीशायर की ओर से खेलते हुए लीसेस्टरशायर के खिलाफ आया था। तीन दिन तक खेले गए इस मुकाबले में डर्बीशायर ने 195 रनों से जीत अर्जित की थी।

मैच की पहली पारी में डर्बीशायर ने 274 रन बनाए थे। इस पारी में अजहरुद्दीन अपना खाता भी नहीं खोल पाए थे। वहीं लीसेस्टरशायर ने अपनी पहली पारी में खेलते हुए 235 रन बनाए, जिसकी बदौलत डर्बीशायर को पहली पारी में 39 रनों की बढ़तहा सिल हुई। अपनी दूसरी पारी में अजहरुद्दीन की 212 रनों की मदद से डर्बीशायर ने 9 विकेटों के नुकसान पर 447 रन बनाए और पारी घोषित कर दी। लीसेस्टरशायर को जीत के लिए मैच की चौथी पारी में 487 रनों का लक्ष्य मिला था लेकिन लीसेस्टरशायर की पूरी टीम 291 रनों पर ढेर हो गई थी।

#2 मोहम्मद अजहरुद्दीन - 205 बनाम डरहम (1994)

मोहम्मद अजहरुद्दीन
मोहम्मद अजहरुद्दीन

मोहम्मद अजहरुद्दीन ने काउंटी करियर का दूसरा दोहरा शतक डरहम के विरुद्ध 1994 में लगाया था। इस मैच में अजहरुद्दीन डर्बीशायर की ओर से खेलते हुए मैच की पहली पारी में 55 रन जबकि दूसरी पारी में 205 रनों की पारी खेली खेली थी। अपनी दूसरी पारी के दौरान अजहरुद्दीन ने 21 चौके और 6 छक्के भी जड़े थे। आपको बता दें, इस मुकाबले में डरहम ने डर्बीशायर को 7 विकेटों से मात दी थी।

#3 चेतेश्वर पुजारा - 201* बनाम डर्बीशायर (2022)

फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ये पुजारा का 14वां दोहरा शतक है
फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ये पुजारा का 14वां दोहरा शतक है

खराब फॉर्म के चलते भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा मौजूदा समय में भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे हैं। अपनी फॉर्म को वापिस लाने के लिए पुजारा इन दिनों काउंटी क्रिकेट का हिस्सा बने हुए हैं और ससेक्स की टीम का हिस्सा हैं। काउंटी चैंपियनशिप डिवीज़न 2 में डर्बीशायर और ससेक्स के बीच खेले गए मुकाबले में पुजारा ने मैच की तीसरी पारी में 201 रनों की नाबाद पारी खेली। अपनी इस पारी में पुजारा के बल्ले से 23 चौके निकले थे। इस पारी की बदौलत ससेक्स ये मुकाबला ड्रा करने में सफल हो पाई थी।

इस मुकाबले में डर्बीशायर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेटों के नुकसान पर 505 रन बनाते हुए अपनी पहली पारी घोषित कर दी थी। जिसके जवाब में ससेक्स अपनी पहली पारी में 174 रन ही बना सकी। फॉलोऑन खेलते हुए ससेक्स ने तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक 513/3 का स्कोर बनाते हुए ये मुकाबला ड्रा करवा लिया।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment