Create

3 ओपनिंग जोड़ियां जिन्होंने कानपुर में टेस्ट के दौरान भारत के खिलाफ शतकीय साझेदारी की 

कानपुर टेस्ट के दौरान टॉम लैथम और विल यंग
कानपुर टेस्ट के दौरान टॉम लैथम और विल यंग

कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम का नाम अंग्रेजी महिला मैडम ग्रीन के नाम पर रखा गया था जो 1940 के दौरान यहां पर घुड़सवारी करने आती थी। इस ऐतिहासिक स्टेडियम में अब तक कुल मिलाकर 23 टेस्ट मैच,14 वनडे और एक टी20 का आयोजन किया जा चुका है। साथ ही साथ आईपीएल के चार मुकाबले भी यहां पर खेले जा चुके हैं। लगभग 4 साल बाद यहां भारतीय टीम कोई मैच खेल रही है, जिसमें उनका मुकाबला न्यूजीलैंड (IND vs NZ) के साथ हो रहा है।

यहां पर खेले गए अब तक 23 टेस्ट मुकाबलों में विरोधी टीम के सलामी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजी के आगे असहज नजर आते हैं और बड़ी पारियां खेलने में नाकामयाब रहे हैं। मगर कुछ ओपनिंग जोड़ियां ऐसी भी रहीं हैं, जिन्होंने कानपुर में आकर बेहतरीन बल्लेबाजी की है और क्रीज पर डटे रहे हैं। आज हम बात करेंगे ऐसे ही 3 सलामी जोड़ियों के बारे में जिन्होंने भारत के विरुद्ध कानपुर में शतकीय साझेदारी की हैं।

3 ओपनिंग जोड़ियां जिन्होंने कानपुर में टेस्ट के दौरान भारत के खिलाफ शतकीय साझेदारी की

#1 ग्रीम फाउलर और टिम रॉबिन्सन (156 रन), भारत बनाम इंग्लैंड, 1985

ग्रीम फाउलर और टिम रॉबिन्सन ने सबसे पहले यह उपलब्धि हासिल की थी
ग्रीम फाउलर और टिम रॉबिन्सन ने सबसे पहले यह उपलब्धि हासिल की थी

31 जनवरी 1985 से खेले गए इस मुकाबले में भारत का सामना इंग्लैंड की टीम से हुआ। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में 8 विकेट के नुकसान पर 553 रन बनाकर पारी घोषित की। भारत की ओर से मोहम्मद अजहरुद्दीन ने शानदार 122 रन और दिलीप वेंगसरकर ने 137 रनों की पारियां खेली।

उसके बाद बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड की टीम की शुरुआत लाजवाब रही और उनके सलामी बल्लेबाज जी फाउलर और आर रॉबिंसन ने पहले विकेट के लिए 156 रनों की शानदार साझेदारी की। इन दोनों के द्वारा की अच्छी शुरुआत की मदद से इंग्लैंड ने पहली पारी में 417 रन बनाये। पहली पारी के दौरान फाउलर ने 69 और टिम रॉबिन्सन ने 96 रन बनाये। इसके बाद भारत ने दूसरी पारी 97 रनों के स्कोर पर घोषित की और इंग्लैंड के सामने 234 रनों का लक्ष्य रखा । मगर अंत में यह मुकाबला ड्रॉ पर समाप्त हुआ।

#2 सिदथ वेट्टिमुनी और रवि रत्नायके (159 रन), भारत बनाम श्रीलंका, 1986

सिदथ वेट्टिमुनी और रवि रत्नायके
सिदथ वेट्टिमुनी और रवि रत्नायके

17 दिसंबर 1986 से कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में भारत का मुकाबला श्रीलंका से हुआ। इस मुकाबले में श्रीलंकाई टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया और सलामी बल्लेबाज रवि रत्नायके और एस वेट्टिमुनि ने टीम को एक धमाकेदार शुरुआत दिलाई और पहले विकेट के लिए 159 रन जोड़े। उनकी शानदार बल्लेबाजी के बदौलत श्रीलंकाई टीम ने 420 रन बनाए। इस पारी में वेट्टिमुनी ने 79 और रत्नायके ने 93 रन बनाये।

इसके बाद भारत की ओर से सुनील गावस्कर ने 176 और मोहम्मद अजहरुद्दीन ने भी 199 रन शानदार पारियां खेली और अंत में कपिल देव ने भी लाजवाब शतक जड़कर भारत को 676 रन का स्कोर खड़ा करने में योगदान दिया। भारत ने अपनी पारी घोषित नहीं की और समय समाप्त होने के कारण मैच ड्रॉ पर समाप्त हुआ।

#3 विल यंग और टॉम लैथम (151 रन), भारत बनाम न्यूजीलैंड, 2021

विल यंग और टॉम लैथम
विल यंग और टॉम लैथम

हाल ही में चल रहे न्यूजीलैंड के भारतीय दौरे के पहले टेस्ट मुकाबले में न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज विल यंग और टॉम लैथम ने शानदार बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया और पहले विकेट के लिए 151 रनों की शानदार साझेदारी की। टॉम लैथम में इस मुकाबले में 95 रन बनाए तथा विल यंग ने 89 रन की पारी खेली।

इसके पहले भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया और श्रेयस अय्यर ने डेब्यू मुकाबले में बेहतरीन शतक जड़ा। अय्यर के अलावा गिल और जडेजा ने भी अर्धशतक बनाये और इनकी बदौलत भारत ने 345 रन का स्कोर खड़ा किया।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment