Create

3 खिलाड़ी जो भारतीय टीम के मध्यक्रम में अजिंक्य रहाणे की जगह ले सकते हैं 

अजिंक्य रहाणे
अजिंक्य रहाणे

भारतीय टीम (Indian Team) के टेस्ट उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे पिछले कई सालों से मध्यक्रम में भारतीय टीम का अहम हिस्सा बने हुए हैं। रहाणे ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हाल ही में हुयी बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में विराट कोहली की गैरमौजूदगी में शानदार कप्तानी करते हुए टीम को ऐतिहासिक जीत दिलाई थी। हालांकि इस सीरीज में रहाणे की एक शतकीय पारी को हटा दे तो उनका प्रदर्शन कुछ ज्यादा अच्छा नहीं रहा था। वहीं इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में रहाणे 4 टेस्ट में महज एक अर्धशतक की मदद से 112 रन ही जोड़ पाए। इसके अलावा विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भी रहाणे पहली पारी में 49 रन बनाने में कामयाब हुए लेकिन दूसरी पारी में वो टीम को मुश्किल परिस्थितियों में छोड़कर आउट हो गए।

यह भी पढ़ें : 5 भारतीय बल्लेबाज जिन्होंने एक ही टेस्ट मैच में 90 और 100 का स्कोर बनाया

रहाणे भले ही WTC में भारत के सबसे सफल बल्लेबाज रहे हों लेकिन अहम मौकों पर यह बल्लेबाज निराश करते हुए दिखा है। भारत ने इस खिलाड़ी में काफी लम्बे समय से भरोसा दिखाया है लेकिन अब समय आ गया है कि टीम को खराब फॉर्म में चल रहे रहाणे की जगह अन्य बल्लेबाजों को आजमाया जाए। भारत के पास स्क्वॉड में कई प्रतिभाशाली बल्लेबाज हैं, जो टीम की प्लेइंग XI का हिस्सा बनने के लिए बेकरार हैं। ऐसे में टीम मैनेजमेंट को रहाणे को लेकर अब कुछ कड़ा फैसला लेना होगा। इस आर्टिकल में हम उन 3 खिलाड़ियों का जिक्र करने जा रहे हैं, जो मध्यक्रम में रहाणे को रिप्लेस कर सकते हैं।

3 खिलाड़ी जो भारतीय टीम के मध्यक्रम में अजिंक्य रहाणे की जगह ले सकते हैं

#1 हनुमा विहारी

हनुमा विहारी
हनुमा विहारी

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज को जिताने वाले कई खिलाड़ियों को भारत के लिए विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में खेलने का मौका नहीं मिला और उन अनलकी खिलाड़ियों में बल्लेबाज हनुमा विहारी का नाम भी शामिल है। विहारी ने भारत की सिडनी टेस्ट में चोटिल होते हुए भी डटकर बल्लेबाजी की थी और मैच बचाने में अहम रोल अदा किया था। विहारी ने अभी तक अपने करियर के 12 टेस्ट मैचों में 32.84 की औसत से 624 रन बनाये हैं। विहारी के आंकड़े भले ही साधारण हैं लेकिन सच ये भी है कि उन्हें लगातार खेलने के मौके नहीं मिले हैं।

विहारी ने अपने छोटे से करियर में अपनी प्रतिभा का उदहारण जरूर पेश किया है। 2018 में उन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट में एक बेहतरीन अर्धशतक लगाया था। इसके अलावा वेस्टइंडीज दौरे पर विहारी ने शानदार प्रदर्शन कर टीम के लिए सर्वाधिक रन बनाये थे।। ऐसे में अगर रहाणे इंग्लैंड के खिलाफ कुछ मैचों में असफल होते हैं तो विहारी को मध्यक्रम में मौका दिया जाना चाहिए।

#2 केएल राहुल

केएल राहुल
केएल राहुल

अजिंक्य रहाणे की खराब फॉर्म केएल राहुल की टेस्ट वापसी का रास्ता खोल सकती है। अगर ओपनिंग में टीम रोहित, गिल और मयंक पर ही भरोसा जताना चाहती है तो राहुल मध्यक्रम में भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान की जगह ले सकते हैं। केएल राहुल ने वनडे क्रिकेट में दिखाया है कि वो मध्यक्रम में भी अच्छी बल्लेबाजी कर सकते हैं।

हालांकि राहुल के लिए भी टीम में जगह बनाना आसान नहीं है क्योंकि उन्होंने भी बहुत समय से टेस्ट नहीं खेला है और उससे पहले उनका प्रदर्शन खराब रहा था लेकिन उन्होंने सफ़ेद गेंद की क्रिकेट में अच्छा किया है। ऐसे में टीम मैनेजमेंट उन्हें जरूर मध्यक्रम में मौका देकर आजमा सकती है।

#1 शुभमन गिल

शुभमन गिल
शुभमन गिल

शुभमन गिल का नाम देखकर आपको हैरानी हो सकती है क्योंकि वो अभी तक भारत के लिए ओपनिंग ही करते हुए आये हैं। गिल को इस लिस्ट में शामिल करने के पीछे उनका हालिया प्रदर्शन है। गिल ने डेब्यू सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया था लेकिन उसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज और WTC फाइनल में उन्होंने निराश ही किया है। गिल को स्विंग गेंदबाजी के सामने मुश्किलें आ रही हैं। ऐसे में टीम मैनेजमेंट मयंक अग्रवाल को गिल के स्थान पर ओपनिंग करवा सकता है और गिल को मध्यक्रम में रहाणे की जगह आजमा सकता है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
9 comments