COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit

3 खिलाड़ी जो भारतीय टीम में और अधिक योगदान दे सकते थे, अगर वे चोटिल ना होते 

टॉप 5 / टॉप 10
2.04K   //    03 Nov 2018, 13:46 IST

Image result for zahir, yuvraj and nehra

किसी भी खिलाड़ी के लिए चोटिल होना उसके करियर पर ग्रहण लगा सकता है। वैसे तो चोटें हर खेल का हिस्सा हैं लेकिन कई बार किसी गंभीर चोट की वजह से खिलाड़ी का करियर भी खत्म हो सकता है। ऐसे में किसी दिग्गज खिलाड़ी के टीम से बाहर होने पर उस टीम के प्रदर्शन पर भी बुरा असर पड़ता है।  

हालाँकि,अब अच्छी फिटनेस तकनीकों और कड़े डाइट प्लान के साथ खिलाड़ी लंबे समय तक फिट रहते हैं लेकिन पिछले कुछ सालों में टीम इंडिया के कई दिग्गज खिलाड़ी ऐसे रहे जिन्हें अस्वस्थ होने के कारण क्रिकेट को हमेशा के लिए अलविदा कहना पड़ा। इससे टीम इंडिया के प्रदर्शन पर भी असर पड़ा। आज हम आपको बताने जा रहे हैं तीन ऐसे चुनिंदा भारतीय क्रिकेटरों के बारे में जिनमें अभी काफी क्रिकेट बची थी लेकिन चोटिल होने की वजह से वह टीम में पूरा योगदान नहीं दे पाए:

आशीष नेहरा

Image result for nehra injured

36 वर्ष की उम्र में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ भारतीय टी-20 टीम में वापसी करने वाले नेहरा के दृढ़ निश्चय की दाद देनी होगी। बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ ने अपने 18 साल लंबे अंतराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में भारत के लिए शानदार गेंदबाज़ी की है। 1999 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच से अपने करियर की शुरुआत करने वाले नेहरा ने भारत को विश्व कप 2003 के फाइनल में पहुंचाने में बेहद अहम भूमिका निभाई थी। इस विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने 6 विकेट लेकर तहलका मचा दिया था। 

ज़हीर खान के साथ मिलकर उन्होंने भारत के गेंदबाज़ी आक्रमण की कमान संभाली। हालाँकि, दिल्ली के तेज गेंदबाज को अपने पूरे करियर में चोटों से दो-चार होना पड़ा। अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ दौर में वह घुटने और कंधे की चोट से जूझते रहे जिसके बाद उन्हें लंबे समय तक क्रिकेट से दूर रहना पड़ा। विश्व कप 2011 में सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ चोटिल होने के बाद उन्होंने पांच साल बाद राष्ट्रीय टीम में वापसी की।लेकिन अपनी वापसी के तुरंत बाद नेहरा ने 2016 में खेले गए एशिया कप में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई थी।



1 / 3 NEXT
Topics you might be interested in:
Fetching more content...