Create

IPL 2020: चेन्नई सुपर किंग्स टीम के 3 बड़े खिलाड़ी जिन्हें शायद एक भी मुक़ाबला खेलने का मौका न मिले

कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए आईपीएल को 15 अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया है और यह उम्मीद है कि 29 मार्च को शुरू होने वाले आईपीएल की शुरुआत अब 15 अप्रैल के आसपास होगी।

2008 से चले आ रहे आईपीएल की सबसे सफल टीमों में से एक चेन्नई सुपर किंग्स ने अब तक तीन बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया है, आठ बार फाइनल में जगह बनाई है और हर एक सीज़न में प्लेऑफ़ मे पहुंचे हैं।

चेन्नई के इस सफल कहानी के नायक महेंद्र सिंह धोनी ने अपने अनुभवी खिलाड़ियों के साथ लगातार टीम को सफलता दिलाई है। चेन्नई की सफलता के पीछे एक महत्वपूर्ण कारण यह है कि वह टीम के साथ ज्यादा बदलाव नहीं करते। टीम के पास टी-20 के अनुभवी और लंबे समय से आईपीएल खेलने वाले खिलाड़ियों की कोई कमी नहीं है और ऐसे में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके लिए टीम में जगह बनाना इतना आसान नहीं है।

यह भी पढ़ें - 3 भारतीय खिलाड़ी जिन्हें इस साल आईपीएल में शायद एक भी मुक़ाबला खेलने को न मिले

इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम उन तीन खिलाड़ियों के बारे में बात करने वाले हैं जो शायद चेन्नई सुपर किंग्स टीम में एक भी मुकाबला न खेल पाएं।

#1 मुरली विजय

चेन्नई सुपर किंग्स टीम के पास पहले से ही शेन वॉटसन और फाफ डू प्लेसिस हैं जिन्होंने 2019 में सलामी बल्लेबाज के रूप में चेन्नई के लिए खेला था। इसके अलावा चेन्नई के पास अंबाती रायडू का भी विकल्प मौजूद है जिन्होंने 2018 में चेन्नई के लिए सलामी बल्लेबाज के रूप में खेलते हुए 16 मैचों में 602 रन बनाए थे और एक शतक भी अपने नाम किया था।

विजय टीम के लिए एक सलामी बल्लेबाज के रूप में खेल सकते हैं। लेकिन टीम के पास पहले से ही तीन बेहतरीन सलामी बल्लेबाज मौजूद हैं और ऐसे में मुरली विजय को टीम में मौका मिलना बेहद मुश्किल दिखाई दे रहा है।

#2 कर्ण शर्मा

कर्ण शर्मा
कर्ण शर्मा

चेन्नई टीम में एक नजर यह समझने के लिए काफी है कि टीम स्पिनरों से भरी हुई है और ऐसे में 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स टीम का हिस्सा बने कर्ण के लिए टीम में जगह बनाना बेहद मुश्किल है। रविंद्र जडेजा का प्लेइंग इलेवन में जगह बनाना तय है क्योंकि वह सटीकता से गेंदबाज़ी कर रन भी रोक सकते हैं और साथ ही साथ विकेट भी झटका सकते हैं। इसके अलावा वह बल्ले से भी निचले क्रम में विस्फोटक रूप अपना सकते हैं।

फिर इमरान ताहिर और हरभजन सिंह की एक अनुभवी जोड़ी है जिन्होंने 2019 में भी अच्छा प्रदर्शन किया है और अब टीम के पास पीयूष चावला भी मौजूद हैं, ऐसे में कर्ण शर्मा को शायद बाहर ही बैठना पड़े।

#3 सैम करन

5.50 करोड़ में चेन्नई सुपर किंग्स टीम का हिस्सा बने सैम करन के लिए भी आईपीएल में चेन्नई के प्लेइंग इलेवन में आना मुश्किल ही दिखाई दे रहा है। चेन्नई के पास शेन वॉटसन और ड्वेन ब्रावो के रूप में दो बहुत ही अनुभवी और सक्षम ऑलराउंडर हैं। फाफ डू प्लेसी ने चेन्नई के लिए सलामी बल्लेबाज के रूप में कई बेहतरीन पारियां खेली हैं और ऐसे में टीम का हिस्सा जरूर रहेंगे।

इसके बाद टीम में सिर्फ एक ही विदेशी खिलाड़ी खेल सकता है और टीम इमरान ताहिर को जरूर खिलाएगी। ऐसे में युवा आल- राउंडर सैम को शायद पूरे सीजन बेंच पर ही बैठना पड़े।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment