Create

3 कारण जिनकी वजह से IPL 2021 का यूएई में आयोजन अच्छा नहीं कहा जा सकता 

आईपीएल ट्रॉफी
आईपीएल ट्रॉफी
reaction-emoji
Prashant Kumar

आईपीएल (IPL) 2021 की शुरुआत भारत में 9 अप्रैल से हुयी थी लेकिन यह टूर्नामेंट एक महीने तक भी नहीं चला और 29 मैचों के बाद इस लीग को स्थगित करने का फैसला किया गया। इस सीजन के स्थगित होने के पीछे बायो बबल में रहने के बावजूद कुछ खिलाड़ियों तथा सपोर्ट स्टाफ का संक्रमित होना था। बीसीसीआई ने बिना किसी देरी के इस टूर्नामेंट से जुड़े सभी लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इसे स्थगित करना ही उचित समझा। इस सीजन महज 29 मैच ही हो पाए थे और इस दौरान दिल्ली कैपिटल्स अपने 8 में से 6 मैच जीतकर अंकतालिका में टॉप पर मौजूद है।

यह भी पढ़ें: 3 बल्लेबाज जिन्होंने IPL में सबसे ज्यादा बार एक ओवर में 3 या उससे अधिक छक्के लगाए हैं

आईपीएल 2021 के शेष मैचों के आयोजन स्थल और कब होगा इसको लेकर काफी दिनों से चर्चायें चल रही थी। कल बीसीसीआई की एजीएम में इसको लेकर बड़ा फैसला हुआ और आईपीएल के बचे हुए मैचों के आयोजन के लिए यूएई को चुना गया है। आईपीएल के शेष मैचों के लिए अभी शेड्यूल निर्धारित नहीं हुआ लेकिन सितम्बर-अक्टूबर के बीच आयोजन होगा। बीसीसीआई ने कल प्रेस रिलीज कर कहा कि मानसून की वजह से आईपीएल का आयोजन भारत में नहीं हो सकता और इसी वजह से इसे यूएई में पूरा करने का निर्णय लिया गया है। हालांकि कुछ ऐसे कारण हैं, जिनकी वजह से आईपीएल 2021 के यूएई में आयोजन को अच्छा नहीं कहा जा सकता है।

3 कारण जिनकी वजह से IPL 2021 का यूएई में आयोजन अच्छा नहीं कहा जा सकता

#3 भारतीय माहौल का ना होना

यूएई में हुए पिछले सीजन को मुंबई ने जीता था
यूएई में हुए पिछले सीजन को मुंबई ने जीता था

इंडियन प्रीमियर लीग जैसा कि नाम से ही इसके भारतीय होने का पता चलता है और आईपीएल 2021 में भारतीय माहौल को जरूर मिस किया जायेगा। स्टेडियम में दर्शक भले ही ना मौजूद हों लेकिन भारत में इसे लेकर दर्शकों के बीच एक अलग ही उत्साह देखने को मिलता है। भारतीय खिलाड़ी और दर्शक इस टूर्नामेंट का आयोजन भारत में ही पसंद करेंगे लेकिन मौजूदा हालात में ऐसा होना नामुमकिन है।

#2 एक तरह की पिचें

शेख जायद क्रिकेट स्टेडियम
शेख जायद क्रिकेट स्टेडियम

भारत में पिचों की परिस्थितयां मैचों पर बहुत प्रभाव डालती हैं और ऐसा हमने इस सीजन में भी देखा। एक तरफ चेन्नई में कम स्कोर वाले मैच हो रहे थे। वहीं दूसरी तरफ मुंबई और दिल्ली में हाई स्कोरिंग मैच देखने को मिले। यूएई में तीन ही मैदान है और सभी पास-पास ही हैं। इसी वजह से यहां की पिचें भी एक जैसी ही हैं। यूएई (अबू धाबी, दुबई और शारजाह) में तीनों स्थानों पर पहले बल्लेबाजी करते हुए औसत स्कोर 150 के आस पास है और लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम को ज्यादा फायदा होता है।

#1 एकतरफा मैच होने का खतरा

पिछले फाइनल में मुंबई और दिल्ली ने जगह बनाई थी
पिछले फाइनल में मुंबई और दिल्ली ने जगह बनाई थी

आईपीएल 2021 में 29 मैचों में ही दर्शकों को बहुत से रोमांचक मैच देखने को मिले और ज्यादातर मैच आखिरी के ओवरों तक गए थे। हालांकि आईपीएल 2020 में हमने देखा था कि टीमों के बीच एकतरफा मुकाबले हुए थे और दर्शकों को उतना रोमांच नहीं मिला था। पिछले सीजन का फाइनल भी मुंबई इंडियंस और दिल्ली कैपिटल्स के बीच एकतरफा ही था, जहां मुंबई ने अपना दबदबा बनाकर ट्रॉफी जीती थी।

Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...