Create
Notifications

3 कारण क्यों इस सीजन आईपीएल का आयोजन नहीं होना चाहिए

आईपीएल
आईपीएल
सावन गुप्ता

आईपीएल के आयोजन को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैंं। खिलाड़ियों समेत बीसीसीआई की तरफ से इसके आयोजन को लेकर समय-समय पर बयान आते रहते हैं। आईपीएल के 13वें सीजन का आयोजन 29 मार्च से होने वाला था लेकिन कोरोना वायरस की वजह से पूरा शेड्यूल ही बिगड़ गया। कोरोना के कारण पूरी दुनिया थम सी गई और क्रिकेट भी इसकी चपेट में आ गया। जिस समय आईपीएल का आयोजन होना था, ठीक उसी समय कोरोना ने भारत में अपने पैर पसारने शुरु कर दिए और आईपीएल के आयोजन को टालना पड़ा।

ये भी पढ़ें: पता नहीं एम एस धोनी के संन्यास की खबरें कहां से आती हैं- साक्षी धोनी

बीसीसीआई ने अभी तक आईपीएल को अनिश्चित काल के लिए स्थगित किया हुआ है। हालांकि कयास लगाए जा रहे हैं कि अक्टूबर में इसका आयोजन हो सकता है। ऑस्ट्रेलिया में इस साल टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन नहीं होना लगभग तय है और इसी विडों पर आईपीएल का आयोजन कराया जा सकता है। आईपीएल से काफी सारा पैसा जुड़ा होता है, इसलिए बीसीसीआई इसका कोई भी सीजन गंवाना नहीं चाहती है।

ये भी पढ़ें: रोहित शर्मा ने राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट होने पर दी प्रतिक्रिया

हालांकि इन सबके बावजूद आईपीएल के आयोजन में काफी मुश्किलें हैं, इसीलिए आईपीएल का आयोजन इस साल ना करने में ही भलाई है। हम आपको 3 ऐसे कारण बतायेंगे कि क्यों आईपीएल के इस सीजन का आयोजन कैंसिल कर देना चाहिए।

3 कारण क्यों आईपीएल का आयोजन नहीं होना चाहिए

3. बिना फैंस के आईपीएल का रोमांच कम होना

Photo- The Hindu
Photo- The Hindu

आईपीएल की सबसे बड़ी खासियत अभी तक यही रही है कि जब भी कोई मैच होता है तो स्टेडियम पूरी तरह से भरा हुआ होता है। फैंस अपनी-अपनी टीम को सपोर्ट करने के लिए बड़ी संख्या में स्टेडियम में पहुंचते हैं। अगर इस साल अक्टूबर में आईपीएल का आयोजन हुआ भी तो फैंस को स्टेडियम में जाने की अनुमित नहीं होगी।

ये भी पढ़ें: विराट कोहली को लेकर पाकिस्तान के युवा तेज गेंदबाज ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

बिना फैंस के आप कल्पना कर सकते हैं कि आईपीएल का मैच किस तरह लगेगा। ना केवल आपको बल्कि खिलाड़ियों को भी उस तरह की फीलिंग नहीं आएगी जो फैंस के होने पर आती है। इसकी वजह से आईपीएल का रोमांच और आकर्षण खत्म हो जाएगा। अगर आप टीवी पर मैच देखेंगे तो भी आपको देखने में वो मैच उतना अच्छा नहीं लगेगा। यही वजह है कि इस साल बिना फैंस के आईपीएल का आयोजन कराने का कोई मतलब ही नहीं है।

2.खिलाड़ियों के स्वास्थ्य से समझौता

आरसीबी के खिलाड़ी प्रैक्टिस करते हुए
आरसीबी के खिलाड़ी प्रैक्टिस करते हुए

अगर आईपीएल का आयोजन हुआ तो सभी 8 टीमों के खिलाड़ी जरुर इकट्ठा होंगे। इसके अलावा वो एक शहर से दूसरे शहर में ट्रैवल भी करेंगे। ऐसा तो नहीं है कि एक ही स्टेडियम में आईपीएल के सारे मैचों का आयोजन हो जाएगा। अगर खिलाड़ी एक जगह से दूसरे जगह ट्रैवल करेंगे और फिर प्रैक्टिस, मैच खेलना, इससे उनको कोरोना होने का खतरा ज्यादा रहेगा।

फ्लाइट में आना जाना, एक जगह से दूसरे जगह जाना ये सब काफी खतरे वाले होंगे। भले ही कितनी सावधानी क्यों ना बरती जाए लेकिन इससे खिलाड़ियों को काफी खतरा रहेगा।

1.विदेशी खिलाड़ियों के आने से कोरोना फैलने का डर

बेन स्टोक्स
बेन स्टोक्स

अगर आईपीएल का आयोजन हुआ तो इसमें सभी टीमों के विदेशी खिलाड़ी जरुर आएंगे। जब भी किसी देश से कोई खिलाड़ी या टीम आती है तो उसके लिए पूरी सावधानी जरुर बरती जाएगी। उन्हें क्वारंटीन में रखा जाएगा, इसके बावजूद खिलाड़ियों में कोरोना फैलने का खतरा काफी ज्यादा रहेगा।

हर देश का वातावरण अलग होता है और इस समय में उस देश के खिलाड़ी पर यहां की परिस्थितियों का क्या असर पड़ेगा, हमें ये भी देखना होगा। इसी वजह से विदेशी खिलाड़ी जब बाहर से आएंगे तो चाहे कितनी भी सावधानी बरती जाए, कोरोना फैलने का खतरा बना रहेगा।

Edited by सावन गुप्ता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...