Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

3 कारणों से एमएस धोनी को 2020 में रिटायरमेंट ले लेनी चाहिए

ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
Modified 31 Dec 2019, 16:24 IST

धोनी, पंत को कीपिंग और फिनिशिंग के बारे में बड़ी बातें सिखा सकते हैं
धोनी, पंत को कीपिंग और फिनिशिंग के बारे में बड़ी बातें सिखा सकते हैं

महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट के एक महान खिलाड़ी माने जाते हैं। धोनी ने 23 दिसंबर 2004 को बांग्लादेश के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना डेब्यू किया था। महेंद्र सिंह धोनी के नाम कई रिकॉर्ड्स दर्ज है और उन्होंने अपनी कप्तानी में भारत को 2011 का वर्ल्ड कप जीतने में मदद की।

धोनी पिछले 15 सालों से भारत के लिए क्रिकेट खेल रहे है। धोनी ने अपनी कप्तानी से भारत को टी20 वर्ल्ड कप और चैंपियन ट्रॉफी भी जीतने में मदद की है। धोनी फिलहाल 38 साल के हो चुके हैं। उन्होंने वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच के बाद एक भी वनडे और टी20 मैच नहीं खेला है।

ऐसे में माना जा सकता है कि वह अब जल्द ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले सकते हैं। 2020 में टी20 वर्ल्ड कप होने वाला है। धोनी टी20 वर्ल्ड कप के बाद अपने संन्यास की घोषणा कर सकते हैं। हम बात करने वाले हैं 3 कारणों के बारे में जिसके चलते एमएस धोनी को 2020 में इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट लनी चाहिए।

#3 नए खिलाड़ियों को मौका देने के लिए

धोनी नए खिलाड़ियों को मौका दे सकते हैं
धोनी नए खिलाड़ियों को मौका दे सकते हैं

महेंद्र सिंह धोनी काफी लंबे समय से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर है। ऐसे में भारत उनकी जगह नए खिलाड़ियों को मौका दे रहा है। धोनी के टीम से बाहर रहने पर ऋषभ पंत विकेट कीपिंग कर रहे हैं। पंत के साथ-साथ श्रेयस अय्यर को भी मौका दिया जा रहा है।

इसके अलावा शिवम दुबे को भी टीम में जगह मिली है। अगर धोनी ने खिलाड़ियों को टीम में मौके देना चाहते हैं तो वह 2020 में रिटायरमेंट की घोषणा कर सकते हैं। यह दिग्गज खिलाड़ी वर्ल्ड कप के बाद और नए खिलाड़ियों के लिए टीम में आने के द्वार खोल सकता है।

1 / 2 NEXT
Published 31 Dec 2019, 16:24 IST
Advertisement
Fetching more content...