Create

3 प्रमुख कारणों से भारत के लिए विराट कोहली T20I में ओपनिंग का बेहतर विकल्प हो सकते हैं

विराट कोहली के सभी 6 टी20 शतक बतौर ओपनर ही आए हैं
विराट कोहली के सभी 6 टी20 शतक बतौर ओपनर ही आए हैं

एशिया कप (Asia Cup 2022) में अफगानिस्तान (Afghanistan cricket team) के खिलाफ विराट कोहली (Virat Kohli) के शानदार शतक ने भारत (Indian cricket team) के टूर्नामेंट में खराब प्रदर्शन को छुपाने का काम किया। लगभग 3 साल के इंतजार के बाद विराट कोहली का 71वां शतक इस प्रकार से आएगा शायद किसी ने नहीं सोचा था। भारत के लिए टी20 में विराट कोहली का यह पहला शतक है जो कि ओपनिंग करते हुए आया।

इससे पहले विराट कोहली का सर्वाधिक स्कोर 94 नाबाद था जो उन्होंने तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए बनाया था। भारत ने हालिया समय में ओपनिंग के कई विकल्प आजमाए हैं लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली है। रोहित शर्मा ने कुछ मैचों में अच्छा किया है लेकिन उनके जोड़ीदार के रूप में को बेहतर विकल्प नहीं मिला। ऐसे में हम उन 3 कारणों का जिक्र करने जा रहे हैं, जो विराट कोहली को T20I में भारत के लिए ओपनिंग करने का समर्थन करते हैं।

इन 3 कारणों से विराट कोहली को T20I में करनी चाहिए ओपनिंग

#1 आईपीएल में बतौर ओपनर खेलते हैं

आईपीएल में अपनी शतकीय पारी के दौरान विराट कोहली
आईपीएल में अपनी शतकीय पारी के दौरान विराट कोहली

विराट कोहली ने आईपीएल में आरसीबी के लिए 215 में से 84 पारियों में पारी की शुरुआत की है। इस दौरान उन्होंने पांच शतक और 20 अर्धशतकों की मदद से 2972 रन बनाए हैं। उनका औसत 41.86 और स्ट्राइक रेट 134.54 का है। इस स्थान पर विराट कोहली ने अपने आईपीएल करियर के सर्वाधिक रन बनाए हैं और साथ ही उन्होंने करियर के पांचों शतक बतौर सलामी बल्लेबाज ही जड़े हैं।

इस स्थान पर उनका औसत बाकी स्थानों से काफी बेहतर है। आईपीएल के आंकड़ों को देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा कि विराट कोहली बतौर ओपनर ज्यादा असरदार साबित हो सकते हैं।

#2 T20I में भी ओपनर के तौर पर रहा है शानदार प्रदर्शन

बल्लेबाजी के दौरान शॉट खेलते विराट कोहली
बल्लेबाजी के दौरान शॉट खेलते विराट कोहली

विराट ने टी20 अंतरराष्ट्रीय में भले ही अब तक मात्र 9 पारियों में ही टीम के लिए ओपन किया हो मगर ओपनिंग करते हुए उनका औसत सबसे अधिक है। बतौर ओपनर उन्होंने 9 पारियों में एक शतक और दो अर्धशतकों की मदद से 400 रन बनाए हैं जिसमें उनका औसत 57.14 और स्ट्राइक रेट 161.29 का है।

वही नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने 67 पारियों में 27 अर्धशतकों की मदद से 2623 रन बनाए हैं जिसमें उनका औसत 54.65 और स्ट्राइक रेट 135.07 का है। इन आंकड़ों से साफ पता चलता है कि विराट कोहली बतौर ओपनर औसत और स्ट्राइक रेट ज्यादा बेहतर है और उन्हें इस स्थान पर खिलाया जा सकता है।

#3 रोहित शर्मा के साथ तालमेल बेहतर

विराट कोहली और रोहित शर्मा बल्लेबाजी करते हुए
विराट कोहली और रोहित शर्मा बल्लेबाजी करते हुए

रोहित शर्मा और विराट कोहली दोनों मौजूदा टीम के वरिष्ठ खिलाड़ियों में शामिल हैं। न सिर्फ मैदान में बल्कि मैदान से बाहर भी इन दोनों खिलाड़ियों का तालमेल काफी अच्छा है और कई मौकों पर यह दोनों खिलाड़ी एक दूसरे के लिए मीडिया के सामने खड़े होते नजर आए हैं। इन दोनों खिलाड़ियों ने मिलकर कुल 28 पारियों में 1053 बनाएं हैं जो कि छोटे प्रारूप में भारत के लिए तीसरे सबसे ज्यादा साझेदारी के रन हैं। दोनों ही दिग्गज बल्लेबाजों को काफी अनुभव भी है। ऐसे में ये दोनों खिलाड़ी अगर टीम के लिए ओपन करते हुए नजर आएंगे तो सामने वाली टीम के गेंदबाजों पर दबाव बढ़ सकता है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment