Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

150 से ज्यादा गेंद खेलकर वनडे इतिहास की 3 सबसे धीमी पारी

Nikky
ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
Modified 21 Dec 2019, 00:36 IST

जावेद मियांदाद 
जावेद मियांदाद 

मौजूदा समय में अगर कोई क्रिकेटर वनडे क्रिकेट में 60 के स्ट्राइक रेट से खेलता है, तो उस खिलाड़ी को वनडे क्रिकेट का खिलाड़ी नही माना जाता है और टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता है। आज से 30 साल पहले ऐसा नहीं था। बड़े से बड़े खिलाड़ी का भी स्ट्राइक रेट 40-50 का हुआ करता था।

आज टी20 क्रिकेट आने से वनडे क्रिकेट भी बिल्कुल बदल चुका है। आज खिलाड़ियों का स्ट्राइक रेट 100 से भी ऊपर का होता है और एबी डीविलियर्स जैसे खिलाड़ी ऐसे होते हैं, जो 31 गेदों पर भी शतक बना देते हैं।

आज वनडे क्रिकेट में बल्लेबाज विकेट में आते ही बड़े-बड़े शॉट खेलता है। अब बहुत कम ही बल्लेबाज से वनडे क्रिकेट में धीमी पारीयां देखने को मिलती है। हालांकि, पूर्व में वनडे इतिहास की कई धीमी पारियां हमकों देखने को मिली है। आज हम वनडे की 3 उन धीमी पारियों के बारे में ही बात करने वाले हैं। जिसमें बल्लेबाजों ने 150 से ज्यादा गेंदों का सामना किया।

यह भी पढ़ें: महेंद्र सिंह धोनी अभी नहीं करेंगे क्रिकेट में वापसी, बांग्लादेश के खिलाफ नहीं खेलेंगे टी20 सीरीज

3. मोहसिन खान

मोहसिन खान
मोहसिन खान

1983 के विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल में पाकिस्तान के ओपनर मोहसिन खान ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 176 गेदों में मात्र 70 रन की बहुत ही धीमी पारी खेली थी। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 39.77 का ही रहा था. यह 150 से ज्यादा गेंदे खेलने वाले बल्लेबाज की वनडे क्रिकेट की तीसरी सबसे धीमी पारी है।

इस मैच में पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा था। वह अपनी इस पारी के दौरान मात्र एक चौका लगा पाए थे। पाकिस्तान की टीम इस मैच में मात्र 184 रन ही बना पाई थी और इस लक्ष्य को वेस्टइंडीज ने 2 विकेट खोकर आसानी से हासिल कर लिया था।


Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

1 / 2 NEXT
Published 27 Sep 2019, 09:55 IST
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...