Create

3 मुश्किल सवाल जो WTC Final से पहले भारतीय टीम के सामने हैं

भारतीय टेस्ट टीम
भारतीय टेस्ट टीम

भारतीय टीम का विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का सफर अभी तक काफी चुनौतीपूर्ण रहा है, जिसका इस टीम ने अभी तक बखूबी सामना किया है। वेस्टइंडीज को उन्हीं के घर पर हराने के बाद भारतीय टीम ने अपने घर पर साउथ अफ्रीका और बांग्लादेश को मात दी और सभी को लग रहा था टीम आसानी से फाइनल में जगह बना लेगी लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ न्यूजीलैंड में टेस्ट सीरीज 2-0 से हारने के बाद भारत के सामने ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में हराने की कठिन चुनौती थी।

यह भी पढ़ें: 5 खिलाड़ी जो IPL में टीम का हिस्सा होने के बावजूद कभी प्लेइंग XI का हिस्सा नहीं बने

इस दौरे पर कई प्रमुख खिलाड़ियों के चोटिल होने के बावजूद इस टीम ने ऑस्ट्रेलिया को उन्हीं के घर पर एक बार फिर टेस्ट सीरीज में पटखनी दी। इसके बाद टीम ने इंग्लैंड को टेस्ट सीरीज में हराकर फाइनल में अपनी जगह पक्की की। इंग्लैंड की परिस्थितियां न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों को रास आएंगी और टीम पहले ही पहुँच चुकी है। ऐसे में न्यूजीलैंड के पास भारतीय टीम की तुलना में ज्यादा समय होगा। भारत को फाइनल जीतने के लिए अपना बेहतरीन खेल दिखाना होगा और उससे पहले उनके सामने कुछ सवाल हैं, जिनका उत्तर भारत को निश्चित तौर पर ही खोजना होगा।

3 मुश्किल सवाल जो WTC Final से पहले भारतीय टीम के सामने हैं

#3 किन तीन गेंदबाजों को फाइनल में मौका दिया जाए?

मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह
मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह

भारतीय टीम के पास मौजूदा समय में कई विश्वस्तरीय गेंदबाज मौजूद हैं और उनके पास तेज गेंदबाजों के चुनाव के लिए कई सारे विकल्प मौजूद हैं। टीम के पास तेज गेंदबाजी में इशांत, शमी, बुमराह, सिराज, शार्दुल जैसे गेंदबाज मौजूद हैं। ऑस्ट्रेलिया दौरे में कई प्रमुख गेंदबाजों की अनुपस्थिति में सिराज और शार्दुल ने लाजवाब प्रदर्शन किया था और भारत की ऐतिहासिक सीरीज जीत में अहम योगदान दिया था। कई लोगों का मानना है कि बुमराह और शमी के साथ सिराज को खिलाया जाए, वहीं कई लोगों ने इशांत को अनुभवी होने के कारण मौका देने की बात कही है। ऐसे में विराट के सामने फाइनल के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजी आक्रमण चुनने की चुनौती होगी।

#2 जडेजा और अश्विन में से एक को खिलाया जाए या फिर दोनों को?

रविंद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन
रविंद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जब विराट की जगह रहाणे ने टीम की कमान संभाली तो उन्होंने टीम में स्पेशलिस्ट बल्लेबाज को खिलाने के बजाय ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा को खिलाया। इससे भारतीय टीम को गेंदबाजी में एक और विकल्प मिल गया। यह निश्चित रूप से एक मास्टरस्ट्रोक साबित हुआ क्योंकि जडेजा ने बॉक्सिंग डे टेस्ट में अर्धशतक बनाया और महत्वपूर्ण विकेट भी लिए, जिससे भारत को श्रृंखला में वापसी करने में मदद मिली। हालांकि इंग्लैंड में मुश्किल बल्लेबाजी परिस्थितियां होती है और वहां पर हनुमा विहारी को खिलाया जा सकता है। ऐसे में अगर विहारी खेलते हैं तो फिर जडेजा या अश्विन में से किसी एक को ही मौका मिलेगा।

#1 रोहित के जोड़ीदार के रूप में किसे मौका दिया जाए?

शुभमन गिल और मयंक अग्रवाल
शुभमन गिल और मयंक अग्रवाल

रोहित शर्मा का बतौर ओपनर टेस्ट में बहुत ही उम्दा प्रदर्शन रहा है और मौजूदा समय में वह भारत के प्रमुख टेस्ट बल्लेबाज बन चुके हैं। रोहित ने घर के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी अच्छी बल्लेबाजी की थी और टीम के लिए मुश्किल हालातों में रन बनाये। ऐसे में फाइनल में उनका खेलना तय है लेकिन उनके जोड़ीदार के रूप में किसे मौका मिलेगा, इस पर चर्चा बनी हुयी है। रोहित के जोड़ीदार के रूप में मयंक अग्रवाल या शुभमन गिल में से किसी एक को ही मौका मिलेगा। गिल का इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में बहुत ही साधारण प्रदर्शन रहा और चार टेस्ट में उनके बल्ले से कोई बड़ी पारी नहीं देखने को मिली। हालांकि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में अच्छा किया था।

वहीं मयंक अग्रवाल को ऑस्ट्रेलिया दौरे में दो टेस्ट मैचों के बाद ड्रॉप कर दिया गया था। मयंक का इससे पहले काफी बेहतरीन प्रदर्शन रहा था। हालांकि यह दोनों ही बल्लेबाज स्विंग गेंदबाजी के सामने संघर्ष करते हैं और इसीलिए कप्तान विराट कोहली के सामने दूसरे ओपनर के रूप में किसे मौका दिया जाए, यह मुश्किल सवाल होगा।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment