Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

वनडे में सबसे ज्यादा स्टंपिंग करने वाले 3 विकेटकीपर

एम एस धोनी
एम एस धोनी
SENIOR ANALYST
Modified 24 Jun 2020, 13:36 IST
टॉप 5 / टॉप 10
Advertisement

वनडे में विकेटकीपर्स की भूमिका काफी अहम होती है। एक विकेटकीपर विकेटों के पीछे से अपनी चपलता दिखाते हुए मैच का रुख पलट सकता है। शानदार स्टंपिंग और विकेटकीपिंग क्रिकेट के किसी भी फॉर्मेट में काफी अहम होते हैं। अब तक वनडे क्रिकेट में कई शानदार विकेटकीपर्स हुए हैं।

कुमार संगकारा, एडम गिलक्रिस्ट, मार्क बाउचर और एम एस धोनी जैसे दिग्गज खिलाड़ियों ने विकेटकीपिंग में कई सारे कीर्तिमान अपने नाम किए हैं। इन खिलाड़ियों ने विकेटकीपिंग में एक नया आयाम स्थापित किया है। अक्सर जब भी विकेटकीपिंग की बात होती है तो इन खिलाड़ियों का नाम लिया जाता है।

ये भी पढ़ें: 2 कारण क्यों इस साल सिर्फ मुंबई में ही आईपीएल मैचों का आयोजन कराना ज्यादा सही रहेगा

विकेटकीपिंग में सबसे ज्यादा मुश्किल काम होता है स्टंपिंग करना। स्टंपिंग करने के लिए एक विकेटकीपर को काफी पैनी निगाह रखनी होती है और साथ ही उसे काफी चपलता भी दिखानी होती है। एम एस धोनी इस मामले में काफी माहिर माने जाते हैं और कई बार उन्होंने अपनी शानदार स्टंपिंग का नमूना भी पेश किया है। आज हम आपको वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग करने वाले 3 विकेटकीपर्स के बारे में बताएंगे। चौंकाने वाली बात ये है कि इस लिस्ट के टॉप 3 में एडम गिलक्रिस्ट जैसे दिग्गज विकेटकीपर का नाम नहीं है

3.रमेश कालूवितराना

रमेश कालूवितराना
रमेश कालूवितराना

रमेश कालूवितराना काफी आक्रामक बल्लेबाज थे और वो 1996 में वर्ल्ड कप जीतने वाली श्रीलंकाई टीम का भी हिस्सा थे। कहा जाता है कि रमेश कालूवितराना और सनथ जयसूर्या की सलामी जोड़ी ने वनडे क्रिकेट में ओपनिंग की परिभाषा ही बदल दी थी। ये जोड़ी काफी आक्रामक ओपनिंग करती थी।

रमेश कालूवितराना ने 1990 से लेकर 2004 तक श्रीलंका टीम के लिए 189 वनडे मैच खेले। इस दौरान उन्होंने कुल मिलाकर 206 शिकार किए, जिसमें से 131 कैच उन्होंने पकड़े। इसके अलावा इस दौरान रमेश कालूवितराना ने 75 स्टंपिंग भी किए।

1 / 3 NEXT
Published 24 Jun 2020, 13:34 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit