Create
Notifications

4 बदलाव जो भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में करने चाहिए

आशीष कुमार
visit

इंग्लैंड में टीम इंडिया का बुरा समय जारी है। भारतीय टीम को लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर एक पारी और 159 रनों से हार मिली और अब भारत इस सीरीज़ में 0-2 से पिछड़ रहा है। भारतीय बल्लेबाजों का खराब प्रदर्शन हार के प्रमुख कारणों में से एक रहा। पहले दो टेस्ट मैचों में भारत ने अपनी टीम चुनने में गलती की, जिसका खामियाजा टीम को हार के रूप में भुगतना पड़ा। इंग्लैंड के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज में वापसी करने के लिए तीसरे टेस्ट में भारत को कम से कम टीम में चार बदलाव करने की ज़रूरत होगी। आइए नजर डालते हैं उन 4 खिलाड़ियों पर जिन्हें तीसरे टेस्ट में मौका दिया जाना चाहिए:

मुरली विजय की जगह शिखर धवन

मुरली विजय से इस टेस्ट सीरीज़ में बड़ी भूमिका निभाने की उम्मीद थी, लेकिन उन्होंने अपने प्रदर्शन से सभी को निराश किया। विजय ने अपनी चार पारियों में केवल 26 रन बनाए हैं और स्विंग होती गेंदों के खिलाफ उन्होंने संघर्ष किया है। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने विदेशी परिस्थितियों में निराशाजनक प्रदर्शन किया है और उनका कुल औसत 40 से नीचे गिर गया है। विजय की जगह तीसरे टेस्ट में शिखर धवन को टीम में शामिल किया जा सकता है। हालांकि धवन ने भी विदेशी परिस्थितियों में संघर्ष किया है, लेकिन वह आक्रमक बल्लेबाज़ हैं। इसके अलावा धवन एक बाएं हाथ के खिलाड़ी हैं और वह केएल राहुल के साथ एक अच्छी जोड़ी बना सकते हैं।

हार्दिक पांड्या की जगह करुण नायर

टीम में रविंद्र जडेजा की जगह हार्दिक पांड्या का चयन किया गया क्योंकि वह कोहली को अतिरिक्त तेज गेंदबाजी विकल्प देते हैं। हालांकि अब तक पांड्या का प्रदर्शन टेस्ट सीरीज़ में प्रभावशाली नहीं रहा है। उन्हें पहले टेस्ट में विकेट नहीं मिली, लेकिन उन्होंने दूसरे टेस्ट में तीन विकेट लिए लेकिन यह प्रदर्शन उन्हें टीम में बनाए रखने के लिए काफी नहीं होगा। इसके अलावा इस सीरीज में उनकी बल्लेबाजी भी चिंता का विषय है। ऐसे में पांड्या के स्थान पर करुण नायर को टीम में शामिल किया जा सकता है। वह भारतीय मध्य क्रम को मजबूती प्रदान कर सकते हैं।

कुलदीप यादव के स्थान पर जसप्रीत बुमराह या फिर उमेश यादव को जगह

भारतीय टीम को कुलदीप यादव से इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में वनडे और टी20 सीरीज जैसे प्रदर्शन की उम्मीद थी। हालांकि कुलदीप यादव लॉर्ड्स में इंग्लैंड आगे संघर्ष करते दिखे। उमेश यादव के स्थान पर चुने गए कुलदीप का इस्तेमाल विराट कोहली ने केवल 9 ओवरों में किया था। इंग्लैंड में हालात तेज गेंदबाजी के लिए अधिक उपयुक्त होते हैं, ऐसे में तीन तेज़ गेंदबाज़ टीम में होने से भारत को लाभ मिलेगा। भारत तीसरे टेस्ट से पहले जसप्रीत बुमराह के फिट होने का इंतजार कर रहा है। अगर वह पूर्ण फिट हो जाते हैं तो उन्हें अंतिम एकादश में शामिल किया जा सकता है, नहीं तो उमेश यादव को एक और मौका दिया जा सकता है।

दिनेश कार्तिक के स्थान पर ऋषभ पंत

रणजी ट्रॉफी और आईपीएल में रनों का ढेर लगाने के बाद दिनेश कार्तिक ने राष्ट्रीय टीम में वापसी की, लेकिन वह टेस्ट सीरीज में अबतक बुरी तरह विफल रहे हैं। तमिलनाडु के बल्लेबाज ने अपनी चार पारियों में केवल 21 रन बनाए हैं और दो बार शून्य पर आउट हुए हैं। इसके अलावा उनकी विकेटकीपिंग भी कुछ खास नहीं रही है। ऐसे में भारत को टेस्ट टीम में ऋषभ पंत को शामिल करने का समय आ गया है। पंत भारत ए के लिए दो महीने के लिए इंग्लैंड में हैं। उन्होंने वनडे श्रृंखला के बाद चार एकदिवसीय मैचों में भारत ए की तरफ से शानदार प्रदर्शन किया है। पंत अपनी आक्रमक बल्लेबाज़ी शैली के लिए जाने जाते हैं और उनकी प्रतिभा और क्षमता की इस समय टीम इंडिया को बहुत ज़रूरत है। तीसरे टेस्ट के लिए भारत की संभावित एकादश (इन परिवर्तनों के बाद): केएल राहुल, शिखर धवन, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, करुण नायर, ऋषभ पंत, रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शामी, ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह / उमेश यादव लेखक: रैना सिंह अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now