आईपीएल में मुंबई इंडियंस की ओर से खेलने वाले चार दुर्भाग्यशाली खिलाड़ी

<p>

मुंबई इंडियंस को आईपीएल की कुछ सर्वाधिक सफल टीमों में एक माना जाता है। मुंबई टीम ने आईपीएल खिताब तीन बार अपने नाम किया है। मुंबई इंडियंस के अलावा यह रिकॉर्ड चेन्नई सुपरकिंग्‍स के नाम भी है। मुंबई इंडियंस ने अपना पहला खिताब 2013 के आईपीएल सीजन में जीता था, जबकि 2015 और 2017 का खिताब भी उन्हीं के नाम रहा। इन तीनों ही मुकाबलों में मुम्‍बई इंडियंस टीम के कप्‍तान रोहित शर्मा रहें। मुंबई इंडियंस के लिए कीरोन पोलार्ड कई सालों से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। साथ ही लसिथ मलिंगा ने मुंबई इंडियंस की गेंदबाजी की कमान संभाली है।

मुंबई इंडियंस की टीम में कुछ ऐसे भी खिलाड़ी रहे जिन्हें खेलने के ज्यादा मौके नहीं दिए गए। किंतु जब इन खिलाड़ियों को अन्य आईपीएल टीम में चुना गया और खेलने का मौका दिया गया, तो उन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन से सभी दर्शकों का दिल जीत लिया। तो आइए जान लेते हैं ऐसे ही चार क्रिकेटर के बारे में जो मुंबई इंडियंस के लिए खेलते हुए दुर्भाग्यशाली रहे।

#4 युजवेंद्र चहल

Enter caption

वर्तमान में युजवेंद्र चहल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारतीय टीम के लिए मुकाबले खेल रहे हैं। युजवेंद्र चहल एक स्पिनर गेंदबाज हैं जो विश्व कप 2019 के लिए टीम में अपनी जगह पक्की कर चुके हैं। आईपीएल में युजवेंद्र चहल को रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु टीम की ओर से खेलते हुए देखा गया, लेकिन क्या आप जानते हैं कि 2011 से लेकर 2013 तक युजवेंद्र चहल मुंबई इंडियंस का भी हिस्सा रहे हैं। हालांकि युजवेंद्र चहल को मुंबई टीम में वह लाइमलाइट नहीं मिली जो उन्हें बेंगलुरु की ओर से खेलने के बाद प्राप्त हुई।

मुंबई इंडियंस की टीम में हरभजन सिंह के होने की वजह से युजवेंद्र चहल को ज्यादा मुकाबले खेलने का मौका नहीं मिल पाए। यदि युजवेंद्र चहल को मुंबई की ओर से नियमित रूप से खेलने का मौका दिया जाता तो वह बहुत पहले ही टीम इंडिया में अपनी जगह बना सकते थे।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

#3 ग्लेन मैक्सवेल

<p>

ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल लंबे-लंबे छक्के मारने के लिए विश्व भर में जाने जाते हैं। ग्लेन मैक्सवेल को मुंबई टीम ने 2013 के सीजन में अपनी टीम का हिस्सा बनाया। किंतु उन्हें सिर्फ तीन मुकाबले खेलने का मौका दिया गया। रोहित शर्मा,दिनेश कार्तिक और अंबाती रायडू के फॉर्म में होने के कारण वह अपनी जगह बनाने में नाकामयाब रहे। मुंबई इंडियंस की ओर से खेले गए तीनों मुकाबले में उन्होंने सिर्फ 36 रन ही बनाए जिसके कारण अगले सीजन उन्हें टीम में वापस नहीं लिया गया। ग्लेन मैक्सवेल को अगले सीजन पंजाब की टीम द्वारा चुना गया। जहां उन्होंने शानदार प्रदर्शन करते हुए 10 अर्धशतक सहित 1000 से अधिक रन बनाए।

#2 धवल कुलकर्णी

<p>

धवल कुलकर्णी को राजस्थान रॉयल्स टीम का शानदार गेंदबाज माना जाता है। साथ ही उन्होंने डोमेस्टिक क्रिकेट में भी काफी अच्छा प्रदर्शन किया। 2008 के बाद लगातार 6 सीजन में धवल कुलकर्णी को मुंबई इंडियंस की टीम की ओर से चुना गया। धवल कुलकर्णी ने मुंबई की ओर से 30 से अधिक मुकाबले खेले किंतु उन्हें नियमित रूप से टीम में खेलने का मौका नहीं दिया गया। लसिथ मलिंगा, शॉन पोलॉक, जहीर खान आदि गेंदबाज के होते हुए भी टीम में अपना कोई विशेष स्थान नहीं बना पाए। किंतु उन्हें यह मौका राजस्थान रॉयल्स की तरफ से दिया गया।

#1 अजिंक्य रहाणे

<p>

भारत के सफल बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेलने से पहले शुरूआती तीन आईपीएल के सीजन में मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा रहे हैं। किंतु इस दौरान अजिंक्य रहाणे टीम में अपनी जगह नियमित रूप से पक्की नहीं कर पाए। अजिंक्य रहाणे को आईपीएल के तीनों सीजन में सिर्फ 10 मुकाबले खेलने का मौका दिया गया, किंतु अजिंक्य रहाणे का प्रदर्शन संतोषजनक रहा। इन मुकाबलों में अजिंक्य रहाणे ने कुल 148 रन बनाए जिसमें दो अर्धशतक शामिल थे।

2011 में आईपीएल सीजन के दौरान अजिंक्य रहाणे को राजस्थान रॉयल्स टीम में लिया गया, जो वर्तमान में उस टीम के कप्तान हैं। अजिंक्य रहाणे ने राजस्थान रॉयल की ओर से 80 मुकाबलों में दो हजार से अधिक रन बनाए हैं जिसमें 16 अर्धशतक और एक शतक शामिल हैं। अगर अजिंक्य रहाणे को मुंबई इंडियंस की ओर से उचित बल्लेबाजी क्रम में मौका दिया जाता तो वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दे सकते थे।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता