IPL 2020: चेन्नई सुपर किंग्स के 4 युवा खिलाड़ी जिन पर होगी सबकी नजर

केएम आसिफ
केएम आसिफ

इंडियन प्रीमियर लीग में हर बार सभी फ्रेंचाइजी इसी लक्ष्य से खेलने उतरती हैं, जिससे वह बेहतरीन प्रदर्शन करके आईपीएल का खिताब अपने नाम कर सकें। हालांकि हर साल कोई एक टीम ही हमारे सामने चैंपियन बनकर निकलती है। आईपीएल के इतिहास को उठाकर देखें, तो इस टूर्नामेंट में खेलने वाली दो ही टीमें ऐसी हैं, जिन्होंने दो बार से ज्यादा आईपीएल का खिताब अपने नाम किया है, इनमें पहली टीम है मुंबई इंडियंस और दूसरी टीम है चेन्नई सुपर किंग्स।

मुंबई इंडियंस ने जहां चार बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया है और इस टूर्नामेंट की सबसे सफल टीम के रूप में अपनी पहचान बनाई है, वहीं चेन्नई सुपर किंग्स ने भी तीन बार आईपीएल का खिताब जीता है और सबसे ज्यादा बार प्लेफऑफ में भी जगह बनाई है। चेन्नई सुपर किंग्स ने सबसे पहले 2010 में आईपीएल का खिताब जीता था और उसके बाद साल 2011 और 2018 में भी आईपीएल का खिताब अपने नाम किया।

यह भी पढ़ें : आईपीएल में सबसे ज्यादा कैच पकड़ने वाले टॉप 5 विकेटकीपर, लिस्ट में केवल भारतीय खिलाड़ी

इस टीम को चैंपियन बनाने में फ्रेंचाइजी में शामिल खिलाड़ियों का अहम योगदान रहा है, जिसमें कई अनुभवी चेहरे और कई युवा चेहरे शामिल रहे हैं। यही नहीं टीम के जरिए कई युवा चेहरों ने इस लीग में शानदार प्रदर्शन कर भारतीय टीम में भी जगह बनाई है। हालांकि उससे पहले हम आपको चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से आईपीएल 2020 में खेलने वाले चार ऐसे युवा खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन पर आगामी सीजन के दौरान सभी की नजरें रहेंगी।

जानिए कौन हैं वो 4 खिलाड़ी:-

#4 नारायण जगदीशन

नारायण जगदीशन
नारायण जगदीशन

नारायण जगदीशन की बात करें, तो इस विकेटकीपर खिलाड़ी ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत तमिलनाडु की टीम से साल 2016 में मध्यप्रदेश के खिलाफ की थी। जिसके बाद से बेहद कम समय में बेहतरीन प्रदर्शन के कारण इस खिलाड़ी को साल 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स में शामिल किया गया। जगदीशन ने अपने फर्स्ट क्लास क्रिकेट करियर में 23 मैचों में 39.1 के औसत से कुल 1174 रन बनाए हैं, जिनमें 4 शतक और 4 अर्धशतक भी शामिल हैं। इसके अलावा टी20 क्रिकेट में उनका स्ट्राइक रेट भी 111 से ज्यादा का है। वहीं टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की बढ़ती उम्र को देखते हुए इस विकेट कीपर बल्लेबाज को सीएसके की प्लेइंग इलेवन में मौका दिया जा सकता है और ऐसे में सभी की नजरें इस युवा खिलाड़ी पर होगी।

#3 ऋतुराज गायकवाड

ऋतुराज गायकवाड
ऋतुराज गायकवाड

इस लिस्ट में दूसरा नाम है महाराष्ट्र की टीम के सलामी बल्लेबाज ऋतुराज गायकवाड का, जिन्होंने अपनी घरेलू टीम की ओर से लगातार बेहतरीन प्रदर्शन किया है। इसके अलावा वह सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2018-19 में महाराष्ट्र की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे थे। इसके अलावा उन्होंने अपने फर्स्ट क्लास क्रिकेट करियर में 21 मैचों में 1349 रन बनाए हैं, जिसमें 4 शतक और 6 अर्धशतक भी शामिल हैं। जबकि उन्होंने अपने टी20 करियर में 28 मैचों में 135 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से कुल 843 रन बनाए हैं। ऐसे में ऋतुराज गायकवाड आने वाले समय में चेन्नई के एक उभरते हुए बल्लेबाज के रूप में दिख सकते हैं।

#2 केएम आसिफ

केएम आसिफ
केएम आसिफ

केएम आसिफ ने अपने आईपीएल करियर की शुरुआत चेन्नई सुपर किंग्स के साथ ही की थी। उन्होंने अपना पहली सीजन 2018 में खेला था, हालांकि उस दौरान उन्हें केवल 2 ही मैच खेलने का मौका मिला। जिसमें उन्होंने 2 मैचों में 75 रन देकर 3 विकेट लिए थे। हालांकि केएम आसिफ ने अपनी पहचान एक आलराउंडर के रूप में बनाई है। इसके अलावा आसिफ का घरेलू क्रिकेट करियर भी बेहद शानदार रहा है। हालांकि अब यह देखने वाली बात होगी कि क्या उन्हें आगामी सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स की प्लेइंग इलेवन में शामिल किया जाता है, और अगर ऐसा हुआ तो इस उभरते हुए खिलाड़ी पर सबकी नजरें होंगी।

#1 आर साई किशोर

आर साई किशोर
आर साई किशोर

तमिलनाडु क्रिकेट टीम की ओर से अपने घरेलू क्रिकेट करियर की शुरुआत करने वाले आर साई किशोर एक उभरते हुए गेंदबाज हैं, जिन्होंने अपने फर्स्ट क्लास क्रिकेट करियर में 17 मैचों में 2.68 की इकॉमी रेट से कुल 48 विकेट चटकाए हैं। इसके अलावा उनका टी20 क्रिकेट में भी प्रदर्शन अच्छा रहा है। उन्होंने टी20 क्रिकेट करियर में 22 मैचों में 5.45 के इकॉनमी रेट से कुल 25 विकेट चटकाए हैं। उनके इस प्रदर्शन को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स की प्लेइंग इलेवन में शामिल किया जा सकता है।

Quick Links

App download animated image Get the free App now