Create

4 बल्लेबाज जिन्होंने सबसे कम उम्र में 9000 टेस्ट रन पूरे किये  

इन बल्लेबाजों ने सबसे कम उम्र में यह उपलब्धि हासिल की
इन बल्लेबाजों ने सबसे कम उम्र में यह उपलब्धि हासिल की
reaction-emoji
Prashant Kumar

क्रिकेट खेलने वाले हर खिलाड़ी का सपना होता है कि वो टेस्ट क्रिकेट में अपने देश का प्रतिनिधित्व करे। कुछ खिलाड़ियों को कई वर्षों तक वनडे (ODI) और टी20 (T20) खेलने के बाद यह सौभाग्य प्राप्त होता है और कुछ खिलाड़ी अपने इस सपने को कम उम्र में ही हासिल करने में सफल होते हैं। चूंकि टेस्ट क्रिकेट सबसे मुश्किल प्रारूप है, हर खिलाड़ी इसमें सफलता हासिल करने में कामयाब नहीं हो पाता। स्किल के साथ-साथ टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए धैर्य का होना भी बहुत ज़रूरी होता है। इसलिए टेस्ट क्रिकेट में बनाए गए हर रन का महत्व बाकी प्रारूपों के मुकाबले बढ़ जाता है।

टेस्ट क्रिकेट में 9000 रन बनाना किसी भी बल्लेबाजी की सफतला को साफ़ तौर पर दर्शाने के लिए काफी है। सबसे कठिन प्रारूप में इस मुकाम तक पहुँचने के लिए आपका निरंतर अच्छा प्रदर्शन करना बहुत जरूरी होता है। इस मुकाम तक कुछ खिलाड़ी अपने करियर के आखिर तक पहुँचते हैं तो कुछ खिलाड़ी कुछ सालों में ही। आज हम अपने इस आर्टिकल में उन 4 बल्लेबाजों का जिक्र करने जा रहे हैं, जिन्होंने सबसे कम उम्र में 9000 टेस्ट रन बनाये हैं।

4 बल्लेबाज जिन्होंने सबसे कम उम्र में 9000 टेस्ट रन पूरे किये

#4 रिकी पोंटिंग (31 साल, 341 दिन)

रिकी पोंटिंग चौथे पायदान पर हैं
रिकी पोंटिंग चौथे पायदान पर हैं

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज खिलाड़ी, रिकी पोंटिंग ने यह कारनामा केवल 31 वर्ष और 341 दिनों की उम्र में ही कर दिखाया था। उन्होंने यह कारनामा अपने करियर की 177वीं पारी में किया था। पोंटिंग विश्व क्रिकेट के सबसे सफल कप्तानों में से एक हैं। वनडे और टेस्ट दोनों ही प्रारूपों में पोंटिंग की कप्तानी का जलवा रहा। इसके अलावा अपने टेस्ट करियर में पोंटिंग ने 168 मैचों में 13378 रन बनाए और ऑस्ट्रेलिया के सबसे सफल टेस्ट बल्लेबाज के रूप में काबिज हैं।

#3 सचिन तेंदुलकर (30 साल, 253 दिन)

सचिन तेंदुलकर का नाम भी शामिल है
सचिन तेंदुलकर का नाम भी शामिल है

महज़ 16 साल की उम्र में टेस्ट पदार्पण करने वाले सचिन दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज़ थे और इस बात में कोई दोराय नहीं है। सचिन ने अपने टेस्ट कैरियर में 9000 रनों का आंकड़ा 30 वर्ष और 253 दिनों की आयु में ही हासिल कर लिया था। तेंदुलकर ने 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेले जा रहे टेस्ट के दौरान अपनी 179वीं पारी में इस आंकड़े को पूरा किया था।

टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा मैच खेलने और उनमें रन बनाने का रिकॉर्ड भी सचिन के नाम है। उन्होंने कुल 200 मैच खेलकर 15921 रन बनाए और विश्व क्रिकेट में अपना दबदबा बनाया।

#2 जो रूट (30 साल, 227 दिन)

जो रुट
जो रुट

रूट इंग्लैंड की टेस्ट टीम के मौजूदा कप्तान हैं। 14 अगस्त 2021 को वह कई दिग्गजों को पीछे छोड़ कर इस सूची में शुमार हो गए। जो रूट ने अपने टेस्ट कैरियर में 9 हज़ार रन 30 वर्ष और 227 दिनों की उम्र में बना लिए हैं। उन्होंने यह कारनामा भारत के खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान पर खेलते हुए पूरा किया। इंग्लैंड की पहली पारी में वह अंत तक टिके रहे और पूरी टीम के ऑल आउट होने तक 180 रन बना कर नाबाद लौटे। रुट 9000 रन के आंकड़े को अपनी 196वीं टेस्ट पारी में हासिल करने में कामयाब हुए।

#1 एलिस्टेयर कुक (30 साल, 159 दिन)

एलिस्टेयर कुक
एलिस्टेयर कुक

इंग्लैंड के पूर्व ओपनिंग बल्लेबाज़ और कप्तान, एलिस्टेयर कुक ने अपने करियर में 9000 टेस्ट रन 30 वर्ष और 159 दिनों की उम्र में पूरे किये और इस तरह वो सबसे कम उम्र में यह उपलब्धि हासिल करने वाले बल्लेबाज हैं। कुक ने यह मुकाम 2015 में न्यूजीलैंड के खिलाफ हासिल किया था। कुक टेस्ट में इंग्लैंड के लिए सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

comments icon

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...