क्रिकेट रिकॉर्ड: वनडे में लक्ष्य का सफल पीछा करते हुए सर्वाधिक औसत वाले 5 बल्लेबाज

Ankit
Enter caption

वर्ष 2018 भारतीय पूर्व कप्तान एम एस धोनी के लिए काफी बुरा वर्ष साबित हुआ। वह पूरे वर्ष अपनी फॉर्म से जूझते हुए नजर आए। मगर नए वर्ष के पहले ही वनडे में उन्होंने अर्धशतक से शुरुआत की। पहले सिडनी वनडे में उन्होंने 96 गेंदों में 51 रनों की धीमी पारी खेली। भारत यह मैच 34 रनों से हार गया। धोनी की इस धीमी पारी की काफी आलोचना हुई।

दूसरे एडिलेड वनडे में भारत के सामने 299 रनों का बड़ा लक्ष्य था। कप्तान विराट कोहली के शानदार शतक व धोनी के बेहतरीन अर्धशतक की मदद से भारत ने यह मैच 4 गेंद शेष रहते 6 विकेट से अपने नाम किया। कोहली ने 104 रन बनाए, वहीं धोनी ने नाबाद 55 रनों की पारी खेली।

एमएस धोनी और विराट कोहली सबसे बड़े मैच फिनिशर हैं। वह लक्ष्य का सफल पीछा करने वाले सबसे सफल बल्लेबाजों में शूमार हैं।

अब बात करते हैं उन 5 बल्लेबाजों की जिनका लक्ष्य का सफल पीछा करते हुए औसत सबसे ज्यादा है:

# 5 जो रुट (औसत -77.80)

तकनीकी रूप से सक्षम रुट टीम के काफी भरोसेमंद बल्लेबाज हैं और टीम की बल्लेबाजी क्रम की धुरी हैं। वह इंग्लैंड की ओर से लक्ष्य का पीछा करने वाले सबसे सफल बल्लेबाज हैं। उन्होंने अब तक 34 ऐसी पारियां खेली हैं जिनमे उन्होंने लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड को मैच जिताया है। इन पारियों में रुट ने 77.80 की औसत से 1836 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 4 शतक व 8 अर्धशतक भी अपने नाम दर्ज किए हैं।

इंग्लैंड की ओर से अब तक उन्होंने 121 वनडे मैच खेले हैं, जिसमे उन्होंने 115 पारियों में 4946 रन बनाए हैं। महज 54 रन और बनाकर रुट इंग्लैंड की और से वनडे इतिहास में पांच हजार रन बनाने वाले सिर्फ चौथे बल्लेबाज बन जायेंगे। उनसे आगे इस श्रेणी में इयान बेल ,पॉल कॉलिंगवुड और इयॉन मॉर्गन ही हैं। 27 वर्षीय रुट इंग्लैंड की टेस्ट टीम की कप्तानी भी करते हैं।

# 4 एबी डीविलियर्स (औसत - 82.77)

Enter cap

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज एबी डीविलियर्स ने अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय क्रिकेट में अपना पर्दापण 2 फरवरी 2005 को इंग्लैंड के खिलाफ किया था। उनका अंतर्राष्ट्रीय करियर शानदार रहा। क्रिकेट के सीमित प्रारूप में डीविलियर्स मैदान की चारों दिशाओं में शॉट्स लगाने के लिए जाने जाते हैं। उन्हें इस अदभुत बल्लेबाजी के कारण 'मिस्टर 360' के नाम से भी जाना जाता है।

डीविलियर्स दक्षिण अफ्रीका के सबसे सफल मैच फिनिशर रहे हैं, उनके आंकड़े ये कहानी बयाँ करते हैं। उन्होंने दूसरी पारी में 59 पारी ऐसी खेली हैं, जिनमें दक्षिण अफ्रीका मैच जीतने में सफल रही है। उन्होंने इन 59 पारियों में 82.77 की शानदार औसत से 2566 रन बनाए हैं। इस दौरान डीविलियर्स ने 5 शतक व 18 अर्धशतक भी अपने नाम दर्ज किए हैं। लक्ष्य का सफल पीछा करते हुए उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 136 रन रहा है। वह इस बीच 28 पारियों में नाबाद भी रहे।

# 3 माइकल बेवन (औसत - 86.25)

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज माइकल बेवन ने वनडे क्रिकेट में अपना पर्दापण 14 अप्रैल 1994 को श्रीलंका के खिलाफ किया था। उनका अंतर्राष्ट्रीय करियर शानदार रहा। उन्होंने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में 232 वनडे मैचों की 196 पारी में 6912 रन अपने नाम किये। इस बीच उन्होंने 6 शतक व 46 अर्धशतक भी अपने नाम दर्ज किए। यह रन उन्होंने 53.17 की शानदार औसत से बनाये। उनका उच्चतम स्कोर 108 रन रहा।

बाएं हाथ के बल्लेबाज माइकल बेवन ने लक्ष्य का पीछा करते हुए 45 ऐसी पारियां खेली, जिनमे ऑस्ट्रेलिया मैच जीतने में सफल रही। उन्होंने इन पारियों में 86.25 की औसत से 1725 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 3 शतक व 12 अर्धशतक भी अपने नाम दर्ज किए।

गौरतलब है कि माइकल बेवन ऑस्ट्रेलिया के इतिहास के सबसे सफल मैच फिनिशर साबित हुए हैं। लक्ष्य का पीछा करते हुए बेवन 25 बार नाबाद भी रहे हैं।

# 2 विराट कोहली (औसत - 99.04)

विराट कोहली एक असाधारण प्रतिभा के बल्लेबाज हैं। वर्तमान में क्रिकेट के हर प्रारूप में वह सबसे सफल बल्लेबाज हैं। वह भारतीय बल्लेबाजी क्रम की धुरी हैं, जिनके चारों ओर पूरी बल्लेबाजी चलती हुई दिखाई देती है।

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने लक्ष्य का पीछा करते हुए अब तक 77 पारियां ऐसी खेली हैं, जिनमें भारतीय टीम जीतने में सफल रही है। उन्होंने अपनी इन पारियों में 99.04 के बेमिसाल औसत से 4853 रन बनाए हैं। इस बीच कोहली ने 21 शतक व 19 अर्धशतक भी अपने नाम दर्ज किए हैं। लक्ष्य का पीछा करते हुए कोहली के शतकों की संख्या सर्वाधिक है। इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 183 रन रहा। वह विश्व क्रिकेट में लक्ष्य का सफल पीछा करते हुए दूसरे सर्वाधिक औसत वाले बल्लेबाज हैं। उनसे आगे इस श्रेणी में पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ही हैं, जिनका औसत 99.85 है।

# 1 एम एस धोनी (औसत - 99.85)

सफलतापूर्वक लक्ष्य का पीछा करते हुए महेंद्र सिंह धोनी दुनिया के सबसे ज्यादा औसत वाले बल्लेबाज हैं। उनकी औसत 99.85 की है, जबकि भारतीय कप्तान विराट कोहली जिन्हें लक्ष्य का पीछा करने के मामले में क्रिकेट इतिहास का सबसे कामयाब बल्लेबाज माना जाता है, उनकी औसत 99.04 की है।

धोनी ने लक्ष्य का पीछा करते हुए 72 पारियां ऐसीं खेली जिनमे भारत जीतने में सफल रहा। उन्होंने इन पारियों में 99.85 की बेमिसाल औसत से 2696 रन बनाए हैं। इस बीच धोनी ने 2 शतक व 18 अर्धशतक भी अपने नाम दर्ज किए हैं।

एमएस धोनी ने साल 2018 में 20 वनडे मैचों की 13 पारियों में सिर्फ 25 की औसत और 71.43 के स्ट्राइक रेट से 275 रन बनाए। इस दौरान उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 42 रन रहा। यह धोनी के 14 साल के क्रिकेट करियर का सबसे बुरा साल रहा।

Get Cricket News In Hindi Here

Quick Links

App download animated image Get the free App now