Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

आखिरी दिन टेस्ट मैच में हार टालने वाली पांच बेहतरीन पारियां

Modified 27 Oct 2016, 19:47 IST
Advertisement
क्रिकेट के असली प्रेमियों के लिए टेस्ट क्रिकेट आज भी खेल का सबसे महत्वपूर्ण फॉर्मैट है और उनके लिए टेस्ट क्रिकेट वनडे और टी-20 जैसे फॉर्मैट के बदले ज्यादा मनोरंजन का साधन भी है। जहां क्रिकेट के इस सबसे बड़े प्रारूप में हर कोई कड़ी टक्कर के अलावा नजीते की अपेक्षा करता है,लेकिन कई बार ड्रॉ मैच भी काफी रोमांचक होते हैं। ऐसा तब होता है जब एक टीम को दबाव के बीच 5वें दिन अपनी टीम की हार टालने के बल्लेबाज़ी करनी होती है। ज्यादातर टीम इस दबाव को नहीं झेल पाती और मैच हार जाती हैं लेकिन ऐसे भी कई किस्से हैं जब टीमें पूरा आखिरी दिन बल्लेबाज़ी करती रही और मैच ड्रॉ कराने में सफल रही हैं। चलिए ऐसी ही पांच पारियों पर नजर डालते हैं जो टेस्ट ड्रॉ कराने में कारगर सिद्ध हुई। साल 2005 पांच में खेली गई ऐशज़ सीरीज़  दो चिर प्रतिद्वंद्वी,इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के इतिहास में खेली गई बेहतरीन सीरीज़ में से एक थी। #5  इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया, मैनचेस्टर , 2005 एशेज ashes-2005-1477233693-800 पहले दो टेस्ट में सीरीज़ एक-एक से बराबर हो जाने के बाद,ओल्ड ट्रैफोर्ड मैदान पर खेले जाने वाला तीसरा टेस्ट दोनों ही टीमों के लिए महत्वपूर्ण था क्योंकि दोनों टीमें ये मुकाबला हारना नहीं चाहती थी। इंग्लिश टीम ने इस टेस्ट में पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 444 रन बना लिए और मैच में शुरुआती मनोवैज्ञानिक बढ़त बना ली। जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम एक वक्त पर 7 विकेट खोकर   210रन पर जूझ रही थी , लेकिन शेन वॉर्न की 90 रनों की पारी की मदद से कंगारू टीम 302 रन तक पहुंच गई और मेहमान टीम को पहली पारी में 142 रन की बढ़त मिल गई। इंग्लैंड ने दूसरी पारी में भी गजब की बल्लेबाजी की और ऑस्ट्रेलिया के सामने 1 दिन से कुछ ज्यादा समय में 423 रन बनाने का टारगेट दिया। मेहमान टीम ने चौथा दिन विना विकेट खोए 24 रन बनाकर खत्म किया और उन्हें मैच जीतने के लिए आखिरी दिन 399 रन की दरकार थी। जस्टिन लैंगर पांचवे दिन की शुरुआत में ही आउट हो गए और क्रीज़ पर आए रिकी पॉन्टिंग। पॉन्टिंग ने संकल्प दिखाया हालांकि दूसरे एंड पर विकेट का पतन नहीं थमा। जब एंड्रयू फ़्लिंटॉफ़ ने 156 रन की बेहतरीन पारी खेलने वाले पॉन्टिंग को आउट किया, ऑस्ट्रेलिया को मैच बचाने के लिए सिर्फ 4 ओवर खेलने थे और वो काम ब्रेट ली और ग्लेन ग्लेन मैक्ग्रा की आखिरी जोड़ी ने कर दिखाया और टेस्ट ड्रॉ करा लिया।
1 / 5 NEXT
Published 27 Oct 2016, 19:47 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit