Create

एकदिवसीय मैचों में खेली गई 6 बड़ी पारियां जो टीम को जीत नहीं दिला पाई

कई महान पारियां भी टीम को जीत दिलाने के लिए नाकाफी साबित होती हैं
कई महान पारियां भी टीम को जीत दिलाने के लिए नाकाफी साबित होती हैं
Utkarsh Mishra

क्रिकेट यकीनन एक अनिश्चितता भरा खेल है। क्रिकेट में हमें कई बार देखने को मिलता है कि कुछ बेहतरीन व्यक्तिगत प्रदर्शन भी टीम को जीत नहीं दिला पाते हैं क्योंकि विरोधी टीम ने उस दिन ज्यादा अच्छा क्रिकेट खेला होता है। वनडे क्रिकेट में ऐसे कई मौके आये हैं जब किसी बल्लेबाज ने 150 से भी ज्यादा रन बनाए हैं लेकिन टीम को हर का सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़ें: Cricket Records: कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले 5 बल्लेबाज

आइये एक नजर डालते हैं टीम की हार में खेली गई सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय पारियों पर :

1. चार्ल्स कॉवेंट्री (194*) बनाम बांग्लादेश, बुलावायो, 2009

चार्ल्स कॉवेंट्री
चार्ल्स कॉवेंट्री

इस मैच में ज़िम्बाब्वे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार्ल्स कॉवेंट्री के नाबाद 194 रनों की मदद से 312 रनों का स्कोर खड़ा क़िया। इस पारी में कॉवेंट्री ने 156 गेंदों का सामना करते हुए 16 चौके और 7 छक्के जड़े। ज़िम्बाब्वे का कुल स्कोर और बड़ा हो सकता था लेकिन कॉवेंट्री को किसी भी बल्लेबाज का अच्छा साथ नहीं मिला। जवाब में बांग्लादेश ने तमीम इक़बाल के 154 रनों की पारी और बाकी बल्लेबाजों की उपयोगी तेज पारियों की बदौलत 48वें ओवर में ही मैच जीत लिया।

2. मैथ्यू हेडन (181*) बनाम न्यूजीलैंड, हैमिल्टन, 2007

मैथ्यू हेडन
मैथ्यू हेडन

ऑस्ट्रेलिया इस सीरीज में पहले से 2-0 से पीछे चल रही थी और इस मैच से पहले उनपर व्हाइटवाश का खतरा मंडरा रहा था। पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने मैथ्यू हेडन के 166 गेंदों खेली नाबाद 181 रनों की पारी की बदौलत 350 रनों के स्कोर खड़ा किया। हेडन ने 11 चौके और 10 गगनचुंबी छक्के जड़े। जवाब में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजो ने भी शानदार गेंदबाजी करते हुए 41 रन के स्कोर पर न्यूज़ीलैंड के 4 विकेट गिरा दिए थे। लेकिन पीटर फुल्टन और ब्रेंडन मैकलम के अर्धशतकों और क्रेग मैकमिलन के शतक की बदौलत एक बेहद रोमांचक मैच में न्यूजीलैंड ने 1 विकेट से जीत हासिल की।

3. एविन लुईस (176*) बनाम इंग्लैंड, द ओवल, 2017

एविन लुईस
एविन लुईस

इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज ने एविन लुईस के 130 गेंदों में नाबाद 176 रनों की मदद से 356 रनों के स्कोर बनाया। 17 चौके और 7 छक्के जड़ने वाले लुईस आसानी से दोहरा शतक बना सकते थे लेकिन वह 47वें ओवर की दूसरी गेंद पर चोटिल हो गए और स्ट्रेचर पर मैदान से बाहर गए। जवाब में जोस बटलर और मोइन अली की पारियों के दम पर इंग्लैड ने डकवर्थ लुइस नियम से 6 रन से यह मैच जीत लिया।

4. सचिन तेंदुलकर (175) बनाम ऑस्ट्रेलिया, हैदराबाद, 2009

सचिन तेंदुलकर
सचिन तेंदुलकर

सचिन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 351 रनों का पीछा करते हुए 175 रनों शानदार पारी खेली। उन्होंने खराब शुरुआत के बाद सुरेश रैना के साथ मिलकर टीम को जीत के करीब ला दिया था जहाँ भारत को 18 गेंदों पर 20 रनों की जरूरत थी लेकिन उनके आउट होने के बाद भारत 13 रन से मैच हार गया। सचिन ने अपनी 141 गेंदों की इस पारी में 19 चौके और 4 छक्के लगाये थे।

5. डेविड वॉर्नर (173) बनाम द. अफ्रीका, केपटाउन, 2016

डेविड वॉर्नर
डेविड वॉर्नर

ऑस्ट्रेलिया ने पांच मैचों की सीरीज के पहले चारो वनडे मैच गवां दिए थे। पांचवे वनडे में प्रोटियाज टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 327 रन का स्कोर बनाया। जवाब में डेविड वॉर्नर ने 136 गेंदों पर 24 चौकों की मदद से 173 रन बनाए लेकिन उन्हें किसी बल्लेबाज का साथ नही मिला जिसकी वजह से द. अफ्रीका ने यह मैच 28 रन से जीत लिया। वॉर्नर इस मैच में 9वें विकेट के रूप में आउट हुए थे

6. रोहित शर्मा (171*) बनाम ऑस्ट्रेलिया, पर्थ, 2016

रोहित शर्मा
रोहित शर्मा

वनडे क्रिकेट में कई बड़े शतक बनाने वाले रोहित शर्मा ने साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में 163 गेंदों में नाबाद 171 रनों की पारी खेली। उन्होंने इस पारी में 13 चौके और 7 छक्के लगाए। इस पारी की बदौलत भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 309 रन का अच्छा स्कोर खड़ा किया था लेकिन जवाब में स्टीव स्मिथ और जॉर्ज बेली के शतकों की मदद से ऑस्ट्रेलिया यह मैच 5 विकेट से जीतने में सफल रहा।

Edited by Naveen Sharma

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...