Create
Notifications

5 भारतीय खिलाड़ी जिन्हें टीम में शामिल किया गया लेकिन उन्हें कभी अंतिम एकादश में जगह नहीं मिली 

ईश्वर पांडेय और बेसिल थंपी
ईश्वर पांडेय और बेसिल थंपी
ANALYST
Modified 10 Feb 2021
टॉप 5 / टॉप 10

भारत एक ऐसा देश है, जहाँ क्रिकेट का खेल सबसे ज्यादा चर्चित है। यहां हर जगह आपको क्रिकेट खेलने वाले बच्चे और बड़े देखने को मिल जायेंगे और सबका एक ही सपना भारतीय टीम में सेलेक्ट होना होता है। क्रिकेट खेलने वाला हर एक खिलाड़ी अपने देश की टीम के लिए खेलना चाहता है लेकिन भारत में वहां पहुंचने के लिए खिलाड़ी को बहुत ही ज्यादा उच्चस्तरीय प्रदर्शन करना होता है। भारत देश कई शानदार खिलाड़ियों ने इस खेल को अलग ही स्तर पर पहुँचाया है। कपिल देव, सुनील गावस्कर, सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, सहवाग, युवराज, धोनी और विराट कोहली जैसे कुछ दिग्गज खिलाड़ियों ने इस खेल को भारत में और ज्यादा विकसित किया है।

यह भी पढ़े: 3 बड़े खिलाड़ी जिन्होंने आईपीएल ऑक्शन में इस साल अपना नाम नहीं भेजा

भारत की U19 टीम, 'ए' टीम और आइपीएल सभी ने भारत के टैलेंट पूल को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई है। भारत में प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की कोई कमी नहीं है और इसी वजह से सीनियर टीम तक पहुँचने का रास्ता भी बहुत मुश्किल है। हालाँकि कई ऐसे भी खिलाड़ी रहे जो भारत की टीम में चुन लिए गए लेकिन उन्हें कभी अंतिम एकादश में नहीं खिलाया गया। इस आर्टिकल में हम ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं।

5 भारतीय खिलाड़ी जिन्हें टीम में शामिल किया गया लेकिन उन्हें कभी अंतिम एकादश में जगह नहीं मिली

#5 धीरज जाधव

धीरज जाधव
धीरज जाधव

अपने घरेलू क्रिकेट करियर में इस बल्लेबाज का प्रदर्शन बहुत ही उम्दा रहा है। इस बल्लेबाज ने साल 2003/04 में रणजी ट्रॉफी की 12 पारियों में 1066 रन बनाये थे और इनके इसी प्रदर्शन की बदौलत जाधव को 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज के चौथे टेस्ट मैच के पहले टीम में भी चुना गया था। हालाँकि तब सचिन, सहवाग, द्रविड़ और लक्ष्मण जैसे दिग्गजों के होने की वजह से इस खिलाड़ी को एक भी मैच में मौका नहीं मिला।

#4 रानादेब बोस

रानादेब बोस
रानादेब बोस

रानादेब बोस अपने क्रिकेट करियर के दौरान घरेलू क्रिकेट के सबसे बेहतरीन तेज गेंदबाजों में से एक थे लेकिन इस गेंदबाज को कभी अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका भारतीय प्लेइंग XI में नहीं मिला। बंगाल के तेज गेंदबाज ने 06/07 रणजी ट्रॉफी के दौरान 39.4 के स्ट्राइक रेट से सिर्फ 8 मैचों में 57 विकेट लिए थे। इस प्रदर्शन की बदौलत उन्हें 2007 में इंग्लैंड के दौरे पर टीम में शामिल किया गया था लेकिन ज़हीर खान, आरपी सिंह और श्रीसंत के रहते इन्हें एक भी मैच में मौका नहीं मिला।

1 / 2 NEXT
Published 10 Feb 2021
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now