Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

टेस्ट क्रिकेट में 5 मौके जब कोई टीम 500 से ज्यादा रन बनाकर भी हार गई

ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
Published 15 Jan 2020, 14:38 IST
15 Jan 2020, 14:38 IST

राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण
राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण

 टेस्ट मैचों में पहली पारी में 400 रन बनाना अच्छा माना जाता है क्योंकि ऐसे बहुत कम मौके होते हैं जब कोई टीम मैच अपनी पहली पारी में 400 या उससे अधिक रन बनाकर हारती हैं। बोर्ड पर एक विशाल स्कोर विपक्षी टीम पर दबाव बनाता है।  

यह भी पढें: एकदिवसीय मैचों में खेली गई 6 बड़ी पारियां जो टीम को जीत नहीं दिला पाई 

हालांकि क्रिकेट एक अनिश्चितताओं भरा खेल है। कभी-कभी ऐसा देखने को मिला है कि पहली पारी में बड़े स्कोर बनाने के बावजूद भी टीमों को हार का सामना करना पड़ा है। टेस्ट क्रिकेट इतिहास ऐसे 15 मौके भी आए हैं जब किसी टीम ने अपनी पहली पारी में 500 या इससे ज्यादा रन बनाए हैं और फिर भी टेस्ट मैच हार गई।


आइये देखें वह 5 मौके जब किसी टीम को अपनी पहली पारी में 500 से ज्यादा रन बनाने के बाद भी हार का सामना करना पड़ा।


5. बांग्लादेश, बनाम वेस्टइंडीज, ढाका,नवंबर 2012


बांग्लादेश बनाम वेस्टइंडीज
बांग्लादेश बनाम वेस्टइंडीज

वेस्टइंडीज के बांग्लादेश दौरे पर पहले टेस्ट में विंडीज ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। शिवनारायण चंद्रपॉल के दोहरे शतक और सलामी बल्लेबाज किरोन पावेल और विकेटकीपर दिनेश रामदीन के शतकों की मदद से वेस्टइंडीज ने 527 का स्कोर खड़ा किया।

जवाब में बांग्लादेश ने पहली पारी में 556 रन बनाए और 29 रन की बढ़त ली। बांग्लादेश की तरफ से नईम इस्लाम एकमात्र शतक लगाने वाले खिलाड़ी थे जबकि नासिर हुसैन, तमीम इकबाल, महमुदुल्लाह और शाकिब अल हसन ने अर्धशतक लगाए।

बांग्लादेश के बढ़त हासिल करने के बावजूद भी वेस्टइंडीज ने दूसरी पारी में आत्मविश्वास के साथ बल्लेबाजी की और 273 रन बनाए। इस पारी में भी कीरोन पॉवेल ने शतक लगाया। बांग्लादेश के सामने 245 रनों का लक्ष्य रखा था लेकिन वेस्टइंडीज के टिनो बेस्ट और वीरमसामी परमाल के सामने के बांग्लादेश का कोई खिलाड़ी 30 का आंकड़ा पार नहीं कर सका और वेस्टइंडीज ने 77 रन से मैच जीत लिया।

1 / 3 NEXT
Modified 15 Jan 2020, 15:22 IST
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...