Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

5 खिलाड़ी जो संन्यास से पहले विदाई टेस्ट मैच खेलने के हकदार थे लेकिन नहीं खेल पाए

ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
12.84K   //    Timeless

एमएस धोनी और गौतम गंभीर
एमएस धोनी और गौतम गंभीर

अपने देश के लिए खेलकर टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेना सभी खिलाड़ियों के लिए एक गर्व की बात होती है। संन्यास लेने वाले खिलाड़ी को विदाई मैच के साथ विदा करना एक टीम के लिए श्रेष्ठ और बेहतरीन बात कही जा सकती है। विश्व क्रिकेट में कुछ ऐसे खिलाड़ी हुए हैं जिन्हें टेस्ट क्रिकेट में शानदार योगदान होने के बाद अंतिम मैच खेले बिना ही संन्यास लेना पड़ा। उन्होंने मैदान के बाहर से ही इस प्रारूप को अलविदा कह दिया जबकि नाम और काम के अनुरूप वे विदाई मैच के हकदार जरूर थे। बेहतरीन प्रदर्शन के बाद अंतिम मैच के बगैर खेल को अलविदा कहना एक आदर्श विदाई नहीं कही जा सकती लेकिन कई बार कुछ खिलाड़ियों के साथ ऐसा होते हुए देखा गया है।

भारतीय क्रिकेट से भी ऐसे कई खिलाड़ी हैं जिन्होंने करियर का आखिरी टेस्ट मैच खेले बिना ही संन्यास की घोषणा कर दी जबकि वे अंतिम मैच खेलकर संन्यास लेते हुए करियर को यादगार बना सकते थे। विश्व क्रिकेट के उन पांच टेस्ट खिलाड़ियों की बात इस आर्टिकल में की गई है जो विदाई टेस्ट मैच खेलने के हकदार थे।

वीरेंदर सहवाग

वीरेंदर सहवाग
वीरेंदर सहवाग

दिल्ली से आने वाले वीरेंदर सहवाग का टेस्ट करियर जैसा रहा, उसके अंत इस तरह होगा यह उन्होंने कभी नहीं सोचा होगा। 12 साल देश के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलते हुए कई कीर्तिमान स्थापित करने वाले वीरेंदर सहवाग को अंतिम टेस्ट खेले बिना ही संन्यास लेना पड़ा। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 2 बार तिहरा शतक जड़ा और ऐसा करने वाले एकमात्र भारतीय हैं। करियर में 8586 रन बनाने वाले सहवाग का उच्चतम स्कोर 319 रन था तथा वे विदाई मैच खेलने के हकदार थे लेकिन उन्हें यह नहीं मिला तथा मैदान के बाहर से ही संन्यास की घोषणा करनी पड़ी।

Hindi Cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

1 / 5 NEXT
Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...