Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

गौतम गंभीर (Gautam Gambhir)


ABOUT
ABOUT

गौतम गंभीर के बारे में:


गौतम गंभीर भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज हैं। जिनका जन्म 14 अक्टूबर 1981 को दिल्ली में हुआ था। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने भारत के लिए कई अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिता में अहम पारी खेली है गंभीर क्रिकेट के हर प्रारूप में अपने खेल का जौहर दिखा चुके हैं। आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में कई बार गंभीर शीर्ष स्थान पर भी रह चुके हैं।


गंभीर ने 2007 टी-20 और 2011 विश्व कप में भारत को ये प्रतियोगिता जिताने में अहम भूमिका निभाई थी। गंभीर को लोग उनके आक्रमक रवैए के लिए जानते हैं। 2007 में जब पाकिस्तान भारत खेलने आई थी। तब गंभीर-आफरीदी के बीच एक वनडे के दौरान अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए देखा गया था। गंभीर को स्पिन गेंदबाजी पर दमदार शॅाट खेलने के लिए भी जाना जाता है । बल्लेबाजी के अलावा गंभीर को बेहतरीन फील्डर के रूप में भी लोग जानते हैं।    


गौतम गंभीर की जीवनी:


दिल्ली में जन्मे गौतम गंभीर ने पहली बार बल्ला 10 साल के उम्र में थामा था। 2000 के दौरान बैंगलोर में स्थित क्रिकेट अकादमी ने उन्हें अपने अकादमी का बेहतरीन बल्लेबाज घोषित किया था। घरेलू क्रिकेट में गंभीर ने अपने पर्दापण से यह दिखा दिया था कि उनका चयन जल्द ही भारतीय टीम में होने वाला है। बता दें कि गंभीर का 50 से ज्यादा का बल्लेबाजी औसत रहता था । 2002 में डोमेस्टिक क्रिकेट में 2 डबल सेंचुरी की बदौलत चयनकर्ताओं ने उन्हें भारतीय टीम में खेलने का मौका दिया था ।    

क्रिकेट में आगाज:


निरंतर दमदार प्रदर्शन करने वाले गौतम गंभीर को 2003 में भारत के लिए टीवीएस कप में बांग्लादेश के खिलाफ खेलना का मौका मिला था। जहां पर उन्होंने तीसरे वनडे 71 रन की मैच जिताउ पारी खेली थी। लेकिन पूरे सीरीज में उनका प्रदर्शन उम्मीदजनक नहीं था। जिस वजह से उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था।


2005 में गौतम गंभीर ने अपना वापसी मैच के दौरान श्रीलंका के खिलाफ शतकीय पारी खेली थी । वहीं गंभीर के टेस्ट क्रिकेट का आगाज बॅार्डर-गवास्कर ट्रॅाफी के दौरान हुआ था, लेकिन यहां पर भी दिल्ली के इस बल्लेबाज का प्रदर्शन उम्मीदजनक नहीं था ।


सितारा बनने का सफर:


2007 टी-20 विश्वकप में गौतम गंभीर भारतीय टीम का अहम हिस्सा थे। पूरे प्रतियोगिता में गंभीर के बल्ले से सबसे ज्यादा रन देखने को मिले थे। फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ गंभीर ने 54 गेंदों पर 75 रन की अहम पारी खेली थी। 2008 आते-आते गंभीर क्रिकेट के हर प्रारूप के बेहतरीन खिलाड़ बन गए थे। जिस वजह से उनका चयन भारतीय टीम में लगातार होने लगा।


ऐसा भी कहा जाता है कि गंभीर जब अपने लय में होते हैं तो वो वीरेंदर सहवाग से भी अधिक आक्रमक खेलते थे। जिस प्रतियोगिता में सहवाग ने सबसे खराब प्रदर्शन किया था, उसी प्रतियोगिता में गंभीर ने सबसे ज्यादा रन स्कोर किए थे। बता दें कि इस दौरान गंभीर ने 8 टेस्ट मैच खेले थे, जिसमें उनके बल्ले से 1134 रन देखने को मिले थे । 


2009 के दौरान विश्व क्रिकेट में गौतम गंभीर एक बेहतरीन खिलाड़ी बनकर उभरने लगे। इसी साल गंभीर अपने पहले विदेशी दौरे पर गए थे। 41 साल में ऐसा पहली बार हुआ था। जब भारत ने न्यूजीलैंड को उन्हीं के सरजमीं पर पटखनी दी थी। जिसका श्रेय गंभीर को भी जाता है । गंभीर ने कीवियों के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 445 रन बनाए थे। इसी साल गंभीर को आईसीसी ने सर्वश्रेष्ठ टेस्ट क्रिकेटर की उपाधि सौंपी थी ।


गंभीर का बुरा दौर:


2007 (50 ओवर) के विश्वकप में गंभीर को टीम से बाहर रखा गया था, जिसका मुख्य कारण था सचिन सहवाग और सौरव गांगुली का टीम में चयन। गंभीर को इस बात ने काफी अंदर तक चोट दिया था। 2010 और 2011 के दौरान गंभीर अपने बुरे दौरे से गुजर रहे थे। इस दौरान गंभीर के बल्ले से 29.33 के औसत से मात्र रन निकल रहे थे।


इंडियन प्रीमियर लीग में गंभीर का सफर:


इंडियन प्रीमयर लीग की शुरूआती सीजन में गंभीर के बल्ले से 534 रन देखने को मिले थे। जिस वजह से वो इस सीजने दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए थे। दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए शुरूआती दो सीजन में गंभीर ने 1000 रन अपने खाते में जोड़ डाले थे।


उनके दमदार प्रदर्शन को देखते हुए शाहरूख खान की फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइट राइडर्स ने 2010 में उन्हें 2.4 मिलियन डॅालर खर्च कर उन्हें अपने दल में शामिल कर लिया। गौतम गंभीर को इस टीम की कमान भी सौप दी गई थी। उन्होंने केकेआर को 2012 और 2014 में अपनी कप्तानी में चैंपियन बनाया।


कप्तानी:


2010 में न्यूजीलैंड के खिलाफ गौतम गंभीर को भारतीय टीम की कप्तानी सौंपी गई थी। जिसका नतीजा यह हुआ कि भारत ये सीरीज 5-0 से जीत गया। इस प्रतियोगिता में उनके दमदार प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें मैन आफ द सीरीज के पुरस्कार से भी नवाजा गया ।


रिकॅार्ड:


अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में गौतम गंभीर के नाम कई रिकॅार्ड शामिल हैं। 2009 में गंभीर टेस्ट क्रिकेट में लगातार 5 शतक जड़ने वाले खिलाड़ी बन गए थे। गौतम गंभीर एक ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने 300 से भी ज्यादा रन 4 टेस्ट मैच में बनाया है।

Fetching more content...