Create
Notifications

5 कारण क्यों 2019 वर्ल्ड कप टीम में ऋषभ पंत का होना जरूरी है?

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी टेस्ट में 159 रनों की नाबाद पारी के दौरान ऋषभ पन्त
Rahul
visit

साल 2019 का आगाज़ हो चुका है। यह साल क्रिकेट प्रेमियों के लिए सबसे बेहतरीन साल होने वाला है। भारतीय प्रशंसकों के लिए साल की शुरुआत शानदार रही है। ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज के जीत के लम्हे भारतीय टीम के साथ-साथ दर्शकों के लिए भी लाजवाब रहे।

भारतीय टीम ने 71 साल बाद ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज अपने नाम की है। टेस्ट सीरीज जीतने के बाद भारतीय टीम की नजरें ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड के खिलाफ वनडे और टी20 सीरीज की जीत पर बनी हुई हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के बाद आईपीएल 2019 और फिर क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के लिए बिगुल अभी से बज चुका है।

इससे पहले भारतीय टीम के लिए साल 2018 टेस्ट क्रिकेट में उतार चढ़ाव वाला रहा, तो वनडे में टीम ने शानदार प्रदर्शन किया और टी20 अंतरराष्ट्रीय में भी टीम का प्रदर्शन औसतन ही रहा लेकिन पिछले साल भारतीय टीम में कई नए युवा खिलाड़ियों का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आगाज़ हुआ, जिनमें हनुमा विहारी, क्रुनाल पांड्या और ऋषभ पन्त जैसे बेहतरीन खिलाड़ी शामिल रहे। इन खिलाड़ियों ने अपनी प्रतिभा से सभी को आकर्षित किया है।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना लोहा मनवाने की लिस्ट में सबसे ऊपर नाम युवा विकेटकीपर ऋषभ पन्त का रहा, जिन्होंने न केवल अपने ताबड़तोड़ अंदाज़ से करियर की शुरुआत की बल्कि टेस्ट क्रिकेट में धैर्य से बल्लेबाजी करते हुए यह भी दर्शाया कि उनमें बड़ा खिलाड़ी बनने की चाह और जज्बा अभी से है।

हाल ही में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी शानदार प्रदर्शन करते हुए अपने कप्तान विराट कोहली से ज्यादा रन बनाये। सिडनी टेस्ट में 159 रनों की नाबाद व धुआंधार पारी ने यह सवाल सभी के जहन में खड़ा कर दिया है कि क्या ऋषभ पन्त आगामी विश्व कप के लिए भारतीय टीम की जरूरत बन गए हैं। इस विषय पर प्रकाश डालने के लिए 5 ऐसे बड़े कारण हैं, जिनसे यह साबित होता है कि विश्व कप 2019 में भारतीय टीम को ऋषभ पन्त जैसे युवा खिलाड़ी की जरूरत पड़ सकती है।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाईलाइटस और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

ऋषभ पन्त का शानदार मौजूदा प्रदर्शन

इंग्लैंड दौरे पर ओवल टेस्ट में ऋषभ पन्त ने लगाया टेस्ट करियर का पहला शतक

साल 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ टी20 अंतरराष्ट्रीय से शुरुआत करने वाले ऋषभ पन्त शुरू में फीके जरूर नजर आये लेकिन पिछले साल टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने के बाद से उन्होंने पीछे मुड़ कर नहीं देखा और एक के बाद एक शानदार पारियां खेलते नजर आयें। इंग्लैंड में हुए ओवल टेस्ट में उन्होंने ताबड़तोड़ शतक लगाने के साथ ही यह भी साबित किया कि वह विदेशी पिचों पर भी धमाल मचा सकते हैं। इंग्लैंड के बाद ऑस्ट्रेलिया में भी उन्होंने जबरदस्त पारियां खेली हैं, जहां उन्होंने अपने मौजूदा कप्तान विराट कोहली से ज्यादा रन बनाये। ऋषभ पन्त ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 4 मैचों की 7 पारियों में 350 रन बनाएं हैं, जिसमें सिडनी टेस्ट की 159 रनों की नाबाद पारी शामिल रही और उन्होंने भारत की टेस्ट सीरीज जीत में अपना अहम योगदान दिया है।

मिडिल आर्डर में दाएं हाथ और ताबड़तोड़ बल्लेबाज की जरूर

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 अंतरराष्ट्रीय  के दौरान ताबड़तोड़ शॉट खेलते हुए ऋषभ पन्त

भारतीय टीम ने पिछले कुछ सालों से वनडे क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। इस बेहतरीन प्रदर्शन का श्रेय टीम के टॉप ऑर्डर पर ज्यादा निर्भर रहा है। शिखर धवन, रोहित शर्मा और विराट कोहली ने अपने शानदार खेल से भारतीय टीम को कई जबरदस्त जीत दिलाई हैं। इस दौरान टीम की परेशानी का सबब मिडिल ऑर्डर रहा, जहाँ बहुत से बल्लेबाजों को अजमाया गया लेकिन किसी ने निरंतरता से प्रदर्शन नहीं किया। हाल ही में अम्बाती रायडू ने अपनी बल्लेबाजी का दमखम जरूर दिखाया है लेकिन पारी के आखिरी ओवरों में टीम को एक धुआंधार बल्लेबाज की जरूरत है। एमएस धोनी और हार्दिक पांड्या के रूप में टीम के पास विकल्प जरूर हैं लेकिन उनके फॉर्म और फिटनेस पर सवाल खड़े होते रहे हैं। इसलिए ऋषभ पन्त धुआंधार बल्लेबाजी के साथ-साथ एक दाएं हाथ के बल्लेबाज के रूप में विपक्षी गेंदबाजों को रणनीति बदलने पर मजबूर कर सकते हैं। उनका आक्रामक अंदाज़ विश्व कप 2019 में भारतीय टीम के मिडिल ऑर्डर को मजबूती प्रदान कर सकता है।

बैकअप विकेटकीपर के लिए बेहतर विकल्प

बैकअप विकेटकीपर के रूप में बेहतर विकल्प

विश्व कप 2019 के लिए एमएस धोनी ही विकेटकीपर के रूप में सबसे पहली पसंद होंगे। राउंड रोबिन में होने वाले इस विश्व कप में भारतीय टीम सभी टीमों से मैच खेलेगी जिसमें 9 मैच पहले दौर में शामिल होंगे, जहाँ टीम को अन्य विकेटकीपर की आवश्यकता जरूर पड़ सकती है। दिनेश कार्तिक को एमएस धोनी के विकल्प के रूप में देखा जा रहा है लेकिन ऋषभ पन्त भी इस लिस्ट में सबसे ऊपर नजर आ रहे हैं। यदि दिनेश कार्तिक का फॉर्म आगामी ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड वनडे सीरीज में खराब रहा, तो ऋषभ पन्त ही चयनकर्ताओं की पहली पसंद होंगे क्योंकि उनका हालिया प्रदर्शन शानदार रहा है और विकेटकीपिंग में भी उन्होंने काफी सुधार कर लिया है। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने अपने दमदार प्रदर्शन की बदौलत जगह पक्की कर ली और टी20 अंतरराष्ट्रीय में भी उन्हें मौके दिए जा रहे हैं। अगर बात वनडे क्रिकेट की करें तो पन्त अभी इस मामले में पीछे ही नजर आयें हैं लेकिन मौका मिलने पर वह अपनी काबिलियत को दर्शा सकते हैं।

विदेशी पिचों पर करियर की शानदार शुरुआत

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के तेज पिचों पर ऋषभ पन्त काफी कारगर साबित हुए हैं

आगामी विश्व कप इंग्लैंड और वेल्स में आयोजित होगा। चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का आयोजन भी इंग्लैंड में हुआ था जहाँ भारत ने फाइनल तक सफ़र तय किया था। विदेशी पिचों पर भारत का टॉप ऑर्डर सफल रहा है लेकिन मिडिल ऑर्डर ने टीम का साथ नहीं दिया है। हाल ही में अगर बात इंग्लैंड दौरे की करें तो भी मिडिल ऑर्डर फेल ही रहा लेकिन ऋषभ पन्त ने इस दौरान भी अपनी क्षमता दिखाते हुए जबरदस्त प्रदर्शन किया है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की तेज पिचों पर उन्होंने लाजवाब बल्लेबाजी की है। पन्त ने ओवल के मैदान पर अपने करियर का पहला शतक जड़ा तो ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी उन्होंने आखिरी मैच में 159 रनों की धमाकेदार पारी खेली और अपनी काबिलियत को दुनिया के सामने पेश किया। इसलिए विदेशी पिचों पर उम्दा प्रदर्शन को मद्देनजर रखते हुए भी ऋषभ पन्त को विश्व कप 2019 में मौका दिया जा सकता है।

आईपीएल 2019 में एक बार फिर धुआंधार बल्लेबाजी?

आईपीएल 2018 में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ ऋषभ पन्त की तूफानी शतकीय पारी

अंडर 19 विश्व कप 2016 में बेहतरीन प्रदर्शन करने बाद ऋषभ पन्त ने इसी साल दिल्ली डेयरडेविल्स (अब दिल्ली कैपिटल्स) के लिए आईपीएल का आगाज़ किया। अपने आईपीएल के प्रथम वर्ष में पन्त का खेल औसतन रहा लेकिन साल 2017 और 2018 में उन्होंने तूफानी बल्लेबाजी कर अपने आप को दिल्ली की टीम का मजबूत स्तंभ साबित किया। यदि विश्व कप से पहले होने वाले आईपीएल 2019 में भी उन्होंने अपना ताबड़तोड़ खेल जारी रखा, तो भारतीय टीम के लिए वह इंग्लैंड की उड़ान भर सकते हैं। इसलिए आईपीएल 2019 ऋषभ पन्त की विश्व कप में जगह बनने के लिए काफी अहम होने वाला है। एमएस धोनी और दिनेश कार्तिक को अनुभव के आधार पर टीम में शामिल किया जा सकता है लेकिन ऋषभ पन्त को आगामी विश्व कप में शामिल करना भारत के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

Edited by सावन गुप्ता
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now