Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 मौके जब युवराज सिंह और एम एस धोनी ने मिलकर भारतीय टीम को जिताया मैच

युवराज सिंह और एम एस धोनी
युवराज सिंह और एम एस धोनी
SENIOR ANALYST
Modified 24 Mar 2020, 19:03 IST
न्यूज़
Advertisement

क्रिकेट के खेल में साझेदारी का काफी महत्व होता है। आमतौर पर किसी भी टीम की जीत इस बात पर निर्भर करती है कि उस टीम की तरफ से कितनी बड़ी साझेदारियां बनी हैं। अगर किसी भी टीम को बड़े स्कोर बनाना है तो फिर उसे लंबी साझेदारियों की जरुरत होती है।

आमतौर पर कभी-कभी अकेले दम पर कोई खिलाड़ी मैच जिता देता है लेकिन कई बार उसे दूसरे छोर से एक पार्टनर की जरुरत होती है जो उसका साथ दे सके। अगर कोई खिलाड़ी एक छोर पर टिका हुआ है और दूसरे छोर से लगातार विकेट गिर रहे हैं तो फिर उससे टीम बड़ा स्कोर नहीं बना पाती है।

भारतीय क्रिकेट की अगर बात करें तो यहां पर कई बल्लेबाजों की जोड़ी मशहूर रही है। सचिन तेंदुलकर-सौरव गांगुली, सचिन-सहवाग, द्रविड़-लक्ष्मण जैसे कई दिग्गज जोड़ियां भारत की मशहूर रही हैं, इन जोड़ियों ने अकेले दम पर भारतीय टीम को कई मैच जिताए हैं। वहीं एक और जोड़ी है जिसने भारत को वनडे में कई मैच जिताए हैं और ये जोड़ी है युवराज सिंह और एम एस धोनी की। धोनी और युवराज ने कई मौकों पर टीम को संकट से निकालते हुए टीम को मैच जिताए हैं।

आइए जानते हैं कब-कब इन दोनों बल्लेबाजों ने अपनी साझेदारी से भारतीय टीम को मैच जिताया।

5. भारत vs जिम्बाब्वे, 2005 (छठे विकेट के लिए 158 रनों की साझेदारी)

युवराज सिंह अपनी शतकीय पारी के बाद
युवराज सिंह अपनी शतकीय पारी के बाद

2005 में भारत, जिम्बाब्वे और न्यूजीलैंड के बीच त्रिकोणीय सीरीज खेली जा रही थी। सीरीज के छठे मुकाबले में जिम्बाब्वे ने पहले खेलते हुए 250 रन बनाए, जवाब में भारतीय टीम ने 24.2 ओवर में सिर्फ 91 रन तक 5 विकेट गंवा दिए। यहां से लक्ष्य तक पहुंचना काफी मुश्किल लग रहा था लेकिन युवराज सिंह और एम एस धोनी ने छठे विकेट के लिए 158 रनों की जबरदस्त साझेदारी करते हुए भारतीय टीम को लक्ष्य तक पहु्ंचा दिया। युवराज ने 124 गेंदों पर 120 रनों की शतकीय पारी खेली और धोनी ने 63 गेंद पर नाबाद 67 रन बनाए।

4.भारत vs पाकिस्तान, 2006 (छठे विकेट के लिए नाबाद 102 रनों की साझेदारी)

युवराज और धोनी
युवराज और धोनी

2006 में भारत की टीम पाकिस्तान दौरे पर थी। 13 फरवरी को लाहौर में खेले गए सीरीज के तीसरे मुकाबले में पाकिस्तान ने पहले खेलते हुए 8 विकेट के नुकसान पर 288 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने 190 रन तक 5 विकेट गंवा दिए। सचिन तेंदुलकर ने 95 रनों की पारी जरुर खेली लेकिन लक्ष्य से काफी पहले वो आउट हो गए। यहां से टीम काफी मुश्किल में दिख रही थी और लक्ष्य तक पहुंचना बेहद मुश्किल लग रहा था।

इसके बाद युवराज सिंह और एम एस धोनी ने पारी को संभाला। दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर 13 ओवर में नाबाद 102 रनों की साझेदारी कर टीम को सिर्फ 47.4 ओवर में ही मैच जिता दिया। युवराज ने 87 गेंद पर नाबाद 79 रन बनाए और धोनी ने 46 गेंद पर 13 चौके की मदद से नाबाद 72 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। धोनी को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

1 / 2 NEXT
Published 24 Mar 2020, 19:03 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit