Create
Notifications

5 शीर्ष खिलाड़ी जिन्होंने 2018 में वनडे में डेब्यू किया  

Shaheen Afridi has been the best discovery of 2018 and the best debutant
आशीष कुमार
visit

साल 2018 निस्संदेह क्रिकेट के लिए एक शानदार साल रहा। इस साल हमने कई सर्वश्रेष्ठ पारियाँ और कई उत्कृष्ट गेंदबाज़ी स्पेल देखे। दुनिया भर में होने वाली विभिन्न टी-20 लीग्स में युवा खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से सबका ध्यान अपनी ओर खींचा।

इस साल कई खिलाड़ियों ने अपने एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय करियर का आगाज़ किया, उनमें से अधिकांश ऑस्ट्रेलिया, भारत और वेस्ट इंडीज से हैं। अब चूँकि विश्व कप के शुरू होने में ज़्यादा समय नहीं बचा है, सभी टीमें अपने बेहतरीन ग्यारह खिलाड़ियों का संयोजन बनाने के प्रयास में हैं। ऐसे में कुछ नए खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्होंने अपनी-अपनी टीमों में जगह पक्की कर ली है जबकि कुछ अभी भी टीम का नियमित हिस्सा बनने की कोशिश में लगे हैं।

इस लेख में हम एक नज़र डालेंगे ऐसे पांच नए खिलाड़ियों पर जिन्होंने साल 2018 में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है और भविष्य में वह अपनी टीम के स्टार खिलाड़ी बन सकते हैं:

#5. ओशेन थॉमस (वेस्टइंडीज़)

Oshane Thomas

वेस्टइंडीज़ के युवा तेज़ गेंदबाज़ ओशेन थॉमस ने साल 2018 में शानदार प्रदर्शन किया है। अपनी गेंदबाज़ी से उन्होंने क्रिकेट पंडितों और आलोचकों सभी का दिल जीता है।

गुवाहाटी में भारत के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर में पदार्पण करने वाले थॉमस का पहला शिकार भारतीय सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन बने थे, हालाँकि, वह उस सीरीज़ में काफी महंगे साबित हुए थे। लेकिन इसके बाद बांग्लादेश के खिलाफ चार मैचों की वन डे सीरीज़ में उन्होंने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए छह विकेट लिए हैं।

हाल ही में राजस्थान में आयोजित हुई आईपीएल नीलामी में उन्हें राजस्थान रॉयल्स ने अपनी टीम में चुना है। वह लगातार 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाज़ी कर सकते हैं और अपनी सटीक गेंदबाज़ी और यॉर्कर्स के लिए जाने जाते हैं। हालाँकि, अभी तक ओशेन थॉमस के पास निश्चित रूप से बेहतरीन गेंदबाज़ी रिकॉर्ड तो नहीं है लेकिन उन्हें साल 2018 की खोज कहा जा सकता है। आने वाले समय में वह वेस्टइंडीज़ के गेंदबाज़ी आक्रमण की कमान संभाल सकते हैं।

#4. एंड्रयू टाई (ऑस्ट्रेलिया)

Andrew Tye

एंड्रयू टाई ने 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ अपने एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय करियर का आगाज़ किया था। भले ही अपने पहले मैच में उन्हें कोई विकेट नहीं मिला लेकिन उन्होंने किफायती गेंदबाज़ी की और टीम में नियमित रूप से बने रहे। स्मिथ और वॉर्नर पर लगे प्रतिबंध के बाद, एंड्रयू टाई का गेंदबाज़ी कौशल और अनुभव टी-20 और एकदिवसीय, दोनों प्रारूपों में ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए महत्वपूर्ण हो गया है।

आईपीएल 2018 में पर्पल कैप जीतने वाले टाई ने 7 एकदिवसीय मैचों में 12 विकेट लिए हैं। वह इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज़ में ऑस्ट्रेलिया के नियमित गेंदबाज़ थे और उन्होंने इस सीरीज़ में शानदार प्रदर्शन किया था।

अब यह देखना दिलचस्प होगा कि वह भारत के खिलाफ आगामी तीन मैचों की वनडे सीरीज़ में कैसा प्रदर्शन करते हैं। लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि आने वाले समय में एंड्रयू टाई कंगारू टीम के बेहद अहम गेंदबाज़ होंगे।

#3. खलील अहमद

Enter caption
Enter caption

ज़हीर खान के उत्तराधिकारी के रूप में देखे जा रहे बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ खलील अहमद 2018 के लिए भारतीय टीम की खोज हैं। उन्होंने हांगकांग के खिलाफ एशिया कप में अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर का पदार्पण किया था और इस मैच में उन्होंने हांगकांग के शीर्ष क्रम के तीन बल्लेबाज़ों के महत्वपूर्ण विकेट लिए थे।

खलील ने रोहित शर्मा की कप्तानी में अपने क्रिकेट करियर का आगाज़ किया था। इसके साथ उनके पास एकदिवसीय और टी-20 मैचों में बेहतरीन आंकड़े है। खलील ने अभी तक 6 वनडे मैचों में 24 की अच्छी औसत और 5.05 की इकोनॉमी रेट के साथ 11 विकेट चटकाए हैं।

वह शायद भारत के उन नवोदित खिलाड़ियों की सूची में शामिल हैं, जिन्होंने साल 2018 में सिद्धार्थ कौल, दीपक चाहर जैसे तेज़ गेंदबाज़ों के साथ अपना अंतर्राष्ट्रीय करियर शुरू किया था लेकिन अपने बेहतरीन प्रदर्शन से वह क्रिकेट प्रेमियों के पसंदीदा खिलाड़ी बन गए हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी वनडे सीरीज़ और भारत के न्यूजीलैंड दौरे में उन्हें भुवी और बुमराह के साथ खेलने का अधिक मौका मिलेगा और इसमें शानदार प्रदर्शन कर वह विश्व कप का टिकट कटा सकते हैं।

#2. लुंगी एनगिडी (दक्षिण अफ्रीका)

Lungi Ngidi

लुंगी एनगिडी दक्षिण अफ्रीका के लिए साल 2018 की खोज रहे हैं, युवा तेज़ गेंदबाज़ ने टेस्ट और वनडे दोनों में शानदार प्रदर्शन किया है। उन्होंने फरवरी 2018 में भारत के खिलाफ अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैच खेला था। तब से उन्होंने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है और दक्षिण अफ़्रीकी टीम में अपना स्थान पक्का किया है।

अभी तक उन्होंने 13 मैचों में 22.03 की शानदार औसत से 26 विकेट लिए हैं और दो बार चार विकेट लेने का कारनामा किया है। इसके अलावा, आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते हुए उन्होंने प्रभावशाली प्रदर्शन किया है।

टी-20 में उनके प्रदर्शन की बात करें तो उन्होंने अभी तक 7 मैचों में 6.40 की बढ़िया इकोनॉमी रेट से 11 विकेट हासिल किये हैं। भारत के खिलाफ अपने टेस्ट करियर का आगाज़ करने वाले नगदी ने चार टेस्ट मैचों में 19.53 की शानदार औसत से 15 विकेट लिए हैं।

कुल मिलकर लुंगी नगदी ने दक्षिण अफ्रीका के लिए एक असाधारण प्रदर्शन किया है और वह आगामी विश्व कप में अपनी टीम के प्रमुख गेंदबाज़ होंगे।

#1. शाहीन अफरीदी (पाकिस्तान)

Shaheen Afridi

शाहीन अफरीदी साल 2018 में पाकिस्तानी टीम में शामिल होने वाले प्रतिभाशाली तेज़ गेंदबाज़ों में से एक हैं।सितंबर 2018 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर में पदार्पण करने वाले बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ अपनी सटीक और धारदार गेंदबाज़ी से अपने प्रशंसकों के आकर्षण का केंद्र रहे हैं।

आंकड़ों की बात करें तो अफरीदी ने छह वनडे मैचों में 4.88 की शानदार इकोनॉमी रेट और 17.61 की गेंदबाजी औसत से 13 विकेट लिए हैं। वह गेंद को दोनों तरह से स्विंग करा सकते हैं अब खेल के तीनों प्रारूपों में अपनी टीम का नियमित हिस्सा हैं।

टी-20 में उन्होंने सात मैचों में 7.80 की अच्छी इकोनॉमी रेट और 18.45 की गेंदबाजी औसत के साथ 11 विकेट लिए हैं। उन्होंने हाल ही में न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच में तीन विकेट लेने के साथ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया है।

शाहीन एक प्रतिभाशाली गेंदबाज़ हैं और सिर्फ 18 साल की उम्र में, उन्होंने जिस परिपक्ववता और कौशल के साथ प्रदर्शन किया है, निश्चित रूप से आने वाले सालों में वह पाकिस्तान के गेंदबाज़ी आक्रमण का नेतृत्व करेंगे।

Edited by मयंक मेहता

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now