Create

मध्यक्रम के 6 बल्लेबाज जिन्होंने टेस्ट में ओपनर के तौर पर मौका मिलने पर शतक बनाया 

वीवीएस लक्ष्मण
वीवीएस लक्ष्मण
Fambeat Hindi

रोहित शर्मा ने 2019 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में ओपनिंग की और शानदार शतक जड़ा। अस्थायी सलामी बल्लेबाज का इस्तेमाल करना भारतीय क्रिकेट के लिए नई बात नहीं है। 90 के दशक के दौरान जब टीम प्रबंधन के लिए विकल्पों की भारी कमी थी, तब गैर-नियमित सलामी बल्लेबाजों का काफी इस्तेमाल हुआ करता था।

यह भी पढ़े: वनडे क्रिकेट में टीम की हार में सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले 3 बल्लेबाज

आइए देखते हैं कि वो कौन से गैर नियमित सलामी बल्लेबाज हैं, जिन्होंने टेस्ट मैचों में पारी की शुरुआत करते हुए शतक लगाए:

#6 दीप दासगुप्ता

दीप दासगुप्ता 
दीप दासगुप्ता

पूर्व भारतीय विकटकीपर बल्लेबाज दीप दासगुप्ता ने भारत के लिए 8 टेस्ट मैच खेले थे। उन्होंने इन 8 मैचों में से 7 मैचों में पारी की शुरुआत की थी। उन्होंने अपना एकमात्र शतक इंग्लैंड के खिलाफ 3 दिसम्बर, 2001 को मोहाली में खेले गए टेस्ट मैच में लगाया था। उन्होंने अपनी पारी में 254 गेंदों का सामना करते हुए 15 चौके लगाकर 100 रन बनाए।

#5 नयन मोंगिया

नयन मोंगिया 
नयन मोंगिया

90 के दशक में नयन मोंगिया को कई बार सलामी बल्लेबाज के रूप में क्रीज पर भेजा गया। मोंगिया ने अपने खेले 44 टेस्ट मैचों में से 15 में पारी की शुरूआत की थी। उन्होंने ओपनर के तौर पर 27.29 की औसत से 655 रन बनाये । हालांकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 10 अक्टूबर 1996 को खेले गए एकमात्र टेस्ट में मोंगिया ने पारी की शुरुआत करते हुए 366 गेंदों का सामना करते हुए 152 रनों की मैराथन पारी खेली, जिसकी बदौलत भारत यह मैच 7 विकेट से जीतने में कामयाब रहा।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

#4 मनोज प्रभाकर

मनोज प्रभाकर 
मनोज प्रभाकर

90 के दशक में, मनोज प्रभाकर ने वह सब कुछ किया जो टीम प्रबंधन ने उनसे चाहती थी। प्रभाकर ने भारत के लिए खेले गए 39 टेस्ट मैचों में से 23 में पारी की शुरुआत की। पारी की शुरुआत करते हुए उनका औसत 35.48 का रहा। 10 दिसंबर 1994 को मोहाली में वेस्टइंडीज के खिलाफ एकमात्र टेस्ट शतक लगाया। प्रभाकर ने पहली पारी में 406 मिनट बल्लेबाजी करते हुए 120 रन बनाए, लेकिन दूसरी पारी में उनके शून्य पर रिटायर्ड हर्ट होने से भारतीय टीम 234 रन से हार गयी।

#4 रवि शास्त्री

रवि शास्त्री
रवि शास्त्री

रवि शास्त्री का बल्लेबाजी औसत 80 टेस्ट में 35.79 का है, लेकिन 17 टेस्ट मैचों में सलामी बल्लेबाज के रूप में उनका औसत 44.04 का है। रवि शास्त्री के 11 शतकों में से चार शतक सलामी बल्लेबाज के रूप में आए थे। उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ करांची, इंग्लैंड के खिलाफ ओवल और लॉर्ड्स में तथा सिडनी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक लगाए।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

#2 वीवीएस लक्ष्मण

 वीवीएस लक्ष्मण 
वीवीएस लक्ष्मण

पहले ही सितारों से सजे मध्यक्रम में जगह बनाना लक्ष्मण के लिए काफी मुश्किल काम था। ऐसे में दूसरे कई बल्लेबाजों की तरह लक्ष्मण ने पारी की शुरुआत करते हुए अपनी किस्मत आजमाई। हालांकि 15 टेस्ट मैचों 28.54 की खराब औसत से 685 रन उनके शीर्ष क्रम पर संघर्ष को दिखाता है। शीर्ष क्रम में उनकी एकमात्र यादगार पारी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में थी जहां उन्होंने 167 रन बनाए थे। इसके अलावा उनका सलामी बल्लेबाज के रूप में कोई विशेष प्रदर्शन नही रहा।

#1 वीरेंदर सहवाग

वीरेंदर सहवाग 
वीरेंदर सहवाग

सहवाग ने अपने 104 टेस्ट मैचों में 99 में पारी की शुरुआत की जिसमे उन्होंने 50 से ऊपर की औसत से रन बनाएं और 22 शतक लगाए। सहवाग ने पहली बार इंग्लैंड के खिलाफ 2002 में ओपनिंग की थी और लॉर्ड्स टेस्ट में 84 रनों की पारी के बाद नॉटिंघम टेस्ट में शानदार शतक लगाया था।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

Edited by Naveen Sharma

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...