Create
Notifications

7 मौके जब भारतीय टीम को टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुकाबलों में आखिरी गेंद पर हार का सामना करना पड़ा 

भारतीय टीम को यह मुकाबले जीतने चाहिए थे
भारतीय टीम को यह मुकाबले जीतने चाहिए थे
मयंक मेहता

भारतीय टीम ने अपना पहला टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुकाबला 2006 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था। इसके बाद से अभी तक भारत ने 134 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुकाबले खेले हैं, जिसमें 86 मुकाबले जीते हैं, 44 मैच में टीम को हार मिली, तो 4 मुकाबलों का नतीजा नहीं निकल पाया। इस बीच भारत ने 2007 में पहला टी20 वर्ल्ड कप भी जीता था।

भारत ने अभी तक सबसे ज्यादा मुकाबले ऑस्ट्रेलिया (20 मैच) के खिलाफ खेले हैं, तो टीम को सबसे ज्यादा हार ऑस्ट्रेलिया (8 मैच) और न्यूजीलैंड (8 मैच) के खिलाफ मिली है। हालांकि ऐसे कई मुकाबले रहे हैं, जहां भारत जीतने के काफी करीब आई, लेकिन आखिरी गेंद पर टीम को हार का सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़ें: 4 गलतियां जिनकी वजह से भारत 2007 के बाद दोबारा टी20 वर्ल्ड कप नहीं जीत पाया है

आइए नजर डालते हैं ऐसे ही 7 मैचों पर जब भारत आखिरी गेंद पर टीम को हार मिली:

#) भारत vs श्रीलंका (टी20 वर्ल्ड कप, 11 मई 2010)

श्रीलंका ने आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर मैच जीता
श्रीलंका ने आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर मैच जीता

2010 टी20 वर्ल्ड कप वेस्टइंडीज में हुआ था और सुपर 8 के आखिरी मुकाबले में भारत और श्रीलंका का मैच सेंट लूसिया हुआ। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया और सुरेश रैना की अर्धशतकीय पारी की बदौलत 20 ओवरों में 163-5 का स्कोर खड़ा किया।

164 रनों का पीछा करते हुए श्रीलंका ने 19 ओवर के बाद स्कोर 151-4 था। आखिरी ओवर की पहली चार गेंद पर श्रीलंका ने 10 रन बनाए, लेकिन पांचवीं गेंद पर आशीष नेहरा ने एंजेलो मैथ्यूज को आउट कर दिया। हालांकि आखिरी गेंद पर चमारा कपूगेदरा ने छक्का लगाते हुए श्रीलंका को जीत दिलाई और भारत मैच को जीतने से चूक गया।

#) भारत vs न्यूजीलैंड (चेन्नई, 11 सितंबर 2012 दूसरा टी20)

धोनी भी भारत को जीत नहीं दिला पाए
धोनी भी भारत को जीत नहीं दिला पाए

11 सितंबर 2012 को भारत और न्यूजीलैंड के बीच चेन्नई में सीरीज का दूसरा और आखिरी टी20 खेला गया। कैंसर से वापसी के बाद युवी का यह पहला मैच था। न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए ब्रैंडन मैकलम की 91 रनों की पारी की बदौलत 20 ओवरों में 167-5 का स्कोर खड़ा किया।

168 रनों का पीछा करते हुए भारत ने विराट कोहली की शानदार 70 रनों की पारी की बदौलत मजबूत शुरुआत की, लेकिन उनके आउट होने के बाद टीम के ऊपर दबाव आ गया। युवराज सिंह एक छोर से अच्छा कर रहे थे, लेकिन धोनी (23 गेंदों में 22 रन) का स्ट्राइक रेट 100 से नीचे का रहा। आखिरी ओवर में भारत को जीतने के लिए 13 रनों की दरकार थी। युवी चौथी गेंद पर आउट हो गए और अंत में लास्ट गेंद पर टीम को 4 रन बनाने थे, लेकिन टीम सिर्फ 2 रन बना पाई और एक रन से इस मैच को हार गई।

#) भारत vs इंग्लैंड (मुंबई, 22 दिसंबर 2012 दूसरा टी20)

इयोन मॉर्गन के आखिरी गेंद पर लगाए गए छक्के ने भारत को हराया
इयोन मॉर्गन के आखिरी गेंद पर लगाए गए छक्के ने भारत को हराया

22 दिसंबर 2012 को भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का दूसरा टी20 मुकाबला मुंबई में खेला गया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए विराट कोहली (38), सुरेश रैना (35*) और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (38) की महत्वपूर्ण पारियों की बदौलत 20 ओवरों में 177-8 का स्कोर बनाया।

178 रनों का पीछा करते हुए 19 ओवर के बाद इंग्लैंड का स्कोर 169-4 था। इससे पहले युवराज सिंह ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 4 ओवरों में 17 रन देकर तीन विकेट लिए। आखिरी ओवर अशोक डिंडा डालने आए और पहली 5 गेंदों पर उन्होंने सिर्फ 6 रन दिए और इंग्लैंड को आखिरी गेंद पर 3 रन बनाने थे। हालांकि इयोन मॉर्गन ने आखिरी गेंद पर छ्क्का लगाते हुए इस मैच को जीत लिया और भारत 6 विकेट से इस मैच को हार गया।

#) भारत vs इंग्लैंड (एजबेस्टन, 7 सितंबर 2014 एकमात्र टी20)

 धोनी द्वारा आखिरी ओवर में रन नहीं लेना टीम को पड़ा भारी
धोनी द्वारा आखिरी ओवर में रन नहीं लेना टीम को पड़ा भारी

7 सितंबर 2014 को भारत और इंग्लैंड के बीच एकमात्र टी20 मुकाबला एजबेस्टन में खेला गया। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए इयोन मॉर्गन के 71 रनों की पारी की बदौलत 180-7 का स्कोर खड़ा किया और भारत को जीतने के लिए 181 रनों का लक्ष्य दिया।

भारत ने विराट कोहली की 66 रनों की बेहतरीन पारी की बदौलत खुद को मैच में बनाए रखा। आखिरी ओवर में भारत को जीतने के लिए 17 रनों की दरकार थी। धोनी ने पहली चार गेंदों पर 12 रन बना लिए थे। हालांकि उन्होंने तीसरी और पांचवीं गेंद पर सिंगल नहीं लिया, जिसके बाद आखिरी गेंद पर जीतने के लिए 5 रन चाहिए थे। हर कोई धोनी से छक्के की उम्मीद कर रहा था, लेकिन धोनी सिर्फ एक रन ही ले पाए और भारत 3 रनों से इस मैच को हार गया।

#) भारत vs जिम्बाब्वे (हरारे, 18 जून 2016 पहला टी20)

 धोनी टीम को जीत दिलाने में कामयाब नहीं हुए
धोनी टीम को जीत दिलाने में कामयाब नहीं हुए

2016 में भारत के जिम्बाब्वे के दौरे पर हरारे में हुए पहले टी20 में जिम्बाब्वे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान एल्टन चिगंबुरा की 54 रनों की पारी की बदौलत 170-6 का संतोषजनक स्कोर खड़ा किया। भारत को जीतने के लिए 171 रनों का लक्ष्य दिया।

भारत का स्कोर 163-6 था और आखिरी ओवर में जीतने के लिए 8 रनों की दरकार थी। महेंद्र सिंह धोनी क्रीज पर मौजूद थे। पहली 5 गेंदों पर भारत ने 4 रन बनाए और आखिरी गेंद पर टीम को जीतने के लिए 3 रनों की दरकार थी। हालांकि धोनी सिर्फ एक रन ही बना पाए और भारत इस मैच को 2 रनों से हार गया।

#) भारत vs वेस्टइंडीज (फ्लोरिडा, 27 अगस्त 2016 पहला टी20)

महेंद्र सिंह धोनी आखिरी गेंद पर आउट हुए
महेंद्र सिंह धोनी आखिरी गेंद पर आउट हुए

फ्लोरिडा में भारत और वेस्टइंडीज के बीच 27 अगस्त 2016 को पहला टी20 खेला गया। इस मैच में वेस्टइंडीज ने पहले बल्लेबाजी करते हुए एविन लुइस की शतकीय पारी और जॉनसन चार्ल्स की 79 रनों की पारी की बदौलत 245-6 का विशाल स्कोर खड़ा किया।

रनों का पीछा करते हुए भारत ने केएल राहुल के 110* की शानदार शतकीय पारी और रोहित शर्मा के 62 रनों की बदौलत भारत ने शानदार जवाब दिया और मैच को अंतिम ओवर तक लेकर गए। आखिरी ओवर में भारत को जीतने के लिए 8 रनों की जरूरत थी। धोनी और राहुल बल्लेबाजी कर रहे थे। पहली 5 गेंदों पर 6 रन आए और लास्ट गेंद पर टीम को 2 रनों की दरकार थी। हालांकि धोनी टीम को जीत दिलाने में नाकाम रहे और वो आउट हो गए। भारत इस मैच को 1 रन से हार गया।

#) भारत vs ऑस्ट्रेलिया (विशाखापट्टनम, 24 फरवरी 2019 पहला टी20)

ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी गेंद पर जीता रोमांचक मैच

ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे पर 24 फरवरी 2019 को सीरीज का पहला टी20 मुकाबला खेला गया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए केएल राहुल की अर्धशतकीय पारी और अंत में धोनी के 37 गेंदों में 29 रनों की पारी की बदौलत 126-7 का स्कोर खड़ा किया।

लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय गेंदबाजों ने भी जबरदस्त प्रदर्शन किया और ऑस्ट्रेलिया के विकेट लगातार चटकाए। आखिरी ओवर में ऑस्ट्रेलिया को जीतने के लिए 14 रनों की दरकार थी और उनके तीन विकेट श्रेष थे। पैट कमिंस और झाई रिचर्डसन ने पहली 5 गेंदों पर 12 रन बना लिए थे और आखिरी गेंद पर उन्हें जीतने के लिए दो रनों की जरूरत थी। ऑस्ट्रेलिया ने दो रन लेते हुए भारत को 3 विकेट से हराकर आखिरी गेंद पर इस मैच को जीत लिया।

Edited by मयंक मेहता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...