Create
Notifications

पाकिस्तान के पास वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने का सुनहरा मौका है, पूर्व भारतीय क्रिकेटर का बयान

रावलपिंडी टेस्ट मैच के पिच की काफी आलोचना हुई
रावलपिंडी टेस्ट मैच के पिच की काफी आलोचना हुई
reaction-emoji
Nitesh

पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने कहा है कि इस बार पाकिस्तान के पास वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) के फाइनल में पहुंचने का सुनहरा मौका है। हालांकि आकाश चोपड़ा के मुताबिक इसके लिए पाकिस्तान को अपनी घरेलू सीरीज में रावलपिंडी की तरह सपाट पिचें बनानी बंद करनी होंगी।

पाकिस्तान की टीम इस वक्त वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के प्वॉइंट्स टेबल में श्रीलंका के साथ संयुक्त रूप से दूसरे पायदान पर है। ऑस्ट्रेलिया पहले नंबर पर मौजूद है। अपने यू-ट्यूब चैनल पर शेयर किए गए वीडियो में आकाश चोपड़ा ने पाकिस्तान के वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने की उम्मीद जताई।

पाकिस्तान अगर बेहतर पिचें तैयार करे तो उनके पास मौका है - आकाश चोपड़ा

उन्होंने कहा "पाकिस्तान इस वक्त ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में बिजी है। आपने एक मैच ड्रॉ खेला है। अगर आप सड़क जैसी सपाट पिचें बनाएंगे तो फिर दिक्कतें आएंगी। पाकिस्तान को ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड से होम सीरीज खेलनी है और अगर वो अच्छी पिचें बनाते हैं तो काफी सारे प्वॉइंट्स हासिल कर सकते हैं। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड पाकिस्तान में पाकिस्तान को नहीं हरा पाएंगे। मुझे ये भी नहीं लगता है कि ऑस्ट्रेलिया भी उन्हें हरा पाएगी। इसलिए पाकिस्तान को चांस लेना चाहिए।"

आपको बता दें कि आकाश चोपड़ा ने पिच को लेकर इसलिए सवाल उठाया है क्योंकि रावलपिंडी में ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच खेला गया पहला टेस्ट मैच किसी को भी पसंद नहीं आया। पिच की वजह से लोगों ने इसे बोरिंग मैच करार दे दिया। रावलपिंडी की पिच पांचों दिन समान रही और गेंदबाजों को इस पर काफी कड़ी मेहनत करनी पड़ी।

पाकिस्तान के ओपनर इमाम उल हक ने दोनों पारियों में बेहतरीन शतक जमाया। पहली पारी में पाकिस्तान ने 4 विकेट पर 476 रन बनाए। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने 459 रनों का स्कोर खड़ा किया। इसके बाद पाकिस्तान ने अंतिम दिन बल्लेबाजी करते हुए बिना विकेट गंवाए 252 रनों का स्कोर खड़ा किया और मुकाबला ड्रॉ हो गया।


Edited by Nitesh
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...