Create
Notifications

पूर्व खिलाड़ी ने दक्षिण अफ्रीका दौरे पर T20I सीरीज के ना होने से जताई निराशा 

भारत दौरे पर सफ़ेद गेंद के साथ वनडे सीरीज ही खेलेगा
भारत दौरे पर सफ़ेद गेंद के साथ वनडे सीरीज ही खेलेगा
Prashant Kumar

दक्षिण अफ्रीका दौरे (IND vs SA 2021-22) को लेकर भारतीय (Indian Cricket Team) समर्थकों में उत्साह है लेकिन टी20 सीरीज के ना होने से कुछ समर्थक निराश भी हैं। कुछ ऐसी ही निराशाजनक प्रतिक्रिया पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने भी दी है। चोपड़ा के मुताबिक भारत को वनडे सीरीज के बजाय टी20 सीरीज खेलनी चाहिए थी।

भारतीय टीम को पहले दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर 3 टेस्ट, 3 वनडे और 4 टी20 मैच खेलने थे लेकिन कोविड के कारण कार्यक्रम में बदलाव के बाद केवल टेस्ट और वनडे सीरीज ही खेली जायेगी तथा टी20 सीरीज को पोस्टपोन कर दिया गया।

अपने यूट्यूब चैनल पर साझा किए गए वीडियो में, आकाश चोपड़ा से पूछा गया कि क्या टी20 सीरीज को रद्द करने का निर्णय सही था, यह देखते हुए कि अगले साल ऑस्ट्रेलिया में वर्ल्ड कप खेला जाना है। इसका जवाब देते हुए चोपड़ा ने कहा,

मैं इस मामले में पूरी तरह से आपके साथ हूं कि टी20 कैंसिल नहीं करने चाहिए थे। क्योंकि तीन वनडे और तीन टी20 बराबर ही गेम थे। इसलिए आप टी20 खेल सकते थे और वनडे नहीं खेलते।
youtube-cover

चोपड़ा का मानना है कि टी20 सीरीज खेलने से भारत को फायदा होता। इसके पीछे तर्क देते हुए उन्होंने कहा,

लेकिन फिर, मुझे नहीं पता कि क्या हुआ, क्योंकि अगले साल फिर से टी20 वर्ल्ड कप है और उसके एक साल बाद वनडे वर्ल्ड कप है। इसलिए अब आप जितने अधिक टी20 खेलेंगे, उतना ही अच्छा होगा।

आकाश चोपड़ा ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका सीरीज से रोहित शर्मा की अगुवाई वाली टीम को लगातार टी20 मैच खेलने को मिलते। उन्होंने समझाते हुए कहा,

आपने न्यूजीलैंड के खिलाफ सिर्फ तीन खेले हैं, आप दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन और खेल सकते थे, फिर वेस्टइंडीज और श्रीलंका के खिलाफ। आप उस दिशा में लगातार कार्य जारी रखते, आप सफेद गेंद के दौरे के लिए इंग्लैंड भी जाएंगे।

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टी20 सीरीज अगले साल टी20 वर्ल्ड कप से पहले निर्धारित की जा सकती है। इससे दोनों पक्षों को टी20 वर्ल्ड कप की तैयारी के लिए सही प्लेटफॉर्म मिलेगा।

द्विपक्षीय वनडे सीरीज का कोई फायदा नहीं है - आकाश चोपड़ा

आकाश चोपड़ा का मानना है कि द्विपक्षीय वनडे सीरीज का कोई फायदा नहीं है लेकिन वर्ल्ड कप क्वालिफिकेशन के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा,

मेरा मानना है कि द्विपक्षीय वनडे सीरीज का कोई फायदा नहीं है। लेकिन आपको यह भी ध्यान रखना होगा कि एक सुपर लीग है, जहां आपको अंक मिलते हैं। यदि आपको अंक नहीं मिलते हैं, तो आप क्वालीफाई नहीं होंगे। मेजबान के रूप में भारत की क्वालिफिकेशन निश्चित है लेकिन अन्य टीमों को क्वालीफाई करने की जरूरत है।

Edited by Prashant Kumar

Comments

comments icon3 comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...