Create

"जब आप एक खिलाड़ी को ₹15.25 करोड़ में खरीदते हैं, तो यह कभी-कभी टीम के संतुलन को प्रभावित करता है" - दिग्गज खिलाड़ी की MI को लेकर आई प्रतिक्रिया 

इशान किशन को खरीदने के लिए मुंबई इंडियंस ने बहुत बड़ी राशि खर्च की
इशान किशन को खरीदने के लिए मुंबई इंडियंस ने बहुत बड़ी राशि खर्च की

आईपीएल 2022 (IPL 2022) के मेगा ऑक्शन में मुंबई इंडियंस (MI) ने विकेटकीपर-बल्लेबाज इशान किशन (Ishan Kishan) पर 15.25 करोड़ की राशि खर्च सभी को चौंका दिया था। सीजन में इशान का प्रदर्शन तो अच्छा रहा लेकिन टीम के रूप में मुंबई संघर्ष कर रही है। इसी वजह से टीम की ऑक्शन रणनीति पर पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा ने सवाल उठाये हैं। उनके मुताबिक इशान को खरीदने के लिए मुंबई इंडियंस ने अपने स्क्वाड की क्वालिटी कमजोर कर दी।

आईपीएल में मुंबई इंडियंस ने अभी तक दो मैच खेले हैं। इस दौरान उन्हें दोनों ही मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। पहले मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने हराया, वहीं दूसरे मैच में राजस्थान रॉयल्स ने मात दी। ऐसे में मुंबई इंडियंस के सामने आज केकेआर के खिलाफ जीत दर्ज करने का दबाव होगा।

अपने यूट्यूब चैनल पर मुकाबले का प्रीव्यू करते हुए चोपड़ा ने मुंबई की ऑक्शन रणनीति पर को लेकर कहा,

जब आईपीएल 2022 के लिए मुंबई इंडियंस टीम की बात आती है तो दो चीजें महत्वपूर्ण रूप से सामने आती हैं। पहला, जब आप एक खिलाड़ी को ₹15.25 करोड़ में खरीदते हैं, तो यह कभी-कभी टीम के संतुलन को प्रभावित करता है। दूसरा, जोफ्रा आर्चर इस सीजन के लिए टीम का हिस्सा नहीं हैं। वह अगले साल के संस्करण से उपलब्ध होंगे। जब वह टीम में शामिल होंगे, तो मुंबई की गेंदबाजी को बूस्ट मिलेगा। लेकिन सच तो यह है कि इस साल उनकी गेंदबाजी कमजोर दिख रही है।
youtube-cover

मुझे नहीं पता कि उनका तीसरा तेज गेंदबाज कौन होगा - आकाश चोपड़ा

मुंबई इंडियंस के लिए इस सीजन जसप्रीत बुमराह ही एकमात्र सफल गेंदबाज नजर आ रहे हैं। उनका साथ टायमल मिल्स ने दिया है लेकिन आकाश चोपड़ा ने उनकी निरंतरता पर सवाल उठाये हैं।

गेंदबाजी विभाग में मुंबई की समस्या को लेकर चोपड़ा ने कहा,

गेंदबाजी MI के लिए एक समस्या है। जसप्रीत बुमराह एक विश्वस्तरीय गेंदबाज हैं। उसके बाद टायमल मिल्स हैं। वह एक-दो विकेट लेते हैं लेकिन महंगे भी साबित होते हैं। अपने चार ओवरों में 35-40 रन देना उनके लिए बहुत आम बात है।

तीसरे तेज गेंदबाज की समस्या को लेकर पूर्व खिलाड़ी ने आगे कहा,

मैं वास्तव में नहीं जानता कि उनका तीसरा तेज गेंदबाज कौन होगा। बेसिल थंपी ने पहले गेम में कुछ विकेट चटकाए, लेकिन राजस्थान के खिलाफ उन्होंने मुश्किल से गेंदबाजी की। जयदेव उनादकट को लाने से भी कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा। तीसरा तेज गेंदबाज निश्चित रूप से एक मुद्दा है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment