Create
Notifications

टीम इंडिया के गेंदबाजी आक्रमण पर पूर्व क्रिकेटर ने जमकर निकाली भड़ास

आकाश चोपड़ा ने कहा कि जसप्रीत बुमराह और मोहम्‍मद शमी को अन्‍य गेंदबाजों का समर्थन नही मिला
आकाश चोपड़ा ने कहा कि जसप्रीत बुमराह और मोहम्‍मद शमी को अन्‍य गेंदबाजों का समर्थन नही मिला
Vivek Goel
visit

आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने ध्‍यान दिलाया कि भारतीय टीम (India Cricket team) तीसरे टेस्‍ट की चौथी पारी में काफी ज्‍यादा जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और मोहम्‍मद शमी (Mohammed Shami) पर निर्भर रही और अन्‍य गेंदबाजों ने निराश किया।

भारतीय टीम जोहानसबर्ग और केपटाउन टेस्‍ट में 200 या ज्‍यादा रन के लक्ष्‍य की रक्षा करने में नाकाम रही। भारतीय टीम के गेंदबाज प्रभाव बनाने में नाकाम रहे और दक्षिण अफ्रीका ने दूसरा व तीसरा टेस्‍ट सात विकेट से जीता।

आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि बुमराह और शमी को अन्‍य गेंदबाजों का साथ नहीं मिला।

आकाश चोपड़ा ने कहा, 'जब आप मैच हारे। जब चौथी पारी की बात आई तो बुमराह और शमी ने शानदार गेंदबाजी की, लेकिन उन्‍हें किसका साथ मिला? तीन अतिरिक्‍त गेंदबाज आपने खिलाए उमेश, शार्दुल और अश्विन, सपोर्टिंग कास्‍ट ने कुछ नहीं किया।'

पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने ध्‍यान दिलाया कि कोई भी गेंदबाज पहली पारी जैसा प्रदर्शन दूसरी पारी में नहीं दोहरा पाया। चोपड़ा ने कहा, 'सिर्फ दो गेंदबाजों के साथ काम नहीं हो सकता था। हमने बुमराह और शमी द्वारा एक पारी में पांच विकेट लेने को देखा। हमने देखा कि शार्दुल ठाकुर ने एक पारी में सात विकेट लिए। हमने देखा कि सिराज ने चोटिल होने से पहले अच्‍छी गेंदबाजी की। हमने उमेश को भी देखा। मगर सभी का प्रदर्शन पहली पारी में अच्‍छा था।'

बुमराह और शमी ने चौथी पारी में प्रोटियाज बल्‍लेबाजों पर जो दबाव बनाया था, वो अन्‍य गेंदबाज बरकरार नहीं रख सके। बुमराह खुद भी जोहानसबर्ग टेस्‍ट में लय से भटके हुए दिखे थे और थोड़े महंगे भी साबित हुए थे।

बुमराह-शमी के लिए हम समय विकेट लेना संभव नहीं: आकाश चोपड़ा

आकाश चोपड़ा ने कहा कि भारतीय टीम के तेज गेंदबाजी आक्रमण में संख्‍या है, लेकिन गुण की कमी है। उन्‍होंने कहा, 'पांच गेंदबाज बस नंबर है। चौथी पारी में गुण देखने को नहीं मिला। जब आप उन्‍हें नहीं देखते तो फिर बुमराह और शमी पर आ जाते हैं कि विकेट निकालो। उनके लिए हर बार विकेट निकालना संभव नहीं।'

आकाश चोपड़ा ने कहा कि प्रोटियाज गेंदबाजों ने जिम्‍मेदारी साझा की, जो कि भारतीय टीम के साथ मामला नहीं था। चोपड़ा ने कहा, 'आखिरी दिन रबाडा ने विकेट नहीं लिए तो एनगीडी वहां थे। अन्‍य समय मार्को जानसेन और डुआने ओलीवर ने रबाडा का साथ निभाया। मगर भारत के साथ ऐसा नहीं हुआ। मेरे विचार में गेंदबाजी में सपोर्टिंग कास्‍ट ने थोड़ा निराश जरूर किया है।'


Edited by Vivek Goel

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now