Create

पिछले साल चेन्नई में हुए इंडिया vs इंग्लैंड टेस्ट मैच में सीनियर क्यूरेटर पर लगा पिच से छेड़खानी का आरोप

चेन्नई टेस्ट की पिच को लेकर अहम खुलासा हुआ है
चेन्नई टेस्ट की पिच को लेकर अहम खुलासा हुआ है

पिछले साल भारत और इंग्लैंड (IND vs ENG) के बीच हुई सीरीज अंतर्गत चेन्नई में खेले गए पहले टेस्ट को लेकर हैरान करने वाला खुलासा हुआ। रिपोर्ट्स आ रही हैं कि इस मैच के लिए प्रयोग होने वाली पिच से मुख्य क्यूरेटर ने छेड़छाड़ की थी और इससे घरेलू टीम की योजना असफल हो गयी।

टाइम्स ऑफ़ इंडियन की रिपोर्ट के मुताबिक पहले टेस्ट की पिच पर टीम मैनेजमेंट ने एक दिन पहले पानी देने और रोलर का इस्तेमाल करने के लिए मना किया था। लेकिन हेड कोच रवि शास्त्री और गेंदबाजी कोच भरत अरुण के जाने के बाद क्यूरेटर ने ग्राउंड्समैन को बताया कि उन्हें एक 'उच्च अधिकारी' ने पिच को पानी देने और उसे रोल करने के लिए कहा था।

रिपोर्ट में कथित तौर पर मौजूद लोगों के हवाले से कहा गया है,

रवि शास्त्री और भरत अरुण इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट शुरू होने से एक दिन पहले 4 फरवरी की शाम को चेपॉक के चिदंबरम स्टेडियम में थे। मुख्य कोच और गेंदबाजी कोच ने क्यूरेटर और ग्राउंड्समैन से स्पष्ट रूप से कहा कि पिच जैसी है वैसी ही छोड़ दें, और पानी और रोलर का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए।
पूरी स्पष्टता के साथ बताकर वे टीम के बाकी सदस्यों के साथ स्टेडियम से निकल गए। उन्होंने (क्यूरेटर ने) पिच को सींचा, रोलर निकाला और अगली सुबह एक फ्लैट विकेट था।

सोर्स ने यह भी कहा कि इस बात की जांच होनी चाहिए कि टीम हिट के खिलाफ जाकर ऐसा करने के लिए क्यूरेटर को किसने निर्देश दिए

रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि इस मैच के बाद रवि शास्त्री और भरत अरुण काफी नाराज हुए थे और उन्होंने बीसीसीआई से क्यूरेटर को बदलने की मांग भी की थी।

हालांकि इस मामले में अभी तक आधिकारिक तौर पर कोई बयान नहीं आया है लेकिन आगे देखना दिलचस्प होगा कि इस मामले में क्या होता है।

इंग्लैंड ने भारत को हराकर चौंकाया था

चेन्नई की पिच शुरुआत तीन दिनों में बल्लेबाजी के लिए मददगार साबित हुई और इसका फायदा इंग्लैंड को मिला। उन्होंने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए जो रुट के दोहरे शतक की मदद से पहली पारी में 578 रन बनाये। जवाब में भारतीय टीम 337 रन ऑलआउट हो गयी। इसके बाद दूसरी पारी में मेहमान टीम 178 रन ही बना पाई लेकिन पहली पारी की बढ़त के आधात पर 420 रन का लक्ष्य रखा। विशाल लक्ष्य के सामने भारतीय टीम 192 रन पर ढेर हो गयी और इंग्लैंड ने 227 रन से मैच जीत लिया था।

पहले मैच में हार के बावजूद भारत ने सीरीज के अन्य तीन मैचों में शानदार खेल दिखाया और सीरीज 3-1 से अपने नाम की।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment