Create

वर्ल्ड कप का खिताब कभी नहीं जीतने वाले खिलाड़ियों की सर्वश्रेष्ठ प्लेइंग इलेवन

Enter caption

वर्ल्ड कप का 12वां संस्करण 30 मई से इंग्लैंड और वेल्स में खेला जाएगा। इस वर्ल्ड कप में विश्व की शीर्ष 10 टीमें हिस्सा ले रही हैं। यह टूर्नामेंट राउंड रॉबिन फॉर्मेट में खेला जाएगा, जिसमें सभी टीमें एक दूसरे से एक-एक मैच खेलेंगी। अंक तालिका में टॉप-4 में रहने वाली टीमें सेमीफाइनल में प्रवेश करेंगी।

साल 1975 से लेकर अब तक वर्ल्ड कप के 11 संस्करण खेले जा चुके हैं। इन 11 संस्करणों में ऑस्ट्रेलिया ने 5 बार, वेस्टइंडीज और भारत ने 2-2 बार एवं पाकिस्तान और श्रीलंका ने एक-एक बार खिताब जीत चुके हैं, जबकि दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश और न्यूजीलैंड जैसे बड़े टीम अब तक एक भी बार वर्ल्ड कप का खिताब नहीं जीत पाए हैं।

आज हम बात करने जा रहे हैं उन खिलाड़ियों की सर्वश्रेष्ठ एकादश की, जिन्होंने कभी भी वर्ल्ड कप का खिताब नहीं जीता है।

#1. सौरव गांगुली:

Enter caption

सौरव गांगुली के नेतृत्व में भारतीय टीम ने वर्ल्ड कप 2003 का वर्ल्ड कप खेला था लेकिन उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। वे 1999 से 2007 तक 3 वर्ल्ड कप टूर्नामेंटों में हिस्सा ले चुके हैं लेकिन एक भी बार खिताब नहीं जीत पाए हैं। गांगुली ने वर्ल्ड कप के 22 मैचों में हिस्सा लिया है जिसमें उन्होंने 55.80 की औसत से 1006 रन बनाए हैं। उन्होंने 1999 वर्ल्ड कप में श्रीलंका के खिलाफ 183 रनों की शानदार पारी खेली थी।

#2. गैरी कर्स्टन:

Enter caption

बाएं हाथ के दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज गैरी कर्स्टन भी उन खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्होंने कभी वर्ल्ड कप का खिताब नहीं जीता है। उन्होंने वर्ल्ड कप 1996 में यूएई के खिलाफ 159 गेंदों पर 188 रनों की यादगार पारी खेली थी। वे वर्ल्ड कप 2011 के समय भारतीय टीम के मुख्य कोच भी थे। गैरी कर्स्टन ने 21 वर्ल्ड कप मैचों में 47.41 की औसत से 806 रन बनाए हैं।

Hindi cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

#3. राहुल द्रविड़:

Enter caption

राहुल द्रविड़ ने 1999 से 2007 तक तीन बार वर्ल्ड कप खेला है लेकिन एक बार भी खिताब नहीं जीत पाए हैं। साल 1999 में वे सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे। उन्होंने वर्ल्ड कप के 22 मैचों में 61.42 की औसत से 860 रन बनाए हैं। उन्होंने साल 1999 में श्रीलंका के खिलाफ सौरव गांगुली के साथ मिलकर 318 रनों की शानदार साझेदारी भी की थी। उन्होंने इस मैच में 143 रन बनाए थे।

#4. ब्रायन लारा:

Enter caption

ब्रायन लारा के बारे में जितना कहा जाय उतना ही कम है। 5 बार वर्ल्ड कप खेलने के बावजूद भी उन्होंने कभी वर्ल्ड कप का खिताब नहीं जीता है। ब्रायन लारा ने वर्ल्ड कप के 34 मैचों में 1225 रन बनाए हैं। वे साल 1992, 1996 और 2003 में अपने टीम की ओर से सर्वश्रेष्ठ स्कोरर भी रहे हैं। वर्ल्ड कप 1996 के क्वार्टर फाइनल में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 94 गेंदों पर 111 रनों की पारी उनकी सबसे यादगार पारी रही है।

#5. जैक कैलिस:

Enter caption

जैक कैलिस को वन-डे और टेस्ट क्रिकेट में अब तक का सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर कहना अनुचित नहीं होगा। जैक कैलिस ने साल 2007 के वर्ल्ड कप में 80.83 की औसत से 485 रन बनाए थे। उनके इस प्रदर्शन की बदौलत दक्षिण अफ्रीका टीम सेमीफाइनल में पहुंची थी। उन्होंने 34 वर्ल्ड कप मैचों में 45.92 की औसत से 1148 रन बनाए हैं। इसके अलावा उन्होंने 21 विकेट भी चटकाए हैं।

#6. लांस क्लूजनर:

Enter caption

दक्षिण अफ्रीकी ऑलराउंडर लांस क्लूजनर का वर्ल्ड कप 1999 में प्रदर्शन बेहद शानदार रहा। उनकी छवि एक हार्ड हिटर बल्लेबाज के रूप में थी। उन्होंने उस टूर्नामेंट में कुल 281 रन बनाए थे जबकि मात्र 2 बार आउट हुए। इसके अलावा उन्होंने कुल 17 विकेट भी चटकाए थे। उन्होंने 14 वर्ल्ड कप में 124.0 की औसत से 372 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 121.7 का रहा है। इसके अलावा उन्होंने 22.13 की औसत से 22 विकेट भी चटकाए हैं।

#7. मार्क बाउचर:

Enter caption

दक्षिण अफ्रीकी विकेटकीपर बल्लेबाज मार्क बाउचर अपने टीम के लिए जितने ही अच्छे विकेट के पीछे प्रदर्शन करते थे उतना ही शानदार निचले क्रम में बल्लेबाजी भी करते थे। वे वनडे क्रिकेट में 425 बार (403 कैच और 22 स्टंपिंग) बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई। उन्होंने 25 वर्ल्ड कप मैचों की 19 पारियों में 27.21 की औसत से 381 रन बनाए हैं, जिसमें 2 अर्धशतक शामिल है। वर्ल्ड कप 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ उनकी 23 गेंदों पर 52 रन की पारी सबसे यादगार पारी थी।

#8. अनिल कुंबले:

Enter caption

दिग्गज भारतीय स्पिनर अनिल कुंबले भारत के सर्वश्रेष्ठ स्पिनर रहे हैं। उन्होंने वर्ल्ड कप की 18 मैचों में हिस्सा लिया है जिसमें उन्होंने 22.83 की औसत से 31 विकेट चटकाए हैं। नीदरलैंड्स के खिलाफ 4/32 की गेंदबाजी प्रदर्शन उनका सबसे यादगार वर्ल्ड कप प्रदर्शन रहा। अनिल कुंबले ने 1996 में वर्ल्ड कप डेब्यू किया था। उन्होंने उस टूर्नामेंट में 18.73 की औसत से 15 विकेट चटकाए थे।

#9. कर्टली एम्ब्रोज:

Enter caption

कर्टली एम्ब्रोज ने 1992 से लेकर 1999 तक तीन वर्ल्ड कप संस्करणों में हिस्सा लिया है। कर्टली एम्ब्रोज इस समय वेस्टइंडीज टीम के कोच हैं। उन्होंने वर्ल्ड कप की 17 मैचों में 20.79 की औसत से 24 विकेट चटकाए हैं। उन्होंने वर्ल्ड कप 1999 में स्कॉटलैंड के खिलाफ 10-4-8-2 का शानदार प्रदर्शन किया था।

#10. एलन डोनल्ड:

Enter caption

वर्ल्ड कप 1999 के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम गेंद पर रनआउट सबके ज़ेहन में आता है। जिसके बाद दक्षिण अफ्रीका का खिताब जीतने का सपना टूट गया था। उन्होंने 25 वर्ल्ड कप मैचों में कुल 37 विकेट चटकाए हैं। वर्ल्ड कप 1999 में इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने 4/17 का यादगार प्रदर्शन किया था।

#11. रिचर्ड हेडली:

Enter caption

न्यूजीलैंड के दिग्गज गेंदबाज रिचर्ड हेडली को 'स्विंग का सुल्तान' कहा जाता है। उन्होंने 13 वर्ल्ड कप मैचों में 22 विकेट लिए हैं। उन्होंने 1983 वर्ल्ड कप में श्रीलंका के खिलाफ 5/25 का यादगार प्रदर्शन किया था। रिचर्ड हेडली न्यूजीलैंड की ओर से टेस्ट क्रिकेट में 400 से अधिक विकेट लिए।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment