Create

आंद्रे रसेल ने खुद के ऊपर बायो बबल का प्रभाव होने को लेकर दी प्रतिक्रिया

निरंजन

वेस्टइंडीज (West Indies) के ऑलराउंडर आंद्रे रसेल (Andre Russell) पर बबल लाइफ ने निश्चित रूप से एक प्रभाव डाला है क्योंकि क्वारंटीन नियम और संबंधित प्रतिबंध ज्यादा क्रिकेट के साथ मजबूती से बने हुए हैं। महामारी के दौरान अंतरराष्ट्रीय और फ्रेंचाइजी क्रिकेट दोनों में यह हो रहा है। खिलाड़ी लम्बे समय तक बबल में रहते हैं और आंद्रे रसेल ने इसके लिए प्रतिक्रिया दी है।

इस कैरेबियाई खिलाड़ी का कहना है कि मुझे लगता है कि यह मेरे खुद के ऊपर एक टोल ले रहा है। मैं किसी अन्य खिलाड़ी, या कोचों या किसी के लिए भी बात नहीं कर सकता जो इस पूरे क्वारंटीन से गुजरता है। यह निश्चित रूप से मानसिक रूप से मुझ पर भारी पड़ा है क्योंकि बबल से बबल तक बंद कमरे में आप टहलने के लिए बाहर नहीं जा सकते, आप कुछ जगहों पर नहीं जा सकते, आप किसी से मिल नहीं सकते।

आंद्रे रसेल का पूरा बयान

रसेल ने यह भी कहा कि अंत में मैं आभारी हूं कि हम अभी भी खेल रहे हैं, हम अभी भी अपना काम कर रहे हैं। इसलिए यह हमारे लिए कठिन है। भले ही हमने तैयारी की है लेकिन बबल से हमें भुगतना पड़ रहा है। रसेल ने खुलासा किया कि वह होटल के कमरों तक सीमित रहते हुए भी खुद को बहुत सारे व्यायाम में व्यस्त रखते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे अपने कमरे में एक बाइक (साइकिल) या कुछ और पसंद है ताकि मैं अपनी हृदय गति बढ़ा सकूं। मैं अपने पास मौजूद जगह का उपयोग करूंगा, फर्श पर जाऊंगा, कुछ पुश-अप्स करूंगा। व्यायाम के लिए मैं अपने कमरे में सामान का उपयोग करता हूँ।

गौरतलब है कि पाकिस्तान सुपर लीग के बचे हुए मैचों के लिए टीमें यूएई के अबुधाबी में हैं और टूर्नामेंट से पहले जरूरी क्वारंटीन से गुजर रही हैं। इस साल मार्च में कोरोना वायरस के कारण टूर्नामेंट स्थगित हो गया था।


Edited by निरंजन

Comments

comments icon

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...