"आजकल लोग असली तेज गेंदबाजी के बजाय लाइन और लेंथ पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं", वेस्टइंडीज के दिग्गज एंडी रॉबर्ट्स की बड़ी प्रतिक्रिया 

एंडी रॉबर्ट्स ने अहम बातों का जिक्र किया
एंडी रॉबर्ट्स ने अहम बातों का जिक्र किया

वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज एंडी रॉबर्ट्स (Andy Roberts) ने शनिवार को अपने देश और उसके बाहर "असली" तेज गेंदबाजी में गिरावट पर अफसोस जताया। उन्होंने इसके लिए टी20 क्रिकेट को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि आज के तेज गेंदबाज तेज गेंदबाजी करने के बजाय लाइन और लेंथ पर ज्यादा ध्यान देते हैं।

रॉबर्ट्स 1970 और 80 के दशक की शुरुआत में माइकल होल्डिंग, जोएल गार्नर और कॉलिन क्रॉफ्ट के साथ विंडीज की प्रसिद्ध गति-चौकड़ी का एक अभिन्न अंग थे। वह सबसे तेज गति से गेंदबाजी करते थे, यहां तक कि 1975 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गेंदबाजी करते हुए 159.5 किमी प्रति घंटे की गति से गेंदबाजी की थी।

हालांकि वे अब वेस्टइंडीज में आज की तेज गेंदबाजी को पहले की तरह उत्साहजनक नहीं पाते हैं। एक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) द्वारा आयोजित वीडियो के लिए आयरलैंड के पूर्व कप्तान नियाल ओ 'ब्रायन से बात करते हुए, रॉबर्ट्स ने कहा,

मेरे लिए, वेस्टइंडीज में तेज गेंदबाजी उतनी उत्साहजनक नहीं है जितनी 15-20 साल पहले थी। महान खिलाड़ियों के संन्यास लेने के बाद भी हमारे पास कुछ युवा खिलाड़ी थे, जो आगे आ रहे थे। मुझे नहीं पता कि क्या यह टी20 क्रिकेट का आगमन है जो गेंदबाजों को और अधिक गति से गेंदबाजी करने की अनुमति नहीं दे रहा है। आजकल लोग वास्तविक तेज गेंदबाजी के बजाय लाइन और लेंथ पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं।

रॉबर्ट्स ने आगे कहा कि आज के युवा गेंदबाजों को गति के साथ गेंदबाजी करना, उन्हें उत्साहित करता है। उनका मानना है कि स्विंग और नियंत्रण अनुभव के साथ बाद में जोड़ा जा सकता है।

कोई भी, जो तेज दौड़ता है और गेंदबाजी करता है, वही है जो मुझे पसंद है क्योंकि आप एक अच्छे तेज गेंदबाज से एक अच्छे स्विंग गेंदबाज या एक अच्छे मध्यम तेज गेंदबाज में बदल सकते हैं। लेकिन आप मध्यम तेज गेंदबाज से तेज गेंदबाज नहीं बन सकते। ऐसा करने में बहुत कुछ लगता है।

रॉबर्ट्स की यह टिप्पणी वेस्टइंडीज में हो रहे अंडर-19 वर्ल्ड कप के दौरान आई, जहां वेस्टइंडीज की टीम क्वार्टरफाइनल में जगह बनाये ही बाहर हो गई।

रॉबर्ट्स ने वेस्टइंडीज के बाहर होने पर जताया अफ़सोस

रॉबर्ट्स ने वेस्टइंडीज के जल्दी बाहर होने पर अफ़सोस जताया तथा कहा कि टीम को जल्दी बाहर होते देखना काफी दुखद है। उन्होंने कहा,

मुझे खेल और खासकर वेस्टइंडीज क्रिकेट के लिए बहुत जुनून है। इसलिए मुझे यह देखकर बहुत दुख हुआ कि वेस्टइंडीज आईसीसी मेंस अंडर-19 विश्व कप के अंतिम चरण में हिस्सा नहीं ले रहा है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar