"आप अपने आंकड़ों से यह नहीं आंक सकते कि आपने अच्छी गेंदबाजी की या नहीं" - पंजाब किंग्स के युवा तेज गेंदबाज का बड़ा बयान 

अर्शदीप सिंह ने कम विकेट लेने के बावजूद प्रभावशाली प्रदर्शन किया
अर्शदीप सिंह ने कम विकेट लेने के बावजूद प्रभावशाली प्रदर्शन किया

पंजाब किंग्स (Punjab Kings) के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह (Arshdeep Singh) ने आईपीएल 2022 (IPL 2022) में अपने प्रदर्शन को लेकर प्रतिक्रिया दी है। युवा गेंदबाज ने कहा कि किसी की सफलता को उनके आंकड़ों के आधार नहीं आंका जाना चाहिए। इसके अलावा इस गेंदबाज ने डेथ ओवर्स में अपनी गेंदबाजी को लेकर भी कुछ अहम बातों का जिक्र किया।

पंजाब ने अर्शदीप पर भरोसा करते हुए उन्हें चार करोड़ में रिटेन किया था। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने फ्रेंचाइजी के भरोसे को सही साबित किया। उन्होंने ज्यादा विकेट तो नहीं हासिल किये लेकिन डेथ ओवर्स में उनकी गेंदबाजी बहुत ही शानदार रही। सीजन के 14 मैचों में उन्होंने 7.70 के इकॉनमी रेट से 10 विकेट अपने नाम किये।

ईएसपीएन क्रिकइंफो से बात करते हुए, अर्शदीप ने कहा कि आंकड़ों के बजाय, प्रयास और निष्पादन का स्तर सबसे अधिक मायने रखता है। उन्होंने कहा,

यह ऐसा नहीं है। आप अपने आंकड़ों से यह नहीं आंक सकते कि आपने अच्छी गेंदबाजी की या नहीं। मुख्य रूप से यह इस बारे में है कि आपका प्रयास कैसा था और यदि आपने अपना 100% दिया, और आप अपनी योजनाओं को क्रियान्वित कर सकते हैं या नहीं, क्योंकि निष्पादन आपके नियंत्रण में है, परिणाम नहीं हैं।

अर्शदीप ने काफी बेहतर तरीके से अंत के ओवरों में गेंदबाजी की और कई बड़े दिग्गज बल्लेबाजों को रन बनाने के लिए संघर्ष करने पर मजबूर किया।

स्थिति के अनुकूल होना बहुत महत्वपूर्ण है - अर्शदीप सिंह

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने बताया कि वे विपक्षी बल्लेबाजों के लिए गेंदबाजों के साथ एक मीटिंग करते थे और मैच से पहले उसकी ताकत और कमजोरी को लेकर चर्चा करते थे। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पिच के स्वाभाव को अपनाना भी बहुत जरूरी है। अर्शदीप ने कहा,

आमतौर पर आईपीएल में, गेंदबाजों की मीटिंग होती हैं जहां आप मैदान के डाइमेंशन्स और बल्लेबाजों के मजबूत और कमजोर बिंदुओं के आधार पर योजना बनाते हैं। उसके आधार पर आप तय करते हैं कि किस बल्लेबाज को क्या गेंदबाजी करनी है। लेकिन उसके बाद यह इस बात पर निर्भर करता है कि विकेट कैसा खेलेगा क्योंकि आप उसके लिए योजना नहीं बना सकते। इसलिए बीच में स्थिति के अनुकूल होना बहुत जरूरी है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar