पीसीबी ने पाकिस्तानी स्पिनर को किया सस्पेंड, अहम वजह आई सामने 

आसिफ अफरीदी ने नेशनल कप टी20 में केवल एक मैच में शिरकत की थी
आसिफ अफरीदी ने नेशनल कप टी20 में केवल एक मैच में शिरकत की थी

पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने अपने भ्रष्‍टाचार रोधी संहिता के अंतर्गत आसिफ अफरीदी (Asif Afridi) को निलंबित कर दिया है। खायबर पखतून्‍ख्‍वा (Khyber Pakhtunkhwa) के बाएं हाथ के स्पिनर पर दो उल्‍लंघन करने का जुर्माना है, जिसमें भ्रष्‍टाचार संपर्क की रिपोर्ट नहीं देना शामिल है।

आसिफ ने मौजूदा नेशनल टी20 कप के कई मुकाबले नहीं खेले और पीसीकी बी भ्रष्‍टाचार रोधी इकाई की निगरानी में चल रहे मामले के नतीजा निकालने तक वो किसी क्रिकेट संबंधित गतिविधि में हिस्‍सा नहीं ले सकते हैं।

पीसीबी ने आरोपों की जानकारी साझा नहीं की, लेकिन इस बात की पुष्टि है कि अपने संविधान के आर्टिकल 4.7.1 के तहत आसिफ को तत्‍काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। यह बोर्ड को परिस्थितियों में अपने दिमाग का उपयोग करने की अनुमति देता है। यहां चिंता होती है कि खेल की अतुल्‍नीयता को गंभीरता से कम लिया जाता है। आसिफ को अपने खिलाफ लगे आरोपों पर 14 दिनों में प्रतिक्रिया देनी होगी।

35 साल के आसिफ ने 31 अगस्‍त को नेशनल टी20 कप में केपीके के लिए रावलपिंडी में सेंट्रल पंजाब के खिलाफ एकमात्र मैच खेला था। इसके बाद से उन्‍हें प्‍लेइंग 11 में जगह नहीं मिली। एकमात्र मैच में आसिफ ने एक रन बनाया और दो विकेट लिए थे।

इस साल की शुरूआत में आसिफ को ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज के लिए पहली बार पाकिस्‍तान टीम में जगह मिली थी, लेकिन वो एक बार भी प्‍लेइंग 11 का हिस्‍सा नहीं बने। उन्‍हें पाकिस्‍तान सुपर लीग में मुल्‍तान सुल्‍तांस के लिए किए शानदार प्रदर्शन के कारण राष्‍ट्रीय टीम में जगह मिली थी। पीएसएल में आसिफ ने पांच मैचों में 8 विकेट लिए थे और उन्‍हें मोहम्‍मद नवाज की जगह शामिल किया गया था, जो चोट के कारण पीएसएल में कुछ समय खेल नहीं सके थे।

बता दें कि पिछले कुछ समय में पीसीबी के सामने भ्रष्‍टाचार के आरोपों के कई मामले आए। पीएसएल 2020 की शुरूआत से पहले उमर अकमल पर बैन लगाया गया क्‍योंकि उन्‍होंने स्‍पॉट फिक्सिंग के संपर्क करने वालों की रिपोर्ट नहीं की थी। सीएएस ने उनका प्रतिबंध 18 महीने से घटाकर 12 महीने का कर दिया था, लेकिन पीसीबी ने एक स्थिति जारी की थी कि अकमल को दोबारा तभी शामिल किया जाएगा जब वो 4.25 मिलियन पीकेआर का जुर्माना भरे और रिहैब कार्यक्रम में हिस्‍सा लें।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment